--Advertisement--

जहां बस पलटी दूसरी तरफ थी ३५० फीट गहरी खाई, ऐसे दबे थे स्कूली बच्चे

जहां बस पलटी दूसरी तरफ थी ३५० फीट गहरी खाई, ऐसे दबे थे स्कूली बच्चे

Dainik Bhaskar

Dec 18, 2017, 12:53 PM IST
खरगोन से लगभग 85 किलोमीटर दूर मह खरगोन से लगभग 85 किलोमीटर दूर मह


इंदौर। खरगोन से लगभग 85 किलोमीटर दूर महाराष्ट्र सीमा से लगे बुड़की घाट क्षेत्र में बस हादसे में 33 में से करीब 17 बच्चे अस्पताल में भर्ती हैं। वहीं एक बच्ची की गंभीर हालत को देखते हुए उसे इंदौर रैफर कर दिया गया, जहां उसका इलाज एक निजी अस्पताल में चल रहा है। हादसे में 33 स्कूली बच्चों सहित कुल 37 लोग घायल हुए हैं। हादसे के बाद प्रत्यक्षदर्शियों की जुबानी पूरी कहानी....


- सिरवेल वनक्षेत्र के 132 बच्चों की ट्रिप दो बसों में महाराष्ट्र के यावल स्थित राष्ट्रीय उद्यान पाल के अनुभूति कैंप घूमने निकली थी। बस जब महाराष्ट्र सीमा से लगे बुड़की घाट क्षेत्र पहुंची तो यहां बस असंतुलित हो गई और पलट गई। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक घाट की उतार में बस का संतुलन बिगड़ा। 150 मीटर तक ड्रायवर ब्रेक लगा पाया गियर। बस की गति 65 किमी प्रति घंटा की गति तक पहुंच गई। नियंत्रण खोते देख उसने बस को खाई के दूसरे हिस्से में घुमा दिया। वह उसी गति में पहाड़ी से टकराकर पलटी खा गई। उसमें दो बालिकाएं दब गईं। आदिवासियों ने उन्हें निकाला। पहाड़ी की दूसरी तरफ 350 फीट से ज्यादा गहरी खाई थी। बस उस ओर पलटती तो बड़े हादसे का डर था। ड्रायवर की लापरवाही मानते हुए कुछ छात्रों ने उसकी पीट दिया। सभी घायलों को जिला अस्पताल भेजा गया।

- जानकारी के मुताबिक सुबह 8.30 बजे सिरवेल वन विभाग के परिसर से 132 बच्चों को एकत्रित किया। पालक छोड़ने आए। नाश्ते के बाद दो बस में बैठाकर वनकर्मी शिक्षक रवाना हुए। एक बस बोलेरो वाहन आगे था, जबकि बस पीछे। 2005 मॉडल की 32 सीटर इस बस में 56 बच्चे थे। सिरवेल के शिक्षक जितेंद्र गौड़ ने बताया वन विभाग के अनुभूति कैंप के लिए सिरवेल क्षेत्र के 5वीं से 11वीं तक के 132 बच्चों को राष्ट्रीय उद्यान पाल घूमने के लिए ले जा रहे थे। बस में स्कूली स्टाफ वनकर्मी भी थे। घायलों के पहुंचते ही डॉक्टर बच्चों की मदद में आगे आए। सिरवेल क्षेत्र के वनरक्षक राममिलन काछी को कंधे में फ्रेक्चर है।


घायलों में ज्यादा सिरवेल के बच्चे शामिल है
राहुलदेवराज (15), छमी छतरसिंह (14), अंजली रवींद्र (14), किरण प्यारसिंह (12) मालखेड़ा, सुनीता गोरेलाल(17) कुम्हारखेड़ी, अंकित अनारसिंह (13), सुरेश अंता (18), सुभाष शिवराम गोटिया(18), प्रेमसिंह आशाराम उमरिया (15), सममिलन नवाब (15), मुकेश रमेश (16), दीपा महेंद्रसिंह (14) उमरिया, संगीता देवसिंह (14) सीता मांगीलाल (15), देवीसिंह बूटसिंह (35), रमेश दुरसिंह (12), विजय रमेशचंद्र सिरवले (16), निशा गोरेलाल (13), सविता बोबड़ा पलासकूट (16) कुंती सुखलाल सातपाटी (16), सोनाली चेनसिंह सिरवेल (12), धर्मसिंह काशीराम (13), मरूराम छगन (16), शांतिराम बुदा (14) नितेश अंतरसिंह (13), विजय तारासिंह (15 ), राकेश इला (15), अश्विन मुन्ना सिरवेल (14) राजेश कैलाश धूपा (16), शर्मिला बागसिंह (14) उमरिया, सोहेब अब्दुल गफ्फार (16), आवेश अब्दुल सत्तार (14), अब्दुल जब्बार अब्दुल सत्तार(16)।

X
खरगोन से लगभग 85 किलोमीटर दूर महखरगोन से लगभग 85 किलोमीटर दूर मह
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..