Hindi News »Madhya Pradesh News »Indore News» Year Ender Series , Unique Wedding 2017 Indore News Mp

२०१७ की १० यादगार शादियां : जब भाभी ने देवर के गले में डाली वरमाला

२०१७ की १० यादगार शादियां : जब भाभी ने देवर के गले में डाली वरमाला

Rajeev Tiwari | Last Modified - Dec 30, 2017, 03:20 PM IST

इंदौर। साल 2017 में इंदौर और आसपास के जिलों में कई ऐसी यादगार शादियां हुईं, जो समाज के लिए मिसाल बन गईं। dainikBhaskar.com ईयर एंडर सिरीज में 10 ऐसी ही शादियों के बारे में बता रहा है, जो अनूठी थीं। चाहे फिर विधवा भाभी और देवर की शादी हो या फिर थैलेसीमिया से पीड़ित बच्चों के लिए दूल्हा-दुल्हन का रक्तदान करना।



हितेष - गायत्री मैरिज...


उज्जैन जिले के नागदा में दिसंबर 2017 में एक सामाजिक बदलाव लाने वाली शादी हुई। यहां देवर हितेष ने अपनी भाभी गायत्री के मांग में सिंदूर भरकर सात फेरे लिए। यह शादी बहू को बेटी का दर्जा देने वाले ससुर राजेंद्र चौधरी ने करवाई। बड़े बेटे की एक्सीडेंट में मौत के बाद ससुर ने पहले उसे बढ़ाया और फिर अपने ही छोटे बेटे से उसकी शादी करवा दी। दूल्हे हितेष ने कहा कि मुझे पिता के इस निर्णय पर गर्व है कि उन्होंने इतना बड़ा फैसला लिया।


ससुर बोले- सदमा झेलने कैसे अकेला छोड़ देते
- गायत्री के ससुर राजेंद्र चौधरी के अनुसार जाट समुदाय में पति की मौत के 6 माह बाद तक बहू को परदे में रखने की प्रथा है। यहां तक कि विधवा बहू को खाना-पीना भी अछूत समझकर दूर से परोसा जाता है, लेकिन मैं ऐसा कैसे होने देता। जिस बहू ने परिवार के हर दु:ख-सुख में कभी हमारा साथ नहीं छोड़ा। ऐसे में उसे इतने बड़ा सदमा झेलने के लिए हम कैसे उसे अकेला छोड़ देते। बहू को घर की दहलीज से निकलने की आजादी दी। आज वह ग्रेजुएट होकर अपने पैरों पर खड़ी है। वहीं एमबीए हितेश भोपाल बैरागढ़ में इंडस लैंड बैंक में कार्यरत है। उसने कहा कि मुझे पिता के निर्णय पर गर्व है।






दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Indore

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×