--Advertisement--

घोड़े पर सवार होकर निकली दुल्हन

घोड़े पर सवार होकर निकली दुल्हन

Dainik Bhaskar

Nov 30, 2017, 10:26 AM IST
घोड़ी पर सवार होकर मंडप पर पहुं घोड़ी पर सवार होकर मंडप पर पहुं

इंदौर। खंडवा के आनंद नगर में एक शादी लोगों के आकर्षण का केंद्र बन गई। यहां दुल्हन हाथ में तलवार लेकर घोड़ी पर बैठ दूल्हे की तरह बाने के साथ मंडप में पहुंची। बाने में चल रही लड़कियों ने जमकर डांस किया, बाद में रीति रिवाज के साथ रेवा शंकर पाटीदार की बेटी पूर्वी ने शुभम श्रीमाली के साथ सात फेरे लिए।

बहुत रोचक है शुभम और पूर्वी की कहानी..

- खंडवा निवासी शुभम के पिता सनत श्रीमाली पोस्ट ऑफिस में पदस्थ हैं। DainikBhaskar.com से चर्चा में उन्होंने बताया कि इनकी शादी की कहानी बहुत रोचक है। उन्हाेंने बताया कि शुभम बैंक में क्रेडिट मैनेजर है। उनसे इंदौर में रहकर पढ़ाई की है, जबकि बहू पूर्वी इंजीनियर है।

- नौकरी लगने के बाद शुभम के रिश्ते आने शुरू हो गए। शुरुआत में शुभम ये कहकर मना कर देता था कि मैंने अभी कॅरियर की शुरुआत की है। अभी कुछ दिन रुक जाओ।

- कुछ समय तक यही चलता रहा। कुछ समय पहले उसके लिए एक अच्छा रिश्ता आया तो हमने कहा कि अब तो तुम्हारी जॉब भी सही चलने लगी है। अब शादी कर लो। इसके बाद हमने लड़की देखने पहुंच गए। वापस आकर जब हमने शुभम से हां या ना में जवाब मांगा तो उसने अपने पत्ते खोल दिए।

- उसने अपनी मां को बताया कि वह खंडवा की ही एक लड़की से प्यार करता है और शादी करना चाहता है। इस पर हमने पूर्वी के परिजनों से बात करने का फैसला किया। दोनों परिवारों ने आपस में बात कर रिश्ता पक्का कर दिया। हमारे लिए अपनी जाति नहीं बच्चों कि खुशियां ज्यादा मायने रखती थी।

- बुधवार को हमने दोनों की धूमधाम से शादी की। शादी के पहले पूर्वी के पिता ने बताया कि उनके समाज में बेटी का बाना निकालने की परंपरा है। हमने उनकी परंपरा का सम्मान करते हुए खुशी-सुशी हामी भर दी। पूर्वी शादी के पहले घोड़ी पर चढ़कर मंडप पर पहुंची।

आगे की स्लाइड्स में देखें और फोटोज...

X
घोड़ी पर सवार होकर मंडप पर पहुंघोड़ी पर सवार होकर मंडप पर पहुं
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..