--Advertisement--

Dainik Bhaskar

Nov 26, 2017, 02:07 PM IST
mp police registered case against objectionable fb post on padmavati

इंदौर । संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती की रिलीज होने की तारीख भले ही आगे बढ़ गई है लेकिन इससे जुड़े विवाद थमने का नाम नहीं ले रहें। खरगोन पुलिस ने FB पर पद्मावती से जुडी एक आपत्तिजनक पोस्ट पर नीमच के जिनेन्द्र सुराणा के खिलाफ आईटी एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया है। प्रकरण दर्ज होने के बाद सुराणा ने FB से वह पोस्ट हटा ली है। पढ़ें क्या लिखा था पोस्ट में ...

- नीमच के एक पत्रकार ने 24 नवंबर को अपनी FB वॉल पर एक पोस्ट किया था, इसमें उन्होंने लिखा था " मध्यप्रदेश में रेप करवाओ और पद्मावती अवार्ड पाओ , सरकार की नई घोषणा , (समाचार कमेन्ट बाक्स में)

इसके नीचे उन्होंने एक अखबार में छपी खबर पोस्ट की थी जिसमें इस बात का जिक्र था कि भोपाल में हुई गैंगरेप की शिकार पीडिता अपने खिलाफ हुई ज्यादती के बाद जिस साहस से इन्साफ की लड़ाई लड़ रही है उसके लिए उसे सम्मानित किया जा सकता है ।

- यह पोस्ट डलते ही लोग उसे लाइक कर उस पर कमेन्ट करने लगे, इनमें कुछ लोगों ने बेहद आपत्तिजनक कमेन्ट भी किए। मिली जानकारी के अनुसार एक ने तो रेप करने वाले को अलाउद्दीन खिलजी के नाम से सम्मानित करने के संबंध में बात लिख एक इमोजी भी पोस्ट की थी।

- खरगोन में पदस्थ डीआईजी एके पांडे ने इसके विरोध में कमेन्ट लिखा था, इसके बाद 26 नवंबर को खरगोन के कोतवाली थाने में इस पोस्ट को लेकर पुलिस ने स्वयं संज्ञान लेकर आइटी एक्ट की धारा 67, और धारा 376, 117 के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया है। टीआई एमपी वर्मा ने बताया कि यह पोस्ट रेप के लिए उकसाने वाली है इसलिए आरोपी के खिलाफ धारा 376, 117 लगाई गई है। इसके बाद सुराणा ने यह पोस्ट हटा ली है।

लाइक और कमेंट करने वालो पर भी हो सकती है कार्रवाई...

- खरगोन डीआईजी एके पांडेय ने बताया कि ये पोस्ट असंवेदनशील भी है और आपत्तिजनक भी, ये एक तरह से सम्मान पाने के लिए असम्मानित होने के लिए उकसा रही है। इस पर जिन लोगों ने आपत्तिजनक कमेन्ट भी किए है मामले की जांच के बाद उनके खिलाफ भी प्रकरण दर्ज किया जाएगा।

व्यंग्य में कही थी बात

- जिनेन्द्र सुराणा के मुताबिक़ एमपी के गृहमंत्री ने कुछ दिनों पहले गैंगरेप पीडिता को पद्मावती के नाम पर सम्मानित करने की बात कही थी इसे लेकर मैंने सोशल मीडिया पर व्यंग्य में ये बात कही थी और इसके साथ उस खबर का स्क्रीन शॉट भी लगाया था। बाद में पोस्ट हटा ली थी, प्रकरण के बारे में मुझे कोई जानकारी नहीं है।

ये कहा था मंत्री ने...

एमपी के गृहमंत्री भूपेन्द्र सिंह ने भोपाल की गैंगरेप पीड़िता को पद्मावती सम्मान देने की बात कही थी। उन्होंने कहा था कि जिस तरह से लड़की ने पूरी बात बताई, यह बहादुरी का काम है और निश्चित रूप से इसका सम्मान होना चाहिए, लेकिन इस बारे में अंतिम फैसला सीएम शिवराज सिंह ही लेंगे।

X
mp police registered case against objectionable fb post on padmavati
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..