Hindi News »Madhya Pradesh News »Indore News» Riot In Sharapur 50 Arrested By Police Mp

हाथ में नंगी तलवार लिए दौड़े हमलावर, हर जगह खून के छीटे, सड़क पर थी अंगुली

हाथ में नंगी तलवार लिए दौड़े हमलावर, हर जगह खून के छीटे, सड़क पर थी अंगुली

Rajeev Tiwari | Last Modified - Nov 06, 2017, 12:22 PM IST

इंदौर। सलसलाई में हुए उपद्रव में वीडियो के आधार पर सोमवार को 10 से ज्यादा लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया। अब तक 50 से ज्यादा उपद्रवी पुलिस गिरफ्त में हैं। हिंसा के दौरान जो नजारा देखने को मिला वह रोंगटे खड़े करने वाला था। दो समुदाय एक-दूसरे पर पत्थर और हथियारों से हमला करते रहे। उपद्रवियों ने पुलिस के सामने दुकानों और वाहनों में को आग के हवाले कर दिया। गलियों में हर जगह खून के छींटे और सड़क पर कटी अंगुली मिली। डर के मारे लोगों ने घरों के दरवाजे बंद कर लिए। पुलिस बल के पहुंचने के बाद भी दंगाइयों ने जमकर उत्पाद मचाया।
- जानकारी के मुताबिक सुरेंद्र पिता माधव अत्रे निवासी ग्वालियर की 7 बीघा जमीन को लेकर प्रकाश मेवाड़ा और फारुक खां के बीच विवाद चल रहा था। प्रकाश की मानें तो अत्रे ने उक्त जमीन उसके पिता रामचरण पटेल के नाम कर दी है। इस जमीन पर फारुक ने खरीदने का हवाला देकर काॅलोनी काटना शुरू कर दी। इसी को लेकर कहासुनी हुई थी। रविवार को प्रकाश मेवाड़ा अपनी दुकान में बैठा था, तभी फारुक पिता हाकिम खां 8-10 लोगों के साथ पहुंचा और प्रकाश पर हमला कर दिया। बीच-बचाव करने आए नारायण और बद्रीलाल भी घायल हो गए।

पत्थर, मिर्च पाउडर और नंगी तलवार लेकर हमला किया
- एक पक्ष के तीन लोगों के घायल होने की खबर फैलते ही विवाद ने सांप्रदायिक रूप ले लिया। करीब 2 घंटे तक दोनों समुदाय के लोग एक-दूसरे पर पत्थर, मिर्च पावडर, गर्म पानी फेंकते रहे और धारदार हथियारों से हमला करते रहे। विवाद में 20 से ज्यादा लोग घायल हो गए, जिन्हें सारंगपुर, शुजालपुर और शाजापुर भेजा गया। 4 गंभीर घायलों को इंदौर रैफर किया गया है। हालांकि पुलिस के मुताबिक 12 लोगों को चोटें आई हैं।



आंसू गैस के गोले दाग भीड़ को काबू किया
- स्थिति को कंट्रोल करने के लिए जिला मुख्यालय से एसपी शैलेंद्रसिंह चौहान पहुंचे। एसपी के पहुंचने के बाद पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागकर भीड़ को हटाया। कुछ देर मामला शांत होने के बाद फिर मदानो जोड़ के समीप कुछ दंगाइयों ने दो बाइक में आग लगा दी। तनाव के बाद उपजे हालात में पुलिस ने वीडियो रिकॉर्डिंग के माध्यम से आरोपियों की पहचान कर दबोचना शुरू कर दिया। 40 से ज्यादा लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया।

ट्रैक्टर, जीप व बाइकें जलाईं
प्रकाश मेवाड़ा के घायल होने की सूचना के बाद ग्राम में एक पक्ष ने जमकर तोड़फोड़ शुरू कर दी। इसमें 3 दुकानों सहित करीब 7 वाहनों में आग लगा दी गई। डिप्टी कलेक्टर कलावती ब्यारे ने अपने दल के साथ पहुंचकर नुकसान की रिपोर्ट तैयार की। रिपोर्ट के मुताबिक 3 दुकानों में 1 लाख 50 हजार रुपए का नुकसान होना बताया है। वाहनों की कीमत इसमें नहीं जोड़ी है। जलाए गए वाहनों में दो ट्रैक्टर, एक जीप, चार बाइक है।

ये हुए घायल प्रकाश मेवाड़ा, बद्री मेवाड़ा, दिलीप, आनंद, नारायणसिंह, रमेशचंद्र, दिनेश कुमार, धर्मेंद्र सिंह, मुकेश पुरी, बाबू मेवाड़ा, फारुख खां, अमीन सहित 20 से ज्यादा लोगों को चोट आई है। प्रकाश, बद्रीलाल, दिलीप कुमार और नारायण को गंभीर होने पर इंदौर रैफर कर दिया है।
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Indore

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×