--Advertisement--

बीआरटीएस पर सीवरेज लाइन : काली चट्‌टान के आगे पोकलेन का भी निकल रहा दम

बीआरटीएस पर सीवरेज लाइन : काली चट्‌टान के आगे पोकलेन का भी निकल रहा दम

Danik Bhaskar | Nov 29, 2017, 05:41 PM IST

इंदौर। बीआरटीएस पर 8 साल पहले डली सीवरेज लाइन में बड़ी खामी को सुधारने का काम जारी है। दो दिन से चल रही कवायद के बीच काली चट्‌टान को तोड़ने में पोकलेन का भी दम निकल रहा है। अफसरों के मुताबिक पूरा काम करने में अभी भी 6 दिन लगेंगे और सात दिन में ही ट्रैफिक शुरू हो पाएगा।


शिवाजी वाटिका से जीपीओ की ओर जाने वाली रोड पर बीआरटीएस निर्माण के दौरान नीरज प्रतिभा ज्वाइंट वेंचर ने सीवरेज लाइन डालने का काम किया था। राजीव गांधी प्रतिमा से निरंजनपुर तक गई इस लाइन में करीब 30 फीट के हिस्से में पाइप ही नहीं डाले गए। एक हजार एमएम व्यास के पाइप नहीं डाले जाने से पानी रिवर्स होकर चिड़ियाघर के पास नाले में चला जाता था। अब निगम ने यहां काम शुरू किया है।



जोनल अधिकारी नागेंद्र सिंह भदौरिया ने बताया कि 10 फीट की खुदाई के बाद काली चट्‌टान तोड़ने का काम चल रहा है। तीन दिन में थोड़ी सफलता मिली है। पोकलेन के ब्रेकर से यह काम कर रहे है, बावजूद दो दिन अभी और खुदाई में ही लगेंगे। इसके बाद चार पाइप डालना और उनकी लाइन को चार्ज करने के साथ ही दोबारा भराई कर सड़क बनाना होगी। पूरे काम में 7 दिन लग जाएंगे।