मप्र / पीएससी में भील जनजाति पर आपत्तिजनक सवाल के मामले में एट्रोसिटी एक्ट में केस दर्ज

पुलिस ने पीएससी के अफसरों को आरोपी बनाया है। पुलिस ने पीएससी के अफसरों को आरोपी बनाया है।
X
पुलिस ने पीएससी के अफसरों को आरोपी बनाया है।पुलिस ने पीएससी के अफसरों को आरोपी बनाया है।

  • पुलिस पीएससी से पूछेगी जिम्मेदार अफसरों के नाम

Dainik Bhaskar

Jan 16, 2020, 07:53 AM IST

इंदौर . मप्र लोकसेवा आयोग की राज्य सेवा प्रारंभिक परीक्षा में भील जनजाति को लेकर पूछे गए आपत्तिजनक सवाल पर अजाक थाना पुलिस ने एट्रोसिटी एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया है। इसमें पुलिस ने पीएससी के अफसरों को आरोपी बनाया है। जांच के बाद आरोपी अफसरों के नाम तय होंगे।  


इस मामले में जय आदिवासी युवा संगठन (जयस) ने शिकायत की थी। बुधवार को इसी शिकायत पर एसपी हेड क्वार्टर सूरज वर्मा, एजेके एसपी व डीएसपी की टीम ने जांच के बाद अनुसूचित जाति, जनजाति (नृशंसता निवारण) अधिनियम 1989 (संशोधन 2015) की धारा 3(1) (द) और 3 (1) (यू) में केस दर्ज किया। डीआईजी रुचिवर्धन मिश्र ने बताया, जल्द ही धारा 91 के तहत नोटिस जारी कर पीएससी से पूछेंगे कि गद्यांश में जो पांच सवाल पूछे गए थे, उसके लिए कौन-कौन अफसर जिम्मेदार हैं। उनसे दस्तावेज लेने के बाद आरोपी तय करेंगे और फिर दोषियों पर कार्रवाई होगी।

गौरतलब है कि इस मामले में भारी हंगामा मचने के बाद मुख्यमंत्री जांच के आदेश दे चुके हैं, जबकि पीएससी ने पेपर सेटर और मॉडरेटर को नोटिस दिया है। हाल ही में गृह मंत्री बाला बच्चन ने भी कहा था कि दोषियों पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी। इस मामले में जयस और भाजपा सरकार को लगातार घेर रही है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना