इंदौर / लापरवाही के कारण आंखें गंवा चुका एक और मरीज सामने आया, ऑपरेशन के अगले दिन से ही दिखना हो गया था बंद



Case of 11 patients lost eyesight after operation at Indore Eye Hospital
X
Case of 11 patients lost eyesight after operation at Indore Eye Hospital

  • मामले को दबाने के लिए अस्पताल ने मरीज के पैसे लौटा दिए थे
  • मंगलवार सुबह चोइथराम अस्पताल में किया गया भार्ती, निकाली जाएंगी आंख

Dainik Bhaskar

Aug 20, 2019, 02:15 PM IST

इंदौर. इंदौर नेत्र चिकित्सालय में 11 मोतियाबिंद ऑपेरशन फेल होने का मामला अभी ठंडा भी नहीं हुआ कि मंगलवार को एक नया मरीज सामने आया। इस मरीज का ऑपेरशन 5 अगस्त को हुआ था। ऑपरेशन के अगले दिन से ही मरीज को दिखाई देना बंद हो गया था। इस मरीज को मंगलवार सुबह चोइथराम नेत्रालय में भर्ती किया गया है।

 

डॉक्टरों के अनुसार इस मरीज की भी आंख निकालना पड़ सकती है। नेत्रालय के मैनेजिंग ट्रस्टी डॉ. अश्विनी वर्मा ने बताया कि फिलहाल मरीज की जांच चल रही है। उधर इस मामले की जानकारी मिलते ही स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट चोइथराम नेत्रालय पहुंचे।


जानकारी के अनुसार मिश्रीलाल नाम के इस मरीज ने 5 अगस्त को इंदौर नेत्र चिकित्सालय में ऑपेरशन करवाया था। ऑपरेशन के लिए बाकायदा 20 हजार 500 रुपए का शुल्क भी दिया गया था। मिश्रीलाल ने बताया कि 6 अगस्त को आंख की पट्टी खुली और दिखना बंद हो गया। डॉक्टर साहब ने पैसा वापस कर दिया लेकिन मुझे दिखाई देना बंद हो गया। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना