--Advertisement--

बच्चों ने बनाए मिट्‌टी के गणेश, जाने इनके फायदे

गणेशोत्सव की शुरुआत गुरुवार इसी कड़ी में दैनिक भास्कर की टीम ने आईपीएस ईस्टर्न कैम्पस, प्रेस्टीज पब्लिक स्कूल,...

Dainik Bhaskar

Sep 13, 2018, 03:11 AM IST
Indore - बच्चों ने बनाए मिट्‌टी के गणेश, जाने इनके फायदे
गणेशोत्सव की शुरुआत गुरुवार इसी कड़ी में दैनिक भास्कर की टीम ने आईपीएस ईस्टर्न कैम्पस, प्रेस्टीज पब्लिक स्कूल, इंटरनेशनल स्कूल ऑफ बॉम्बे, दिल्ली पब्लिक स्कूल, एडवांस्ड एकेडमी निपानिया, द एडवांस्ड स्कूल आनंद बाजार और न्यू ग्रीन पब्लिक एकेडमी में छात्र-छात्राओं को मिट्टी की गणेश प्रतिमा बनाने का प्रशिक्षण दिया। कई बच्चों ने इस वर्कशाॅप में अपने हाथों से प्रतिमाओं को आकार दिया, तो उनकी प्रसन्नता देखते ही बन रही थी।

दैनिक भास्कर की टीम ने इन स्कूलों में सबसे पहले बाजारों में बिकने वाली प्लास्टर आॅफ पेरिस से बनने वाली गणेश प्रतिमाओं से पर्यावरण को होने वाले नुकसान के बारे में बताया। बच्चों को बताया कि जब यह प्रतिमाएं तालाब या अन्य जलाशयों में विसर्जित की जाती हैं, तो यह पूरी तरह से घुलती नहीं हैं। इससे निकलने वाले घोल व रासायनिक रंगों से पानी तो प्रदूषित होता है। वहीं पानी में रहने वाले जीव-जन्तुओं के लिए भी यह घातक होता है। उन्हें बताया मिट्टी की गणेश प्रतिमाएं पानी में जल्द घुल जाती है। मिट्टी से पानी प्रदूषित भी नहीं होता है।

45 बच्चों ने सीखा मिट्टी के गणेश बनाना

एमआईजी कॉलोनी में कार्यशाला का आयोजन किया गया। इसमें रश्मि पांडे व मीमांशा पांडे द्वारा बच्चों को मिट्टी के गणेश बनाना सिखाया गया। साथ ही बच्चों को मिट्टी के गणेश बनाने के फायदे भी बताए गए। कार्यशाला में शामिल सभी 45 बच्चों को बनाए गई गई प्रतिमाएं दी गईं, जिन्हें वे खुशी व उत्साह के साथ घर ले गए।

आईपीएस ईस्टर्न कैम्पस में बच्चों ने सीखा प्रतिमा बनाना।

बेस्ट ईको फ्रेंडली गणेश पंडाल अवॉर्ड के लिए नामांकन शुरू

दैनिक भास्कर पिछले कुछ वर्षों से ‘मिट्‌टी के गणेश’ अभियान चला रहा है। उद्देश्य सिर्फ यही है कि हम पूरी श्रद्धा, उल्लास, उत्साह और धूमधाम से गणेशोत्सव मनाएं, लेकिन पीओपी से निर्मित प्रतिमाओं के बजाय मिट्‌टी से बने गणेशजी की स्थापना करें। अभियान के अंतर्गत इस वर्ष दैनिक भास्कर की ओर से बेस्ट ईको फ्रेंडली गणेश पंडाल अवॉर्ड भी शुरू किया जा रहा है। शहर में ईको फ्रेंडली पंडाल लगाने वाली समितियों/समूहों को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से आयोजित किए जा रहे इन अवॉर्ड्स के लिए नामांकन प्रारंभ हो चुके हैं। नामांकन प्राप्त होने के बाद अवॉर्ड की जूरी गणेशोत्सव के दौरान पंडालों पर विजिट करेगी। उसके बाद जूरी द्वारा चयनित शहर के तीन बेस्ट ईको फ्रेंडली गणेश पंडाल को अवॉर्ड दिया जाएगा। अपना नामांकन भेजने के लिए संपर्क करें 9039090096 पर।

X
Indore - बच्चों ने बनाए मिट्‌टी के गणेश, जाने इनके फायदे
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..