अयोध्या फैसला / रातभर भी शांत रहा शहर, हर समुदाय के लोगों ने पेश की सौहार्द की मिसाल



X

  • अयोध्या फैसले के बाद कुछ स्थानों पर शरारती तत्वों ने हंगामें की सूचना पर पुलिस पहुंची
  • मुसलिम बहुल इलाकों में ईद के त्योहार को लेकर भी पुख्ता सुरक्षा इंतजाम

Dainik Bhaskar

Nov 10, 2019, 04:05 PM IST

इंदौर. अयोध्या फैसले को लेकर शनिवार रात भी पूरा शहर शांत रहा। हर वर्ग विशेष के लोगों ने अपने सौहार्द का परिचय देते हुए किसी भी प्रकार की कोई ऐसी हरकत नहीं की जिससे शहर शर्मसार हो। वहीं मुसलिम बहुल इलाकों में ईद के त्योहार को लेकर भी पुख्ता सुरक्षा इंतजाम रखे गए थे। कुछ एक स्थानों पर शरारती तत्वों ने हंगामे की सूचना मिली लेकिन पुलिस ने तत्काल पहुंचकर समझाइश देकर सभी को घर लौटा दिया। वहीं रविवार को भी राजबाड़ा नो-व्हीकल जोन घोषित रहा। 


एसएसपी रुचि वर्धन मिश्र ने बताया कि अयोध्या फैसले को लेकर शहर में कहीं कोई छोटी या बड़ी घटना नहीं हुई है। आम जनता में किसी भी तरह का कोई खौफ भी नहीं है। सभी समुदाय के लोग अपस में भाईचारे के साथ सामान्य हैं और अपने दैनिक कामों जुटे हैं। धारा 144 के चलते कई समुदाय के लोगों ने समझदारी का परिचय देते हुए अपने धार्मिक कार्यक्रमों के जुलूस तक नहीं निकाले और खुद पुलिस को आवेदन देकर व्यवस्था में सहयोग किया है। इधर सुरक्षा के लिहाज से शहर में तैनात 5 हजार से ज्यादा पुलिस अधिकारी व कर्मचारी दो दिनों से ठीक से सो भी नहीं सके हैं। 24 घंटे से ज्यादा ड्यूटी करने के बाद शहर में सभी की मदद से पुरी तरह से माहौल भी सुरक्षित है। सोमवार को राजबाड़ा को नो-व्हीकल जोन घोषित किए जाने पर रविवार रात निर्णय होगा। फिलहाल रविवार को भी राजबाड़ा पर कोई वाहनों को इंट्री नहीं दी गई। 


पलासिया के नवनीत टॉवर में हंगामे पर पहुंचा बल
इधर, शनिवार देर रात पलासिया के नवनीत टाॅवर में लगने वाली चौपाटी के क्षेत्र में कुछ विवाद होने की सूचना पर देर रात भारी पुलिस बल पहुंचा। यहां रात में खुली दुकानों को पलासिया थाने के एस आई माधव सिंह भदौरिया ने तत्काल बिल्डिंग की घेराबंदी कर बंद करवाया और यहां झुंड बनाकर खड़े युवाओं को घर भेजा। एसआई भदौरिया ने बताया कि सुरक्षा के लिहाज से देर रात तक दुकानें खुली रखने वाले व्यापारियों को सख्त हिदायत देकर दुकानें बंद करवाई गई थी। नवनीत टावर में शरारती तत्वों के इकट्ठा होने की सूचना पर भारी बल के साथ वे पहुंचे थे लेकिन वहां युवाओं का झुंड था जो पुलिस की समझाइश को मानकर घर लौट गए। 


खजराना से देर रात हटाया बल
इधर खजराना, आजाद नगर, चंदन नगर, बंबई बाजार और सदर बाजार जैसे संवेदनशील इलाकों में तैनात अधिकारी व स्पेशल फोर्स के जवानों को रात भर जागरण कर अलर्ट रहने के निर्देश थे। लेकिन इस सभी इलाकों में हिंदू-मुसलिम समुदाय के लोगों ने किसी भी तरह का कोई गलत माहौल नहीं बनने दिया। सभी क्षेत्र शांत रहे। खजराना में तो मुसलिम बहुल इलाके में लगे फोर्स को वहां के लोगों ने खुद हटने के लिए निवेदन किया। इस पर अधिकारियों ने भी उनकी बात रखते हुए कुछ प्रमुख स्थानों पर घंटों से तैनात जवानों को हटाकर रिलेक्स होने दिया।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना