--Advertisement--

कांग्रेस का भारत बंद : उज्जैन में झड़प के बीच एक युवक घायल, मनासा में धारा 144 का उल्लंघन करने पर 15 से ज्यादा कांग्रेसी हिरासत में

मप्र सरकार पर वैट में कमी करने का दबाव, इंदौर में आज पेट्रोल 86.55 और डीजल 76.83 बिक रहा है।

Danik Bhaskar | Sep 10, 2018, 03:27 PM IST
बंद के दौरान राजवाड़ा पर प्रदर्शन किया गया। बंद के दौरान राजवाड़ा पर प्रदर्शन किया गया।

इंदौर. तेल कीमतों में लगातार वृद्धि को लेकर सोमवार को कांग्रेस सड़क पर उतर आई है। कांग्रेस के आह्वान पर सुबह 9 से दोपहर 3 बजे तक बंद बाजार बंद रहे। सुबह कांग्रेस के कार्यकर्ता रैली के रूप में सड़कों पर निकले और दुकानों को बंद करवाया। उज्जैन में पेट्रोल पंप बंद करवाने के दौरान विवाद की स्थिति निर्मित हो गई। विवाद में पुलिस और कांग्रेसी कार्यकर्ताओं के बीच झड़प में एक युवक घायल हो गया है। वहीं, नीमच के मनासा में रैली के रूप दुकान बंद करवा रहे 15 से ज्यादा कांग्रेसियों को पुलिस ने धारा 44 का उल्लंघन करने पर हिरासत में लिया। कांग्रेस के इस बंद का मालवा-निमाड़ में व्यापक असर देखने को मिला।

इंदौर में मुकम्मल बंद

इंदौर में सुबह से ही बंद को लेकर कांग्रेसी कार्यकर्ता सड़कों पर उतर आए। क्षेत्र में घूम-घूम कर वे दुकानें और पेट्रोल पंप बंद करवाते नजर आए। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने शराब दुकानों को भी बंद करवाया। बंद के दौरान सीबीएसई स्कूलों के साथ ही अन्य स्कूल और कॉलेज की भी छुट्टी कर दी गई। राजबाड़ा, सियागंज, दवा बाजार, खजूरी बाजार सहित सभी बड़े बाजार बंद हैं। बंद को देखते हुए डीएवीवी ने 10 से अधिक परीक्षाएं आगे बढ़ा दी।

दुकानों के बाहर बैठकर चर्चा करते रहे व्यापारी

बंद के दौरान कपड़ा मार्केट, खजूरी बाजार, बर्तन बाजार, सराफा, सियागंज सहित अन्य बाजारों के व्यापारी अपनी दुकान बंद कर उसके सामने बैठकर चर्चा करते दिखाई दिए। dainikbhaskar.com ने कुछ व्यापारियों से बंद को लेकर चर्चा की। कपड़ा बाजार में बंद दुकान के सामने बैठे 7-8 व्यापारियों के समूह का कहना है कि उन्होंने किसी राजनैतिक पार्टी के कारण बंद को समर्थन नहीं दिया है] बल्कि महंगाई से परेशान होकर वे बंद के समर्थन में हैं।

5 फीसदी वैट और कम करें मप्र सरकार

व्यापारियों का कहना है कि केन्द्र सरकार भले ही पेट्रोल-डीजल पर लगने वाले उत्पादन कर को कम नहीं कर रही है, लेकिन राज्य सरकार तो वैट को कम कर सकती है ना। पेट्रोल की बढ़ती कीमतों से परेशान व्यापारियों का कहना है कि मप्र सरकार ने पिछले साल वैट में मामूली कमी की थी, लेकिन उसके बाद पेट्रोल की कीमताें में प्रति लीटर लगभग 12 रुपए की तेजी आ चुकी है। मप्र में पेट्रोल पर 28 और डीजल पर 22 फीसदी वैट वसूला जा रहा है, इसके अलावा पेट्रोल पर प्रति लीटर 4 रुपए अतिरिक्त कर भी मप्र सरकार वसूल रही है। वहीं दूसरी ओर मप्र के वित्त मंत्री जयंत मलैया ने पेट्राेल-डीजल पर लगने वाले वैट में कमी करने से इंकार कर दिया है। मलैया का कहना है कि 14 अक्टूबर 2017 को ही हमने पेट्रोल पर 3 और डीजल पर 5% वैट घटा दिया था। डीजल पर लग रहे डेढ़ रुपए के अतिरिक्त कर को भी खत्म किया था। इससे 2000 करोड़ रेवेन्यू कम मिला। फिर भी 29 सितंबर को जीएसटी काउंसिल की मीटिंग है। इसमें केंद्र सरकार से बात करेंगे। राजस्थान सरकार द्वारा पेट्रोल-डीजल पर लगने वाले वैट की दर में 4 फीसदी की कमी की है इसके चलते मप्र में भी वैट में कमी किए जाने की मांग जोर पकड़ती जा रही है।

सड़क पर उतरें कांग्रेसी

बंद के समर्थन के लिए कांग्रेसी, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के अलावा अन्य दलों के कार्यकर्ता सोमवार सुबह से ही सड़कों पर उतर आए। अपने-अपने क्षेत्रों में जत्थों में निकले कांग्रेसियों ने दुकानदारों से बंद का समर्थन मांगा। भंवरकुंआ क्षेत्र में प्रदेश कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष जीतू पटवारी हाथ जोड़कर बंद का समर्थन मांगते दिखाई दिए। वहीं राजवाड़ा पर कांग्रेसियों व मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। बंद के समर्थन में समर्थकों के साथ वाहन पर घूम रहे कांग्रेसी अशोक जायसवाल राजमाेहल्ला में वाहन से गिरकर घायल हो गए, उन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

मोदी के चित्र पर कालिख पोतने से महू में बवाल
बंद के दौरान महू में कांग्रेसियों द्वारा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के चित्र पर कालिख पोत दी गई। इस दौरान पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को लाठी भांजकर खदेड़ दिया। हालांकि मोदी के चित्र पर कालिख पोतने के विरोध में भाजपाई भी मैदान में आ गए और उन्होंने थाने का घेराव कर आरापियों पर एफआईआर दर्ज करने की मांग की।

इंदौर में इन संस्थानों ने किया बंद का समर्थन

इंदौर में सोमवार को पेट्रोल 86.55 और डीजल 76.83 बिक रहा है। 1 से 8 सितंबर के दौरान पेट्रोल 2.02 रु., डीजल 2.53 रु. प्रति लीटर महंगा हुआ है। बंद को अहिल्या चेंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज, सराफा बाजार, कपड़ा बाजार, मारोठिया बाजार, सीतलामाता, खजूरी बाजार, जवाहर मार्ग, दवा बाजार, 56 दुकान, पेट्रोल पंप एसोसिएशन, इंदौर प्राइवेट कॉलेज, ट्रक चालक एसोसिएशन, अनाज मंडी, मालवा मिल मंडी आदि ने समर्थन दिया है। पेट्रोल पंप भी सुबह 9 से दोपहर 12 बजे तक बंद रहेंगे। बच्चों की सुरक्षा की दृष्टि से सभी सीबीएसई स्कूलों में सोमवार को अवकाश घोषित किया गया है। हालांकि मप्र शासन ने छुट्टी घोषित नहीं की है। सरकारी कार्यालय, दफ्तर के साथ ही सरकारी स्कूल भी खुले हैं।


सीबीएसई स्कूलों में भी छुट्‌टी

बार-बार के आंदोलनों के चलते स्कूलों में हो रही छुट्टी से पढ़ाई का काफी नुकसान हो रहा है। ऐसे में शहर के एक निजी स्कूल ने अच्छी पहल की है। स्कीम 78 स्थित सिका स्कूल और उसकी दो अन्य शाखाओं में रविवार को कक्षाएं लगाई गईं, ताकि कोर्स पूरा करवाया जा सके। प्राचार्य एसएल गौरेया का कहना है बार-बार आंदोलनों के कारण छुट्टी करना पड़ती है। ऐसे में कोर्स पूरा नहीं हो पा रहा है। इसलिए रविवार को कक्षाएं लगाने का फैसला लिया।

इस सत्र में 4 दिन अनअपेक्षित छुट्‌टी

23 जून : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इंदौर आगमन की वजह से।
17 अगस्त : पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेई के निधन पर।
6 सितंबर : सवर्ण आंदोलन।
10 सितंबर : महंगे पेट्रोल-डीजल को लेकर बंद रहेंगे स्कूल।

उज्जैन में बनी विवाद की स्थिति

पेट्रोल-डीजल की लगातार मूल्य वृद्धि के विरोध में कांग्रेस के समर्थन में उज्जैन का ज्यादातर हिस्सा बंद है। बंद को खुले रूप से समर्थन देने के लिए कोई भी व्यापारिक संगठन सामने नहीं आया है। हालांकि सुरक्षा के मद्देनजर पटनी बाजार, छोटा सराफा, लखेरवाड़ी, नईसड़क, फव्वारा चौक, दौलतगंज, मालीपुरा, फ्रीगंज बाजार एवं कृषि उपज मंडी बंद हैं। बच्चों की सुरक्षा की दृष्टि से मिशनरी स्कूलों में अवकाश घोषित कर दिया गया है। सुबह कांग्रेसी सड़क पर रैली के रूप में निकले और खुली दुकानें और पेट्रोल पंप बंद करवाने की कोशिश की, जिसे लेकर कुछ पेट्रोल पंप संचालकों और कार्यकर्ताओं के बीच विवाद की स्थिति बन गई। कांग्रेसियों ने यहां पेट्रोल का नोजल छीनने की कोशिश की, जिसके बाद पुलिस और कार्यकर्ताओं के बीच झड़प में एक युवक घायल हो गया।

नीमच में कांग्रेसी हिरासत में

मंदसौर और नीमच, रतलाम और धार, झाबुआ में भी ज्यादातर दुकानें बंद हैं। सुरक्षा की दृष्टि से बस संचालकों ने बसों का संचालन आधे दिन के लिए स्थगित कर दिया है। नीमच के मनासा में रैली के रूप घूम-घूमकर दुकानें बंद करवा रहे 15 से ज्यादा कांग्रेसियों को पुलिस ने सभी धारा 144 का उल्लंघन करने पर हिरासत में लिया है। वे बिना अनुमति के भीड़ के रूप में शहर में घूम रहे थे। वहीं मंदसौर के गरोठ में बसें बंद होने से यात्री बस स्टैंड पर परेशान होते रहे। पिपलियामंडी दुकानें खुली देख कांग्रेसियों ने गुलाब का फूल देकर बंद के समर्थन का आह्वान किया। रतलाम में भी कांग्रेसियों ने नगर में घूमकर बंद के लिए समर्थन मांगा।

दुकानें बंद करवाते बंद समर्थक। दुकानें बंद करवाते बंद समर्थक।
बंद के दौरान राजवाड़ा पर प्रदर्शन किया गया। बंद के दौरान राजवाड़ा पर प्रदर्शन किया गया।
सोमवार को इंदौर में बंद रहा कपड़ा बाजार। सोमवार को इंदौर में बंद रहा कपड़ा बाजार।
बंद के दौरान राजवाड़ा पर प्रदर्शन किया गया। बंद के दौरान राजवाड़ा पर प्रदर्शन किया गया।