दुखद / एक ही चिता पर पिता, बेटा और बेटी का दाह संस्कार, आकाशीय बिजली गिरने से हुई थी मौत



फाइल फोटो फाइल फोटो
X
फाइल फोटोफाइल फोटो

  • हादसा मंगलवार को इंदौर के पास हातोद में हुआ था, बुधवार को हुआ अंतिम संस्कार
  • अस्पताल में भर्ती मां की हालत गंभीर

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2019, 03:11 PM IST

इंदौर. मंगलवार को हातोद के पास आकाशीय बिजली गिरने से एक ही परिवार के तीन लोगों की मौत हो गई थी। मरने वालों में पिता और दो बच्चे शामिल थे। बुधवार को गांव डांसरी गांव से तीनों की अर्थियां उठी, तीनों का अंतिम संस्कार एक ही चिता पर किया गया।

 

हातोद पुलिस के अनुसार मंगलवार को डांसरी गांव के रहने वाले कोटवार सौदान ढोली (42), बेटी मुस्कान (13), बेटे निरंजन (12) और पत्नी अनिता सिंह (35) के साथ बारिश से बचने के लिए दोपहर में आम के पेड़ के नीचे खड़े थे, तभी उन पर बिजली गिर गई। बच्चे कई फीट दूर जाकर गिरे थे।

 

अनिता बेहोशी की हालत में मिली थी। अनिता को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती किया गया है जहां उनकी हालत गंभीर बनी हुई है। अनिता को अभी यह नहीं बताया गया है कि हादसे में उसका पति व दोनों बच्चे अपनी जान गंवा चुके है।

 

वहीं, बुधवार को गांव डांसरी गांव से सौदान और उसके दाेनों बच्चों की अर्थियां उठी। तीनों की अर्थियां तो अलग-अलग उठी लेकिन तीनों का अंतिम संस्कार एक ही चिता पर किया गया।


बूढ़े मां-बाप की देखभाल अब कौन करेगा
हादसे की खबर के बाद से ही सौदान के गांव में माहौल गमगीन है। गांव के सरपंच नरायणसिंह ने बताया कि सौदान के साथ उसकी बूढ़ी मां जैमलीबाई, पिता पूनाजी और बड़ी बेटी रहती थी। सौदानसिंह गांव का चौकीदार था, जिसे सरकार की तरफ से 8 बीघा जमीन दान में मिली थी जिस पर खेती करके सौदान अपने परिवार का पालन-पोषण करता था। सौदान की मौत के बाद गांव में यह चर्चा है कि उसके बूढ़े माता-पिता, बहन और पत्नी की देखरेख अब कौन करेगा। हालांकि सौदानसिंह के तीन भाई भी हैं लेकिन वे परिवार से अलग रहते है। उधर प्रशासन ने मृतकों के परिवार को चार-चार लाख रुपए मुआवजा देने का आश्वासन दिया है। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना