Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» Crime Branch Arrested Three Accused Of Robbery

लूट की वारदात को अंजाम देने वाले तीन आरोपी गिरफ्तार, आरोपियों के पास से बड़ी मात्रा में मोबाइल और कीमती सामान मिला

क्राइम ब्रांच और भंवरकुआं पुलिस की संयुक्त कार्रवाई, आरोपी ट्रक चालकों को बनाते थे निशाना

dainikbhaskar.com | Last Modified - Aug 11, 2018, 05:31 PM IST

लूट की वारदात को अंजाम देने वाले तीन आरोपी गिरफ्तार, आरोपियों के पास से बड़ी मात्रा में मोबाइल और कीमती सामान मिला

इंदौर.क्राइम ब्रांच और भंवरकुआं पुलिस ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए शहर में लगातार हो रही लूट की वारदात को अंजाम देने वाली गैंग के तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के पास से पुलिस को बड़ी मात्रा में मोबाइल और कीमती सामान मिला है। मुख्य सरगना हत्या के आरोप में जेल में बंद है। गैंग लिंक रोड व बायपास के साथ ही सीमावर्ती जिलों में एक दर्जन से ज्यादा वारदातों को अंजाम दे चुकी है। पूछताछ में उन्होंने नशे की लत के चलते ऐसा करना बताया है।

डीआईजी हरिनारायणाचारी मिश्र ने शनिवार को प्रेस काॅन्फ्रेंस के जरिए शहर में हो रही लूट की वारदातों का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि मुखबीर ने लूट के संदेहियों के बारे में पुलिस का सूचना दी थी। सूचना के बाद पुलिस ने शाकिब हसन निवासी न्यू फ्रेंड काॅलोनी नूरानी नगर और वसीम गौरी निवासी शालीमार पैलेस चंदन नगर को हिरासत में लेकर पूछताछ की। दोनों ने पुलिस को बताया कि 5 अगस्त को उन्होंने ट्रांसपोर्ट नगर में एक ट्रक ड्राइवर पर चाकू से हमलाकर उसका मोबाइल और नकदी लेकर फरार हो गए थे। उसी दिन उन्होंने ट्रांसपोर्ट नगर में एक राहगीर को चाकू दिखाकर उससे नकदी और मोबाइल छीन लिया था। उन्होंने बताया कि 6 अगस्त को उन्होंने अपने तीसरे साथी इरशाद खां निवासी सिरपुर रानी पैलेस के साथ मिलकर आईटी पार्क के पास एक ट्रक ड्राइवर से 5 हजार रुपए लूट लिए थे।

मुख्य सरगना जेल में: पुलिस ने अारोपी इरशाद को गिरफ्तार कर पूछताछ की तो उसने अपने साथी जफर पठान निवासी नूरानी नगर के साथ मिलकर खजराना क्षेत्र में एक मकान में चोरी करना कबूला। जफर की तलाश करने पर पता चला कि वह गैंग का सरगना है और वर्तमान में हत्या के अारोप में जेल में बंद है। पुलिस ने अारोपियों के पास से बड़ी मात्रा में मोबाइल सहित कीमती सामान जब्त किया है।

10वीं तक पढ़ा है वसीम: पूछताछ में वसीम ने बताया कि वह 10वीं तक पढ़ा है और क्रेन मशीन में काम करता है। उसने जफर के साथ मिलकर चोरी, नकबजनी और छीनाझपटी जैसे दर्जनों वारदातों को अंजाम देना कबूला है। उसने बताया कि वह नशे का आदी है और ट्रक चालकों को अपना निशाना बनाता था। वह ड्राइवरों को बिल्टी या बिल चोरी का आरोपी लगाते हुए नीचे उतारता था और फिर चाकू की नोक पर उन्हें लूटता था। जफर के जेल जाने के बाद इरशाद उनकी गैंग में शामिल हुआ था।

आरोपी शाबिक ने बताया कि वह 5वीं तक पढ़ा है और एसी सुधारने का काम करता है। उसने बताया कि जफर के जेल जाने के बाद वसीम के साथ मिलकर वह गैंग को चला रहा था। उसने दर्जनभर से ज्यादा वरदातों को अंजाम दिया है।

आरोपी इरशाद ने बताया कि वह 9वीं तक पढ़ा है और प्रिटिंग प्रेस में काम करता है। उसने बीते दिनों भंवरकुआं और तेजाजी नगर में लूट की कई वारदातों को अंजाम दिया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×