--Advertisement--

सांप / छल्ले देख ग्रामीण अजगर समझे, एक्सपर्ट ने बताया- यह खतरनाक रसेल वाइपर है, पकड़कर जंगल में छोड़ा



सांप की पीठ पर बने इन छल्लों को देख ग्रामीण इसे अजगर समझ बैठे। सांप की पीठ पर बने इन छल्लों को देख ग्रामीण इसे अजगर समझ बैठे।
X
सांप की पीठ पर बने इन छल्लों को देख ग्रामीण इसे अजगर समझ बैठे।सांप की पीठ पर बने इन छल्लों को देख ग्रामीण इसे अजगर समझ बैठे।
  • मूलीखेड़ा में मकान निर्माण के दौरान निकला सांप, लोग बोले- कुकर की सीटी जैसी आवाज कर रहा था

Dainik Bhaskar

Oct 12, 2018, 12:06 PM IST

शाजापुर. मौसम बदलने के साथ सांपों का दिखना आम बात है। लेकिन शहर से लगे ग्राम मूलीखेड़ा के लोग उस समय भयभीत हो गए जब उन्होंने सांप पर बने छल्ले देख अजगर समझ लिया। ग्रामीणों ने इसकी सूचना देकर स्नेक एक्सपर्ट हरीश पटेल को बुलाया।


पटेल ने पहले सांप का रेस्क्यू किया। इसके बाद ग्रामीणों को जानकारी देते हुए बताया कि यह अजगर नहीं, रसेल वाइपर है, जो देश में पाए जाने वाले खतरनाक जहरीले सांपों में शामिल है। उन्होंने इस दौरान ग्रामीणों को यह भी समझाइश दी की सांपों के मारें नहीं, छेड़छाड़ या उनकी जान को खतरा नहीं होने पर वह हमला नहीं करते।


जानकारी के अनुसार गांव के अनिल गोठी के घर मकान निर्माण का काम चल रहा था। यहां काम कर रहे मजदूर रेत डालने के लिए जैसे ही मकान के किनारे वाली जगह पहुंचे, तेज आवाज में फुफकारते हुए सांप झाड़ियों से बाहर आ गया। आसपास और छत पर खड़े लोगों ने सांप के शरीर पर छल्ले देख उसे अजगर समझ लिया। यह देख वहां मौजूद सभी लोग डर गए। किसी को कुछ समझ में नहीं आया। यहां बंधे मवेशियों व बच्चे और महिलाएं सभी घर के अंदर चली गई। अजगर होने की आशंका की खबर पर यहां पहुंचे स्नेक एक्सपर्ट पटेल ने 25-30 मिनट में रेस्क्यू खत्म कर सांप को सुरक्षित स्थान पर छोड़ दिया।

यह हैं देश में पाए जाने वाले तीन खतरनाक जहरीले सांप
एक्सपर्ट पटेल के अनुसार देश में सबसे खतरनाक जहरीले में शामिल रसेल वाइपर मिलना अच्छी बात है। लेकिन लोगों को जानकारी नहीं होने से यह सांप दूसरों और खुद के लिए मुसीबत खड़ी कर लेता है। पटेल के अनुसार देश के सबसे खतरनाक जहरीले सांपों में कोबरा, जो खतरा होने महसूस होते ही फन खोलकर बैठ जाता है, जिससे ये ज्यादा डरावना लगता है। दूसरे नंबर पर करैत सांप। काली-सफेद धारी वाला ये सांप रात में ज्यादा दिखाई देता है। इस सर्प में न्यूरोटॉक्सिन पाइजन पाया जाता है। तीसरे नंबर पर रसेल वाइपर है और इसकी पीठ पर काले गोल छल्ले की धारियां रहती है। इस सांप में होमोटॉक्सिन पाइजन होता है।

--Advertisement--
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..