आश्चर्य / उद्योगपति को मृत मानकर इंदौर से खंडवा ला रहे थे, बड़वाह आने पर चलने लगी धड़कन



अशोक अग्रवाल अशोक अग्रवाल
X
अशोक अग्रवालअशोक अग्रवाल

  • परिजन खेड़ीघाट के श्री दादाजी हास्पिटल ले गए, डॉक्टर ने आईसीयू में भर्ती किया 
     

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2019, 12:25 PM IST

खंडवा. इंदौर के अस्पताल में भर्ती खंडवा के उद्योगपति को डॉक्टरों ने मृत समझ लिया। वेंटीलेटर पर उनकी पल्स नजर नहीं आ रही थी। परिजन उन्हें लेकर खंडवा जा रहे थे, रास्ते में उनकी धड़कन चलने लगी तो परिजन उन्हें तत्काल खेड़ीघाट स्थित श्री दादाजी हॉस्पिटल ले गए। डॉक्टर ने उन्हें जीवित बताकर आईसीयू में भर्ती कर लिया। शाम होने तक उनके स्वास्थ्य में सुधार आने लगा। आंखें भी खुल गईं। उनके स्वास्थ्य में सुधार हो रहा है। दोपहर तक जिस घर में शोक छाया था वहां शाम को सब कुछ सामान्य हो गया। सारे परिजन खंडवा से बड़वाह अस्पताल में उनके स्वास्थ्य की जानकारी लेने पहुंचे। 


अशोक अग्रवाल अग्रसेन भवन समिति खंडवा के अध्यक्ष और खंडवा मंडी क्रेता विक्रेता संघ के अध्यक्ष तथा नयन एग्रो के संचालक। उनके निधन की खबर मिलने पर परिजन और मित्रों ने दोपहर में एक-दूसरे को शवयात्रा की सूचना दे दी थी। इसमें अंतिम यात्रा 13 जनवरी, रविवार प्रातः 10 बजे निवास स्थान शांति निकेतन कॉलोनी, इंदौर रोड से राजा हरिशचंद्र मुक्तिधाम जाने की बात लिखी गई। शाम को दुआओं में असर बताते हुए पल्स लौटने की दी जानकारी दी गई। 


15 दिन से भर्ती थे इंदौर के अस्पताल में 
उद्योगपति अशोक अग्रवाल काे लंग्स में इंफेक्शन की शिकायत थी। इसलिए उन्हें इंदौर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया था। वे 15 दिन से अस्पताल में भर्ती थे। दो दिन से वेंटीलेटर पर थे। बार-बार पल्स जा रही थी। शनिवार सुबह पल्स जाने पर परिजन उन्हें मृत समझकर घर खंडवा ला रहे थे।

 

मेरे पिता का स्वास्थ्य ठीक है। सोशल मीडिया पर कुछ अज्ञात व्यक्तियों द्वारा भ्रामक जानकारी भेजी जा रही है। मैं सभी से आग्रह करता हूं कि इस तरह की गलत अफवाह ना फैलाई जाए।

अमित अग्रवाल, अशोक अग्रवाल के बेटे 

 

शनिवार शाम 4.15 बजे हॉस्पिटल डायरेक्टर ने मुझे कहा एक मरीज की तबियत बहुत खराब है। उपचार जल्द किया जाए। तभी तत्काल अशोक अग्रवाल का उपचार शुरू किया। उन्हें ऑक्सीजन देकर रूम में रखा है। फिलहाल उनकी स्थिति ठीक है।

डॉ संजय तोषनीवाल, दादा दरबार हॉस्पिटल
COMMENT