• Hindi News
  • Mp
  • Indore
  • Digvijay Singh said in Honeytrap case Shweta Jain was General Secretary when Jirati was the President of BJYM, indore

हनी ट्रैप / दिग्विजय ने कहा- श्वेता जैन भाजयुमो की महामंत्री रही; जिराती बोले- आरोप झूठे, जांच करा लीजिए



X

  • कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा था- जब जीतू जिराती भाजयुमो के अध्यक्ष थे, तब श्वेता जैन महामंत्री थी
  • जिराती ने पलटवार किया, बोले- हां, मैं अध्यक्ष था लेकिन श्वेता महामंत्री नहीं थी
  • मंत्री वर्मा बोले- महिलाओं का दुरूपयोग कर सरकारों को गिराने का खेल

Dainik Bhaskar

Sep 22, 2019, 02:18 PM IST

इंदौर. हनी ट्रैप मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह ने भारतीय जनता पार्टी के नेताओं पर हमला बोला है। रविवार को इंदौर में सिंह ने कहा कि जब भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष जीतू जिराती थे, तब हनी ट्रैप मामले में आरोपी श्वेता विजय जैन महामंत्री थी। उन्होंने कहा कि इस बात का पता आप लगा सकते हैं। दिग्विजय ने महाराष्ट्र के एक मंत्री के भी मामले में शामिल होने का इशारा किया। दूसरी तरफ दिग्विजय सिंह के आरोप को जीतू जिराती ने नकार दिया है। 


रविवार को सिंह ने इंदौर में कहा कि मीडिया को यह पता लगाना चाहिए कि भाजपा के एक कलाकार नेता सागर में श्वेता जैन के पति विजय की दुकान का शुभारंभ करने गए थे। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र की देवेन्द्र फडणवीस सरकार के एक मंत्री निलंगेकर का श्वेता जैन से क्या संबंध था। इसका भी पता लगाना चाहिए। निलंगेकर भाजयुमो महाराष्ट्र के अध्यक्ष रहे हैं।

 

जिराती बोले- श्वेता महामंत्री नहीं थी
हनी ट्रैप मामले में दिग्विजयसिंह के आरोपों का भाजयुमो के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष जीतू जिराती ने खंडन किया। उन्होंने कहा- मैं जिस समय भाजयुमो का प्रदेश अध्यक्ष था उस समय श्वेता जैन भाजयुमो की महामंत्री नहीं थी। इस मामले में कमलनाथ सरकार किसी भी एजेंसी से जांच करवा सकती है। जो भी आरोपी हैं, अपराधी हैं, उनका नाम सामने लाएं।  

 

मंत्री वर्मा बोले- महिलाओं का दुरूपयोग कर सरकारों को गिराने का खेल 
हनी ट्रैप मामले में मप्र सरकार के मंत्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा कि महिलाओं का दुरूपयोग कर सरकारों को गिराने का खेल लोकतंत्र की हत्या के समान है। विभिन्न स्तर पर हनी ट्रैप की जांच की जा रही है। जनसंपर्क मंत्री ने उन्हीं तथ्यों के आधार पर यह कहा है कि सरकार गिराने के लिए भाजपा ने इसे प्रायोजित किया है। भाजपा के पूर्व मंत्री फंस चुके हैं । पूर्व मुख्यमंत्री के नाम भी है। भाजपा ने कांग्रेस के विधायकों पर डोरे डालने का काम किया है। दो मंत्री और सात विधायकों के नाम आ रहे हैं। उन पर कोशिश की गई थी लेकिन वह बच गई। भाजपा शक्ति परीक्षण में इसका इस्तेमाल करती। हमारे दो मंत्री और सात विधायक बच गए । आप देखिए, किस तरह से जिन माननीय पूर्व मंत्री का नाम आ रहा है। जिन्होंने पिछली सरकार में खूब कमाया है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना