• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Indore News
  • News
  • Indore - नाबालिग को बंधक बनाकर दुष्कर्म करने वाले आरोपी को 10-10 साल की दोहरी कैद
--Advertisement--

नाबालिग को बंधक बनाकर दुष्कर्म करने वाले आरोपी को 10-10 साल की दोहरी कैद

नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी को जिला कोर्ट ने दो धाराओं में 10-10 वर्ष की दोहरी सजा सुनाई। आरोपी नाबालिग को उसके पिता...

Danik Bhaskar | Sep 11, 2018, 03:30 AM IST
नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी को जिला कोर्ट ने दो धाराओं में 10-10 वर्ष की दोहरी सजा सुनाई। आरोपी नाबालिग को उसके पिता को जान से मारने की धौंस देकर बागली ले गया, वहां उसे बंधक बनाकर चार दिन तक दुष्कर्म किया था। बाद में आरोपी नाबालिग को लेकर यह कहते हुए थाने पहुंचा था कि उसने कोर्ट मैरिज कर ली है। फैसले में कोर्ट ने कड़ी टिप्पणी की कि नाबालिग की सहमति हो या असहमति दोनों स्थितियों में अवयस्क के साथ शारीरिक संबंध अपराध की श्रेणी में आता है।

सोमवार को अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश वर्षा शर्मा ने फैसला सुनाते हुए आरोपी बलराम पिता सीताराम मंडलोई आरिया (बागली) को दुष्कर्म एवं लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण (पाॅक्सो एक्ट) के तहत 10-10 वर्ष की कैद और एक-एक हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाते हुए जेल भेज दिया। अतिरिक्त शासकीय अधिवक्ता संजय शर्मा के मुताबिक दोनों सजाएं साथ चलेंगी। घटना 16 अप्रैल 2016 को दोपहर एक बजे की है। तब राऊ निवासी 17 वर्ष युवती अपनी मां को टिफिन देने जा रही थी। रास्ते में आरोपी मिला और साथ चलने को कहा। पीड़िता ने मना किया तो आरोपी ने उसे धौंस दी कि साथ नहीं चली तो तेरे पिता को मार डालूंगा। आरोपी उसे अपने गांव बागली ले गया। चौथे दिन आरोपी ने राऊ थाने में पहुंचकर कहा- उसने कोर्ट मैरिज कर ली है, किंतु उसने शादी के कोई दस्तावेज नहीं दिए। पीड़िता ने पुलिस को बताया आरोपी ने उसे बंधक बनाकर रखा और उसके साथ दुष्कर्म किया। पुलिस ने आरोपी को थाने में ही गिरफ्तार कर लिया था।