--Advertisement--

इंदौर / जनता की चुप्पी से डरे प्रत्याशियों की एग्जिट पोल ने धड़कन, सोशल मीडिया पर चलें स्लोगन



शुक्रवार को एग्जिट पोल देखते इंदौर-1 के कांग्रेस प्रत्याशी संजय शुक्ला शुक्रवार को एग्जिट पोल देखते इंदौर-1 के कांग्रेस प्रत्याशी संजय शुक्ला
सर्द रात में अलाव जलाकर कार्यकर्ता बैठे रहे सर्द रात में अलाव जलाकर कार्यकर्ता बैठे रहे
X
शुक्रवार को एग्जिट पोल देखते इंदौर-1 के कांग्रेस प्रत्याशी संजय शुक्लाशुक्रवार को एग्जिट पोल देखते इंदौर-1 के कांग्रेस प्रत्याशी संजय शुक्ला
सर्द रात में अलाव जलाकर कार्यकर्ता बैठे रहेसर्द रात में अलाव जलाकर कार्यकर्ता बैठे रहे

  • माफ करो शिवराज इस बार हमारा राज.... कांग्रेस की ओर से चला जुमला
  • एग्जिट नहीं ‘एग्जेक्ट’ की बात कीजिए... भाजपा की तरफ से चली लाइन
  • दोनों (पटाखे वालों से) : पटाखे ले रहे हैं, लेकिन काम न आए तो वापस ले लोगे न? 

Dainik Bhaskar

Dec 08, 2018, 07:02 AM IST

इंदौर . चुनाव बाद परिणाम के इंतजार में दिन-रात बेचैन प्रत्याशियों की नींद शुक्रवार को आए एग्जिट पोल ने उड़ा दी है। पोल के नतीजों से और भ्रम की स्थिति पैदा हो गई है। एग्जिट पोल के बाद भास्कर ने जिले के भाजपा और कांग्रेस के प्रत्याशियों और बड़े नेताओं से बात की और उनकी प्रतिक्रिया जानी। पहला सवाल पूछा गया कि एग्जिट पोल को वे कितना सही मानते हैं? दूसरा, प्रदेश में किसकी सरकार बनने का भरोसा है?

 

और असल में नेताओं के यह बोल

 

1. कैलाश विजयवर्गीय, राष्ट्रीय महासचिव, भाजपा

 

  • एग्जिट पोल पर बहुत ज्यादा कुछ नहीं कह सकते। मुख्यमंत्री के विकास कार्य और सरकार की तमाम योजनाओं का लाभ मिलेगा।
  • प्रदेश में बड़े बहुमत से भाजपा की सरकार बनेगी।


2. सुदर्शन गुप्ता, भाजपा प्रत्याशी, इंदौर-1

 

  • एग्जिट पोल में 5 से 10 फीसदी बदलाव की गुंजाइश रहती है। पूरी तरह इस पर कुछ भी नहीं कहा जा सकता। प्रदेश में स्पष्ट बहुमत से भाजपा की सरकार बन रही है।
  • मुख्यमंत्री की लोकप्रियता और गली-गली व गांव-गांव तक पहुंचे विकास कार्य पर पूरा भरोसा है। इसलिए प्रदेश में बहुमत से कहीं ज्यादा सीटों से भाजपा की सरकार बनेगी।

 

3. महेंद्र हार्डिया, भाजपा प्रत्याशी, इंदौर-5

 

  • एग्जिट पोल में 10 फीसदी तक बदलाव की संभावना रहती है। यही बदलाव नतीजों पर असर डालता है। इसलिए इस पर पूरी तरह कुछ नहीं कह सकते हैं।
  • प्रदेश में सौ फीसदी भाजपा की सरकार बन रही है। मैं अपनी सीट भी पिछली बार से एक वाेट ज्यादा से जीतूंगा।

 

4. संजय शुक्ला, कांग्रेस प्रत्याशी, इंदौर-1

 

  • एग्जिट पोल अपनी जगह है। लेकिन एग्जिट पोल में भी इससे ज्यादा सीटें मिलने की उम्मीद थी और परिणाम आने पर मिलेंगी भी।
  • सरकार कांग्रेस की ही बनेगी। 140 से ज्यादा सीटें आएंगी।

 

5. माेहन सेंगर, कांग्रेस प्रत्याशी, इंदौर-2

 

  • एग्जिट पोल के परिणाम ऊपर-नीचे होते रहते हैं। इसलिए इस पर ज्यादा कुछ नहीं कहा जा सकता।
  • प्रदेश में 130 से 140 सीटों के साथ कांग्रेस की सरकार बनने जा रही है। कांग्रेस की जीत को लेकर किसी तरह की शंका नहीं है। 

 

6. सुरजीत सिंह चड्‌ढा, कांग्रेस प्रत्याशी, इंदौर-4

 

  • एग्जिट पोल पर कुछ नहीं कहूंगा। प्रदेश में 145 से 150 सीटें तक कांग्रेस को मिलने जा रही है।

 

7. जीतू पटवारी, कांग्रेस प्रत्याशी, राऊ

 

  • एग्जिट पोल ने हवा बता दी है। यह बात हम पहले से ही कह रहे थे कि लोग कांग्रेस के पक्ष में हैं।
  • सरकार कांग्रेस की ही बनेगी। पार्टी को 145 तक सीटें आएंगी।

एग्जिट पोल से क्षेत्र 1, 3, 5, सांवेर और राऊ में बढ़ी प्रत्याशियों की घबराहट

 

इंदौर की 9 में से पांच सीटों पर मुकाबला एग्जिट पाेल के बाद कशमकश का नजर आ रहा है। एग्जिट पोल के बाद क्षेत्र 1, 3, 5, सांवेर और राऊ में प्रत्याशियों की घबराहट बढ़ गई है।

 
इंदौर-1 : भाजपा और कांग्रेस दोनों ही उम्मीदवारों को एग्जिट पोल के आकलन जारी होने तक राहत नहीं मिली है और यही क्रम वोटों की गिनती पूरी होने तक रहेगा।
 

इंदौर-3 : अब तक के गुणा-भाग पर एग्जिट पोल ने फिर से सोचने पर मजबूर कर दिया है। दोनों ही दलों की घबराहट तीन दिन और कम होती नजर नहीं आ रही।
 

इंदौर-5 : भाजपा यहां अब तक राहत में थी, लेकिन एग्जिट पोल में नजर आ रही कशमकश का असर इस सीट पर भी संभावित है।
 

राऊ : भाजपा से मधु वर्मा के प्रत्याशी बनने के बाद से कांग्रेस के जीतू पटवारी के लिए चुनौती बढ़ गई थी। ऊंट किस करवट बैठेगा यह 11 को ही पता चलेगा।
 

सांवेर : सिलावट और सोनकर की जीत-हार भी सर्वे की तरह उलझी हुई दिख रही है। यहां पहले ही दावा कम अंतर का था, अब यह माथापच्ची और बढ़ गई है।

 

कांग्रेस बोली- हर राउंड की गिनती के बाद मतगणना का सर्टिफिकेट दे प्रशासन : मतगणना की प्रक्रिया की जानकारी देने के लिए जिला प्रशासन ने शुक्रवार सुबह कलेक्टोरेट में सभी राजनीतिक दलों के साथ बैठक की। कांग्रेस ने हर मतगणना चरण के बाद इसका सर्टिफिकेट देकर आगे मतगणना बढ़ाने की मांग की।

 

इस पर कलेक्टर निशांत वरवड़े ने कहा चुनाव आयोग की तय प्रक्रिया के अनुसार 17सी दिया जाता है और इसमें लिखा होता है कि किसे कितने वोट मिले। आयोग द्वारा जो भी अन्य प्रक्रिया इसके लिए तय की गई है, उसका पूरा पालन किया जाएगा। बैठक में कांग्रेस प्रत्याशी सुरजीत सिंह चड्ढा, सत्यनारायण पटेल के साथ आम आदमी पार्टी व अन्य दलों के प्रत्याशी व अभिकर्ता शामिल थे।

 

हर राउंड में 7960 वोट गिनेंगे, करीबी मामलों में आखिर तक रिजल्ट का इंतजार : एग्जिट पोल में मप्र में भाजपा और कांग्रेस के बीच करीबी मुकाबला होने की बात सामने आ रही है। ऐसे में टक्कर की सीट पर जीत-हार जानने अंतिम राउंड तक इंतजार करना होगा।

 

कारण- मप्र में संख्या के हिसाब से सबसे ज्यादा वोटिंग इंंदौर जिले में हुई है। यहां की नौ सीटों पर 17.71 लाख वोट डाले गए व मतदान केंद्र 3116 रहे हैं। हर राउंड में 14 केंद्रों की ईवीएम खुलती है। यानी, यहां हर क्षेत्र में प्रति राउंड औसतन 7960 वोट गिने जाएंगे। मतलब, किसी सीट पर पांच हजार वोट से कम की जीत-हार होती है तो अंतिम राउंड तक ही रिजल्ट मिलेगा।  

 

 

सबसे ज्यादा 32 राउंड इंदौर 5 में, सबसे कम 19 इंदौर 3 में 

  

 

 

क्षेत्र  

गिने जाने  कुल वाले वाेट

राउंड
इंदौर-एक   7782 30
इंदौर-दो   7606  29
इंदौर-तीन 6986 19
इंदौर-चार    7287 23
इंदौर-पांच   7655   32
महू  8456 23
राऊ  8386 26
सांवेर 8839  23
देपालपुर   8788 22

 

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..