--Advertisement--

प्लेटफार्म से रेलवे ट्रेक पर जा गिरी तेज गति से चल रही बैटरी कार, बड़ा हादसा होते-होते बचा

इंदौर के प्लेटफार्म नंबर तीन पर हुआ हादसा, रेलवे ने रोका बैटरी गाड़ी का संचालन।

Dainik Bhaskar

Jun 10, 2018, 12:48 PM IST
घटना के बाद रेलवे ट्रेक से बैटरी कार को उठाते कर्मचारी। घटना के बाद रेलवे ट्रेक से बैटरी कार को उठाते कर्मचारी।

इंदौर। रविवार को इंदौर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर-3 पर तेज गति से चल रही बैटरी कार अनियंत्रित होकर रेलवे ट्रेक में जा गिरी। बैटरी कार रेलवे ट्रेक पर ही पलटी खा गई थी। थोड़ी देर बार इसी ट्रेक पर ट्रेन आने वाली थी। घटना के बाद कर्मचारियों ने यात्रियों की सहायता से बैटरी कार को उठाकर प्लेटफार्म पर रखा। घटना के बाद रेलवे ने तात्कालिक रूप से बैटरी कार के संचालन पर रोक लगा दी है।


- घटना रविवार सुबह लगभग 10.30 बजे इंदौर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 3 पर हुई। रेलवे कर्मचारी प्लेटफार्म नंबर तीन पर बैटरी से चलने वाली छोटी कार को बेवजह तेज गति से दौड़ा रहा था।


- बैटरी कार की गति तेज होने के कारण चालक उस पर से नियंत्रण खाे बैठा और कार प्लेटफार्म से रेलवे ट्रेक की ओर तेेजी से जाने लगी। यह देख चालक तो कार से कूद गया लेकिन बैटरी कार प्लेटफार्म से होती हुई रेलवे ट्रेक पर जा गिरी और पलट गई।


- बैटरी कार के रेलवे ट्रेक पर गिरने से स्टेशन पर मौजूद यात्रियों के साथ ही रेलवे कर्मचारियों में हड़कंप मच गया। रेलवे कर्मचारियों के साथ ही यात्री तुरंत घटनास्थल की तरफ दौड़े।


आने वाली थी ट्रेन
- बैटरी कार जिस ट्रेक पर गिरी थी उस ट्रेक पर कुछ देर बाद नागदा, उज्जैन आैर देवास होती हुई ट्रेन आने वाली थी। बैटरी कार चालक, रेलवे के अन्य कर्मचारियों और कुछ यात्रियों ने पहले तो ट्रेक पर पड़ी बैटरी कार को सीधा किया और उसके बाद उसे उठाकर पुन: प्लेटफार्म पर रख दिया।

टल गया बड़ा हादसा
यह तो गनीमत रही की जब यह घटना हुई उस समय ना तो प्लेटफार्म पर अधिक लोग थे और ना ही रेलवे ट्रक पर कोई ट्रेन खड़ी थी। यदि प्लेटफार्म पर यात्रियों की भीड़ होती और कोई ट्रेन ट्रेक पर खड़ी होती तो बड़ा हादसा भी हो सकता था।


- सामने आई कर्मचारियों की लापरवाही
घटना में रेलवे कर्मचारियों की लापवाही सामने आई है। इंदौर रेलवे स्टेशन पर बैटरी से चलने वाली तीन कारें हैं जिनका उपयोग यात्रियों के सामना के साथ ही बुजुर्ग व असहाय यात्रियों को रेलवे कोच तक पहुंचाने में किया जाता है। लेकिन इन कारों का उपयोग उक्त काम के बजाय फालतू दौड़ाने में अधिक किया जाता है। रेलवे कर्मचारी बेवजह इन कारों को प्लेटफार्म पर तेज गति से दौड़ोते रहते हैं। कई बार यात्रियों के सामन से इन करों की टक्कर हो चुकी है। यात्रियों की शिकायत के बाद प्रबंधन द्वारा कई बार कर्मचारियों को फटकार लगाई गई इसके बावजूद व्यवस्था नहीं सुधरी। रविवार को हुए हादसे के बाद रेलवे प्रशासन ने घटना की जांच कराए जाने की बात कही है वहीं लापरवाह कर्मचारियों पर भी कार्रवाई करने की बात कही गई है।


संचालन बंद, लगेगा स्पीड गवर्नर
घटना के बाद इंदौर रेलवे स्टेशन पर संचालित की जा रही बैटरी से चलने वाली तीन कारों का संचालन रोक दिया गया है। रेलवे पीआरओ का कहना है कि फिलहाल तीनों कारों के संचालन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। अब इन कारों में 10 किलोमीटर प्रति घंटे की गति वाला स्पीड गवर्नर लगाया जाएगा उसके बाद ही इन कारों के संचालन को प्रारंभ किया जाएगा।

घटना के बाद रेलवे ट्रेक से बैटरी कार को उठाते कर्मचारी। घटना के बाद रेलवे ट्रेक से बैटरी कार को उठाते कर्मचारी।
X
घटना के बाद रेलवे ट्रेक से बैटरी कार को उठाते कर्मचारी।घटना के बाद रेलवे ट्रेक से बैटरी कार को उठाते कर्मचारी।
घटना के बाद रेलवे ट्रेक से बैटरी कार को उठाते कर्मचारी।घटना के बाद रेलवे ट्रेक से बैटरी कार को उठाते कर्मचारी।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..