पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • Indore News First Day After The Election Shukla Reached Mahakal On The Morning Walk Like Hardia Rose

चुनाव के बाद पहला दिन : महाकाल पहुंचे शुक्ला, हार्डिया रोज की तरह मॉर्निंग वॉक पर

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मतदान के अगले दिन क्षेत्र क्र. 1 के कांग्रेस प्रत्याशी संजय शुक्ला ने प|ी के साथ महाकाल मंदिर पहुंचकर पूजन किया।

बूथवार वोट पर अब अनुमान का गणित
भास्कर संवाददाता. इंदौर | विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होते ही अब बूथवार डले वोटों के अनुमान का गणित शुरू हो गया है। अब तक जो आंकड़े आए हैं, उससे यह तथ्य भी सामने आया कि कोई भी पार्टी यह दावा नहीं कर पा रही है कि इस क्षेत्र से सिर्फ भाजपा या कांग्रेस को ही वोट मिलेंगे।

चर्चा ऐसी : कांग्रेस को पहली बार वोट भाजपा के बेल्ट से भी मिलेंगे तो कांग्रेस समर्थित क्षेत्रों से कम वोटिंग का भाजपा को होगा फायदा
क्षेत्र 1 : दोनों ही दल नहीं कर सकते जीत के दावे
यहां चंदन नगर जैसे क्षेत्र में 30 से 80 प्रतिशत तक वोट डले हैं। कांग्रेस को एकमुश्त वोट देने वाले चंदन नगर क्षेत्र को लेकर प्रत्याशी भी नहीं समझ पा रहे हैं कि आखिर 30 प्रतिशत ही वोट मिलने का क्या कारण है। ब्राह्मण वोट भी यहां एकतरफा गिरे हो, ऐसा भी नहीं है। कांग्रेस खुद यहां अपने वोट भाजपा समर्थित वार्डों से तलाश रही है तो भाजपा कांग्रेस के वोट गिन रही है कि ये कितना दावा कहां से कर रहे हैं।

68.63 फीसदी वोटिंग

चंदन नगर जैसे क्षेत्र में कहीं 30 कहीं 80% वोटिंग दोनों दल दावा नहीं कर पा रहे, किसे मिलेगी लीड
क्षेत्र 2 : भाजपा को एक लाख से जीत का अनुमान
कांग्रेस टक्कर देने की बात कह रही है तो भाजपा नेता एक लाख से जीत तय मान रहे हैं। हालांकि यह बात भाजपा नेता भी स्वीकार रहे हैं कि कांग्रेस प्रत्याशी को वोट तो सभी जगह से मिलेंगे, लेकिन लीड हजारों में भाजपा को मिलेगी। भाजपा नेता कांग्रेस प्रत्याशी को यहां हर वार्ड में 1 हजार से ढाई हजार वोट तक दे रहे हैं, लेकिन दावा यह भी है कि 60 से 70 हजार वोट तक प्रत्याशी सिमट जाएगा।

64.21 फीसदी वोटिंग

क्षेत्र क्रमांक 5 के भाजपा प्रत्याशी महेंद्र हार्डिया हर दिन की तरह उठते ही मॉर्निंग वॉक करने पहुंच गए। पीटीएस के पास बगीचे में पहुंचकर उन्होंने योग किया। इस दौरान दोस्तों की वह टोली भी थी, जो हमेशा हार्डिया के साथ सैर पर आती है। जीत के सवाल पर हार्डिया बोले- पिछली बार से एक वोट ज्यादा ही मिलेगा।

क्षेत्र 3 : कांग्रेस यहां से पक्की मान रही जीत
कांग्रेस ने यहां नोटा के 2 हजार वोट गिनने के बाद भी जीत पक्की मानी है वहीं भाजपा को महाराष्ट्रीयन, वैश्य वोटों पर भरोसा है। कांग्रेस को अल्पसंख्यक वार्डों से गैर मराठी भाषी क्षेत्रों से भी उम्मीद है। पार्षद जगदीश धनेरिया ने निर्दलीय फॉर्म भरा था, लेकिन अब वहां से भाजपा 3 से 5 हजार की लीड मान रही है। चितावद क्षेत्र की ईवीएम दोनों दलों के लिए यहां निर्णायक हो सकती है।

69.62 फीसदी वोटिंग

क्षेत्र 4 : दो वार्ड में भाजपा को नुकसान का अनुमान
भाजपा ने अंतिम समय में सिंधी समाज को साधने की जो कवायद की वह दिख रही है। पार्षद समरीन अयाज बैग और सादिक खान के वार्ड से कांग्रेस को सीधे लीड की उम्मीद है वहीं भाजपा सुदामा नगर, द्वारकापुरी, गुमाश्ता नगर, स्कीम 71, खातीवाला टैंक, सिंधी कॉलोनी को वोट की बढ़त के तौर पर मान रही है। यहां भाजपा की पिछली जीत 35 हजार की थी। इस बार उम्मीद इससे भी ज्यादा की है।

67.14 फीसदी वोटिंग

क्षेत्र 5 : भाजपा बहुसंख्यक वर्ग से कर रही जीत का दावा
भाजपा 18 हजार से अधिक की जीत मान रही है। कांग्रेस यहां 70 हजार वोट सीधे कांग्रेस प्रत्याशी के खाते में मान रही है। भाजपा का तर्क है हमें आशा सोनी, प्रणव मंडल, दिलीप शर्मा, सूरज कैरो, प्रेम जारवाल, रूपेश देवलिया के वार्डों से बढ़त मिलेगी। कांग्रेस को अल्पसंख्यक क्षेत्रों के अलावा मूसाखेड़ी, भील कॉलोनी और रिंग रोड से लगी बस्तियों से उम्मीद है।

65.22 फीसदी वोटिंग

राऊ : दोनों को शहरी व ग्रामीण से बराबर उम्मीद
दोनों दल शहरी वार्डों और ग्राम पंचायतों को अपना बता रहे हैं। भाजपा का तर्क है पहली बार राऊ के सारे टिकट के दावेदार एक जुट होकर सामने आए। भाजपा 22 ग्राम पंचायतों और एक नगर पंचायत (राऊ) में अपना फायदा देख रही है। कांग्रेस का तर्क है जिला पंचायत चुनाव में 22 में से 17 पंचायतें उसने जीती थी। कांग्रेस काे बांक और नायता मुंडला जैसे गांवों से एकमुश्त वोटों की उम्मीद है।

73.51 फीसदी वोटिंग

खबरें और भी हैं...