इंदौर

  • Home
  • Madhya Pradesh News
  • Indore News
  • News
  • Indore - चार माह से 70 हजार छात्रों के रिजल्ट जारी नहीं किए, आज अग्रणी कॉलेजों की बैठक
--Advertisement--

चार माह से 70 हजार छात्रों के रिजल्ट जारी नहीं किए, आज अग्रणी कॉलेजों की बैठक

यूनिवर्सिटी की लेटलतीफी के कारण विभिन्न पाठ्यक्रमों के करीब 70 हजार छात्र परेशान हो रहे हैं। अप्रैल में छात्रों की...

Danik Bhaskar

Sep 11, 2018, 03:40 AM IST
यूनिवर्सिटी की लेटलतीफी के कारण विभिन्न पाठ्यक्रमों के करीब 70 हजार छात्र परेशान हो रहे हैं। अप्रैल में छात्रों की परीक्षा ली गई थी, लेकिन अब तक परिणाम जारी नहीं किए गए। इसे लेकर कार्यपरिषद सदस्य आलोक डावर ने आपत्ति लेते हुए कुलपति को पत्र लिखा है, जिसके बाद कुलपति ने मंगलवार को ताबड़तोड़ अग्रणी कॉलेजों के प्राचार्यों की बैठक बुलवा ली है। डावर का कहना है कि हर बार सात दिन में परिणाम जारी करने की बात की जा रही है। गौरतलब है कि इस बार कॉपियां जांचने की जिम्मेदारी अग्रणी कॉलेजों के पास थी। सूत्रों के अनुसार मार्कशीट बनाने में कोई चूक हुई है। परिणाम को तैयार करने मेें मशक्कत करना पड़ रही है। इस कारण यूनिवर्सिटी छात्रों को झुला रही है। इस तरह की शिकायतों के बाद कुलपति ने मंगलवार को ताबड़तोड़ अग्रणी कॉलेजों की बैठक बुलवाई है।

कुलपति ने दिया था एक महीने में परिणाम देने का भराेसा, छात्र तय नहीं कर पा रहे किस कक्षा में बैठें

इंदौर | ए-ग्रेड का दर्जा मिलने के बाद भी देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी का ढर्रा वही पुराना है। प्रबंधन चार माह पहले हुई बीए, बीकॉम, बीएससी फर्स्ट ईयर की परीक्षाओं का रिजल्ट अब तक घोषित नहीं कर पाया। बताते हैं करीब 15 रिजल्ट रुके हैं जिसकी वजह से छात्र तय नहीं कर पा रहे कि वे किस कक्षा में पढ़ाई करें। बार-बार चक्कर लगाने के बाद भी उन्हें यूनिवर्सिटी प्रबंधन से खोखले आश्वासन ही मिल रहे।

एक माह पहले सैकड़ों छात्र कुलपति नरेंद्र धाकड़ से मिले थे। बताया था कि कई कक्षाओं के चार माह बाद भी परिणाम जारी नहीं हुए। तब उन्होंने आश्वासन दिया था कि एक माह में परिणाम जारी कर देंगे लेकिन अभी तक रिजल्ट नहीं आए। ऐसे में छात्र पसोपेश में हैं कि किस क्लास में बैठे क्योंकि कॉलेजों में पढ़ाई शुरू हो चुकी है। यदि कोई छात्र दो विषय में फेल हो जाता है तो उसे फिर से फर्स्ट ईयर में बैठना पड़ेगा।

बंद के कारण टली परीक्षाएं

भारत बंद के चलते स्थगित 10 परीक्षाओं की तारीख अब तक घोषित नहीं की गई। अधिकारियों के मुताबिक इस माह के अंत में ये परीक्षाएं करवाई जाएंगी। इनमें एमएड, बीएड, एलएलबी फोर्थ सेमेस्टर, बीबीए एलएलबी सेकंड सेमेस्टर, बीसीए सेकंड सेमेस्टर, बीएएमएस थर्ड ईयर (न्यू), बीएएमएस थर्ड ईयर(ओल्ड), बीपीटी फर्स्ट व थर्ड ईयर, बीएमएलटी फर्स्ट, सेकंड और थर्ड ईयर की परीक्षाएं होना थीं। इन परीक्षाओं में तीन हजार छात्र शामिल होने वाले थे। परीक्षा नियंत्रक अशेष तिवारी का कहना है कि थोड़ा विलंब हुआ है लेकिन 15 दिन में सारे परिणाम घोषित कर दिए जाएंगे।

Click to listen..