इंदौर / हुकुमचंद मिल की श्रीकृष्ण-अर्जुन झांकी को पहला पुरस्कार,उत्साह की बारिश से सराबोर रहा झांकियों का कारवां



गुरुवार रात इंदौर में निकली झांकी गुरुवार रात इंदौर में निकली झांकी
झांकियों के खत्म होने के तुरंत बाद नगर निगम ने झांकी मार्ग पर सफाई का विशेष अभियान चलाया झांकियों के खत्म होने के तुरंत बाद नगर निगम ने झांकी मार्ग पर सफाई का विशेष अभियान चलाया
भारी बारिश के बावजूद लोगों में रहा उत्साह भारी बारिश के बावजूद लोगों में रहा उत्साह
गुरुवार रात इंदौर में निकली झांकी गुरुवार रात इंदौर में निकली झांकी
भारी बारिश के बावजूद लोगों में रहा उत्साह भारी बारिश के बावजूद लोगों में रहा उत्साह
गुरुवार रात इंदौर में निकली झांकी गुरुवार रात इंदौर में निकली झांकी
X
गुरुवार रात इंदौर में निकली झांकीगुरुवार रात इंदौर में निकली झांकी
झांकियों के खत्म होने के तुरंत बाद नगर निगम ने झांकी मार्ग पर सफाई का विशेष अभियान चलायाझांकियों के खत्म होने के तुरंत बाद नगर निगम ने झांकी मार्ग पर सफाई का विशेष अभियान चलाया
भारी बारिश के बावजूद लोगों में रहा उत्साहभारी बारिश के बावजूद लोगों में रहा उत्साह
गुरुवार रात इंदौर में निकली झांकीगुरुवार रात इंदौर में निकली झांकी
भारी बारिश के बावजूद लोगों में रहा उत्साहभारी बारिश के बावजूद लोगों में रहा उत्साह
गुरुवार रात इंदौर में निकली झांकीगुरुवार रात इंदौर में निकली झांकी

  • 93 वर्ष में पहली बार रेड अलर्ट में 3 घंटे के अंदर 2 इंच बारिश, फिर भी सड़क पर डेढ़ लाख लोगों का अनंत उत्साह
  • झांकी समाप्त होने के बाद निगम ने चलाया विशेष सफाई अभियान

Dainik Bhaskar

Sep 13, 2019, 05:07 PM IST

इंदौर. 93 साल पुरानी परंपरा का जज्बा एक बार फिर बारिश की तेज बूंदों को बेअसर कर गया। गुरुवार शाम कपड़ा मिलों से झांकियां बाहर आईं तो इंद्रदेवता शेषशैया पर विराजे भगवान विष्णु का अभिनंदन करने को मानो आतुर थे। उत्साह की बारिश से सराबोर झांकियों का कारवां गुरुवार को रातभर चला और पूरी रात बूंदों संग थिरकते रहे लोग। झांकी समाप्त हाेने के बाद निगम ने विशेष सफाई अभियान चलाया। वहीं शुक्रवार को झांकी निर्णायक समिति ने पुरस्कारों की घोषणा की। हुकुमचंद मिल की श्रीकृष्ण-अर्जुन झांकी को पहले पुरस्कार के लिए चुना गया।


झांकी निर्णायक समिति ने हुकुमचंद मिल की अर्जुन को गीता का उपदेश देते श्रीकृष्ण की झांकी को प्रथम पुरस्कार के लिए चुना है। द्वितीय पुरस्कार मालवा मिल की ताड़का वध को प्रदान किया जाएगा। तृतीय पुरस्कार संयुक्त रूप से कल्याण मिल की कुबेर द्वारा गणेशजी को भोज का निमंत्रण देने वाली झांकी और स्वदेशी मिल की कालभैरव का जन्मोत्सव की झांकी को प्रदान किया गया। वहीं विशेष पुरस्कार के लिए राजकुमार मिल की भगवान श्रीकृष्ण की लीला और होप टेक्सटाइल की शिवाजी ताण्डव को दिया गया।

 

अखाड़ा निर्णायक समिति के निर्णय
बना वर्ग में 
प्रथम पुरस्कार :
छोगालाल उस्ताद व्यायामशाला 
द्वितीय पुरस्कार : गाजीगुरू व्यायामशाला व आदर्श व्यायामशाला 
तृतीय पुरस्कार : मार्तन्डराव उस्ताद व्यायामशाला मराठी मोहल्ला व रविदास व्यायामशाला

विशेष पुरस्कार : लोधी पंच व्यायामशाला


दो हाथ पटे वर्ग में 
प्रथम पुरस्कार :
चंद्रपाल उस्ताद व्यायामशाला
द्वितीय पुरस्कार : बिन्दा गुरू व्यायामशाला और महावर कोली व्यायामशाला दशहरा मैदान
तृतीय पुरस्कार : श्री दास हनुमान व्यायामशाला और वीर बलवंत गुरू व्यायामशाला
विशेष पुरस्कार : चिमनलाल उस्ताद व्यायामशाला


बालक वर्ग
प्रथम पुरस्कार :
वंश ठाकुर (माेहनसिंह ठाकुर व्यायामशाला)
द्वितीय पुरस्कार : अयुष कौशल (सुभाष व्यायामशाला)
तृतीय पुरस्कार : विकास कौशल (जय मां पावागढ़ व्यायामशाला) और अमन वर्मा (गरूदास व्यायामशाला)
विशेष पुरस्कार : श्री दयाल (एकलव्य अखाड़ा) और हर्ष सूरजकुंड (वीर बलवंत गुरू व्यायामशाला)


बालिका वर्ग
प्रथम पुरस्कार : बालिका शस्त्रकला दल (श्री रामनाथ गुरू व्यायामशाला) पटा में चंचल बैरासी व बाना में विशाखा लुडेले
द्वितीय पुरस्कार : जिया पाटीदार (महावीर व्यायामशाला, इतवारिया बाजार)
तृतीय पुरस्कार : जया चौधरी (रामनारायण परमेश्वरदीन उस्ताद अखाड़ा)
विशेष पुरस्कार : गीतांजलि सांवरिया

 

 

निगम ने चलाया विशेष सफाई अभियान
 झांकियों के खत्म होने के तुरंत बाद नगर निगम ने झांकी मार्ग पर सफाई का विशेष अभियान चलाया और बारिश के मध्य ही सड़कों को साफ कर दिया। इससे पहले रंगपंचमी पर भी नगर निगम ने कुछ ही घंटों में राजवाड़ा पर सफाई कर दी थी।

 

 

 

झांकियों के खत्म होने के तुरंत बाद नगर निगम ने झांकी मार्ग पर सफाई का विशेष अभियान चलाया

 

 

इससे पहले गुरुवार शाम छह बजे खजराना गणेश की झांकी ने जेल रोड पर अनंत से लगने वाले कारवां की शुरुआत की। रिमझिम बरस रही बूंदें रात आठ बजते-बजते मूसलधार में बदल गई। एक तरफ झांकी कलाकारों का उत्साह और रोशनी की झिलमिलाहट थी तो दूसरी तरफ झमाझम बारिश। बारिश तेज होती गई, पर झांकियों का सिलसिला नहीं रुका। इसी दौरान नगर निगम की झांकी नॉवेल्टी मार्केट तक पहुंच चुकी थी, पर मालवा मिल की झांकी राजकुमार ब्रिज पर अटकी थी। मिलों की झांकी पीछे रखने को लेकर कलाकारों ने आपत्ति भी जताई।

 

बाद में प्रशासन के समझाने पर कलाकार तैयार हो गए और एक के बाद एक झांकियां जेलरोड को पार करती गई। रात 10.30 बजे तक राजकुमार मिल, हुकुमचंद मिल, कनकेश्वरी इन्फोटेक की झांकियां नंदलालपुरा के आगे पहुंच चुकी थीं। सबसे आगे निकली खजराना गणेश की झांकी इस समय पूरा रूट घूमकर खजूरी बाजार तक आ गई। रात साढ़े 12 बजे तो यह झांकी घूमकर वापस जेल रोड पहुंच चुकी थी। रात साढ़े आठ से साढ़े 11 बजे तक दो इंच बारिश हुई। बारिश बंद होते ही सड़कों पर भीड़ बढ़ गई। 


सीतलामाता बाजार के व्यापारियों ने भारी मन से किया झांकी का स्वागत
झांकियां खंडहर हो चुके सीतलामाता बाजार से निकली लेकिन न पहले जैसा उत्साह देखने को मिला और न उमंग। कई व्यापारियों ने झांकियों का कारवां देखा तक नहीं। व्यापारियों का कहना है कि कैसा मजा और क्या झांकी, हमारा तो धंधा 15 दिन से चौपट है। ग्राहक बाजार में आ रहे हैं पर एक भी दिन काम नहीं हो सका। जिन व्यापारियों ने दुकानें तोड़ ली हैं, वे भी व्यवसाय इस डर से शुरू नहीं कर पा रहे हैं कि निगम की गैंग जब पोकलेन लेकर आएगी तो पता नहीं और ज्यादा न टूट जाए। अभी भी 20% निर्माण टूटना बाकी है।
 
झलकियां

  • रात 9.31 बजे गुरु रामदास व्यायामशाला के पीछे आई होप टेक्सटाइल की झांकी। बारिश के कारण पुलिस जवान झांकियों को जल्दी-जल्दी आगे बढ़ाते रहे।
  • रात 9.49 बजे होप टेक्सटाइल की झांकी जेल रोड पहुंची। इनकी तीनों झांकियों की लाइट बंद थी। इस दौरान 2 घंटे तक लगातार बारिश जारी रही। सड़कों पर पानी भर गया।
  • 8 बजे से तेज बारिश शुरू हुई, जो लगातार साढ़े 10 बजे तक जारी रही। इसके पहले हल्की बारिश चल रही थी। कई स्थानों पर सड़क किनारे पानी जमा हो गया। लेकिन बीच सड़क पर नहीं था। इसलिए झांकियां निरंतर निकलती रही। बारिश के कारण झांकियों और अखाड़ों ने अपनी लाइटें बंद कर दी थीं।
  • बारिश के कारण लोग गैलरी के नीचे दुकानों के शटर और दीवारों से चिपककर खड़े रहे। कई लोग रेनकोट और छाते का सहारा लिए थे।
  • रात 10.50 बजे खजराना गणेश की झांकी खजूरी बाजार पहुंची।
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना