--Advertisement--

पालदा में लालबाग और विजय नगर में इंदौर का राजा दिखेगा, जयरामपुर में मां यशोदा की गोद में कृष्ण रूप में विराजेंगे गणेशजी

गणेशोत्सव : शहर के मंदिरों और गणेश पंडालों में तैयारियां अंतिम दौर में, रोज होंगे कई आयोजन

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 01:19 PM IST

इंदौर. दस दिनी गणेशोत्सव को लेकर शहर के मंदिरों और गणेश पंडालों में तैयारियां चल रही हैं। गणेशोत्सव की शुरुआत 13 सितंबर से होगी, जो 23 सितंबर तक चलेगा। शहर की कॉलोनियों में गणेश प्रतिमा बैठाने के लिए छोटे-बड़े पंडाल तैयार हो रहे हैं। खजराना गणेश मंदिर में भी गणेश उत्सव की तैयारियां पूरी होने को आई हैं। वहीं बड़ा गणपति, छोटा गणपति, जूना गणेश मंदिर सहित अन्य मंदिरों में तैयारियां लगभग अंतिम दौर में हैं।


मुंबई से आएगी भव्य प्रतिमा

पालदा में इस वर्ष फिर से मुंबई के लालबाग के राजा की स्थापना की जाएगी। गणेशजी की भव्य प्रतिमा मुंबई से तैयार कर बुलवाई जा रही है। मालवा गणेश मंडल के अध्यक्ष मनोज वर्मा ने बताया यहां का पांडाल 80 फीट चौड़ा, 60 फीट लंबा और 31 फीट ऊंचा है। यहां गणेशजी की 21 फीट ऊंची और 15 फीट चौड़ी प्रतिमा स्थापित की जाएगी। वर्मा ने बताया सादगी के साथ मंत्रोच्चार के बीच प्रतिमा की स्थापना की जाएगी। साथ ही गणेशजी को 500 किलो मोतीचूर के लड्डुओं का भोग लगाया जाएगा।


अक्षरधाम मंदिर की दिखेगी प्रतिकृति
गांधी हॉल में पिछले साल हुए गणेशोत्सव का आयोजन इस बार विजय नगर चौराहे के पास होगा। 'इंदौर का राजा' गणेशोत्सव में इस बार गुजरात के गांधी नगर स्थित अक्षरधाम मंदिर की भव्य प्रतिकृति 12 हजार पांच सौ स्क्वेयर फीट में बनाई जा रही है। आयोजक आलोक दुबे ने बताया जो प्रतिकृति तैयार की जा रही है, उसके तल से 151 फीट की ऊंचाई पर केसरिया धर्म ध्वजा लहराएगी। प्रतिकृति में 90 बाय 30 का विशाल गर्भगृह बनाया गया है। 2 नक्काशीदार सितारे छत को भव्यता एवं जीवंत स्वरूप दे रहे हैं तो दीवारों पर कलश, मोरपंख के साथ विशाल पिलर की आकृतियां, कमल पुष्प पर अलग-अलग मुद्राओं में 20 से ज्यादा आकृतियां बनाई गई हैं।


वृंदावन की प्रतिकृति हो रही तैयार
सार्वजनिक महोत्सव समिति के तत्वावधान में जयरामपुर कॉलोनी में गणेश चतुर्थी महोत्सव धूमधाम से मनाया जाएगा। आयोजक अनिल आगा ने बताया इस बार यहां श्रीधाम वृंदावन की प्रतिकृति तैयार की जा रही है। इसमें श्रीकृष्ण रूप में गणेशजी माता यशोदा के साथ विराजित होंगे। गणेशोत्सव में बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ, स्कूल चलें हम और स्वच्छ भारत-स्वस्थ भारत का संदेश भी दिया जाएगा। महोत्सव में 11 फीट के गणेशजी भक्तों को श्रीकृष्ण रूप में माता यशोदा के साथ दर्शन देंगे एवं अन्य 8 श्रीगणेश की श्रीकृष्ण रूपी प्रतिमाओं के रूप में भी भगवान श्रीकृष्ण की बाल लीलाओं को दर्शाया जाएगा।