विज्ञापन

शहर के 3 दोस्तों के स्टार्टअप शॉप किराना को मिली 14 करोड़ की फंडिंग, अब भारत के 10 शहरों का ग्रॉसरी बिज़नेस मॉडल भी बदलेंगे / शहर के 3 दोस्तों के स्टार्टअप शॉप किराना को मिली 14 करोड़ की फंडिंग, अब भारत के 10 शहरों का ग्रॉसरी बिज़नेस मॉडल भी बदलेंगे

Bhaskar News Network

Dec 07, 2018, 03:41 AM IST

Indore News - आज से तकरीबन साढ़े तीन साल पहले इन तीन दोस्तों ने किराना दुकानों का सप्लाय चेन सिस्टम सुधारने के मकसद से इस...

Indore News - grosser business model of 10 cities of india will also change funding of 14 million found in grocery startup shop of 3 city39s friends
  • comment
आज से तकरीबन साढ़े तीन साल पहले इन तीन दोस्तों ने किराना दुकानों का सप्लाय चेन सिस्टम सुधारने के मकसद से इस स्टार्टअप की शुरुआत की थी। शहर के यंग आंत्रप्रेन्योर तनुतेजस सारस्वत, दीपक धनोतिया और सुमित घोरावत एक ऐसा बिज़नेस टु बिज़नेस मॉडल लाना चाहते थे जिसमें सीधे कंपनियों से माल लेकर इन शॉप्स को 24 घंटे में डिलीवर किया जा सके। इन्होंने ये कर दिखाया। शहर के आंत्रप्रेन्योर्स के इस स्टार्टअप को इन्फो एज कंपनी ने 2 मिलियन डॉलर्स यानी करीब 14 करोड़ रुपए की फंडिंग दी है। इससे पहले जापान की सबसे बड़ी फंडिंग कपंनी ने भी इंडिया में सबसे पहले शॉप किराना को ही फंडिंग दी थी। इंदौर में इन्फ्यूजन ड्रिंक्स के मृगांक गुज्जर को अाई5 समिट में 64 करोड़ रुपए की फंडिंग मिल चुकी है। पल्लवी व्यास के शांताफार्म्स और अनिरुद्ध गर्ग व सौरभ राज के मालगाड़ी को भी 5 करोड़ रुपए की फंडिंग मिल चुकी हैं

शॉप किराना कंपनियों से सीधे सामान लेकर 24 घंटे में किराना दुकानों को डिलीवर करती हैं।

फाउंडर तनुतेजस बताते हैं- इंदौर में एक्सपीरियंस लेने के बाद हमने एक्सपांशन प्लान किया है। और इसीलिए हमने फंडिंग के लिए कंपनियों को पिच किया था। इन्फो एज जिसे आमतौर पर नौकरी डॉट कॉम के नाम से जाना जाता है, उसने हमें गुरुवार को 2 मिलियन डॉलर्स की फंडिंग का अप्रूवल दिया। फिलहाल इंदौर में हम दो हज़ार रिटेलर्स को प्रोडक्ट डिलीवर कर रहे हैं। फंडिंग मिलने के बाद हम देश के 10 शहरों में सप्लाय करेंगे। जयपुर, भोपाल, बड़ौदा, पुणे, सूरत, जोधपुर और नागपुर में भी बिज़नेस करेंगे।

300 ब्रैंड्स जुड़े शॉप किराना से

ऑनलाइन कंपनियों की भरमार के बाद भी वे ग्रॉसरी का सिर्फ एक फीसदी व्यापार कर पाती हैं। बाकी 99 फीसदी सप्लाय आज भी किराना दुकानों के माध्यम से होती है। इस बारे में तनुतेजस ने बताया- इन दुकानों की मजबूरी होती है डिस्ट्रिब्यूटर से सामान लेना। कई बार ज़रूरत का सामान इन्हें हफ्तों तक नहीं मिल पाता। ये किराना दुकानों की सबसे बड़ी मुश्किलों में से एक है। हमने इसी को दूर करने के लिए एक प्लेटफॉर्म तैयार किया। देश के 300 बड़े ब्रैंड्स के प्रोडक्ट्स हम इन रिटेलर्स को ऑर्डर के 24 घंटों में उपलब्ध करवा रहे हैं। वे बताते हैं- हमने अपना हेड क्वार्टर भी इंदौर में ही बनाया है। कई फंडिंग कंपनियों ने हमसे दिल्ली या मुंबई जैसे बड़े शहरों में अपना ऑफिस शिफ्ट करने के लिए कहा। हमने फंडिंग ठुकरा दी लेकिन ऑफिस शिफ्ट नहीं किया। हम तीनों फाउंडर्स का मानना है कि जिस शहर से काम शुरू किया है उसी जगह पूरी दुनिया को लाएंगे।

X
Indore News - grosser business model of 10 cities of india will also change funding of 14 million found in grocery startup shop of 3 city39s friends
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन