• Hindi News
  • Mp
  • Indore
  • Heavy Rain, Madhya Pradesh Weather Forecast: Imd Heavy Rain Alert for Dhar, Dewas, Barwani, Malwa nimar

मप्र / मालवा-निमाड़ के ज्यादातर जिलाें में स्कूलों की छुट्‌टी, पशुपतिनाथ जलमग्न, शिप्रा किनारे मंदिर डूबे



Heavy Rain, Madhya Pradesh Weather Forecast: Imd Heavy Rain Alert for Dhar, Dewas, Barwani, Malwa-nimar
X
Heavy Rain, Madhya Pradesh Weather Forecast: Imd Heavy Rain Alert for Dhar, Dewas, Barwani, Malwa-nimar

  • नलखेड़ा में लखुंदर नदी के उफान आने से कई गांवों का संपर्क जिला मुख्यालय से टूटा
  • मौसम विभाग ने मालवा-निमाड़ के धार, अलीराजपुर, देवास, बड़वानी जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया
  • नीमच में बारिश से नीमच सिंगोली मार्ग बंद, नेवडा नाले में बही बाइक

Dainik Bhaskar

Sep 14, 2019, 04:13 PM IST

इंदौर. मालवा निमाड़ में लगातार हो रही आफत की बारिश जारी है। आगर-मालवा जिले के सोयत का मुख्य बाजार पानी-पानी हो गया है। शाजापुर में भारी बारिश से चीलर नदी उफान पर है, जिसके चलते कई गांव पानी-पानी हो गए हैं। बेरछा में घरों में पानी भरने के बाद बचने के लिए लोगों ने छतों की ओर रुख किया। वहीं लखुंदर नदी ने भी रौद्र रूप धारण कर लिया है। नदी किनारे बसे गावों में दो से तीन फीट तक पानी भर गया है।

 

लखुंदर का जलस्तर बढ़ने से शाजापुर-कानड मार्ग बंद हो गया है।  मंदसाैर में भगवान पशुपतिनाथ पूरी तरह से जलमग्न हो गए हैं। उज्जैन में रामघाट स्थित मंदिर जलमग्न हैं। खंडवा में नर्मदा नदी उफान पर होने से मोरटक्का पुल पर 7वें दिन भी आवागमन बंद है। बड़वाह में नर्मदा 164 मीटर पर बह रही है। मौसम विभाग ने मालवा-निमाड़ के धार, अलीराजपुर, देवास, बड़वानी जिलों में शनिवार को भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। 

 

मंदसौर में शिवना ने धारण किया विकराल रूप।

 

शिवना ने पांचवीं बार किया पशुपतिनाथ का अभिषेक
सात दिनों से जारी बारिश ने मंदसौर जिले में आफत मचा दी है। यहां 36 घंटों में हुई 5 इंच बारिश से मल्हारगढ़ में बाढ़ जैसे हालात हो गए। अब तक जिले में 66 इंच बारिश हो चुकी है। जिले में बारिश अधिक होने से जिले में मल्हारगढ़-जीरन, पिपलयामंडी-मनासा, मंदसौर सीतामऊ सहित 20 से अधिक छोटे व बड़े मार्ग बंद रहे। मल्हारगढ़ क्षेत्र में भारी बारिश के चलते कई घरों व गांवों में पानी घुस गया जिससे प्रशासन ने 470 से ज्यादा लोगों को राहत शिविरों में पहुंचाया। इधर, शिवना नदी उफान पर होने से पशुपतिनाथ के गर्भगृह में पानी भर गया। इससे पशुपतिनाथ के नीचे के 4 मुख डूब गए।

 

गांधीसागर बांध के सभी 19 गेट खुले।

 

गांधीसागर के सभी 19 गेट खोले

मंदसौर में भी भारी बारिश के चलते गांधी सागर बांध के सभी 19 गेट खोल दिए गए हैं। बांध से लगातार 3.33 लाख क्यूसेक पानी प्रति सेकंड छोड़ा जा रहा है। गांधीसागर के कार्यपालन यंत्री अरुणसिंह चौहान ने बताया कि बांध में 3 लाख 33 क्यूसेक पानी प्रति सेकंड आ रहा है और इतना ही गेटों से छोड़ा जा रहा है। बहाए जा रहे पानी की मात्रा इतनी है कि इससे डैम आधा भरा जा सकता है। बांध का लेवल 1311 फीट पर मेंटेन किया जा रहा है। क्षमता 1312 फीट है। 

 

उज्जैन में शिप्रा के जल ने बड़ी पुल को छुआ
लगातार हो रही बारिश शिप्रा उफान पर है। छोटा पुल पूरी तरह से डूब गया है, जबकि बड़े पुल से मात्र एक फीट नीचे शिप्रा बह रही है। गंभीर डेम के गेट खाेल दिए गए हैं। अलसुबह हुई तेज बारिश के बाद अंकपात मार्ग स्थित दुर्गा कॉलोनी में सड़क पर डेढ़ फीट तक पानी जमा हो गया। सड़क की सतह से लगकर बने मकानों के आगे के हिस्सों में पानी भर गया। नागझिरी थाना परिसर में भी सुबह पानी जमा हो गया। जिसके कारण थाना परिसर तक पहुंचना मुश्किल हो गया। पुलिसकर्मियों को भी चौपहिया वाहनों के साथ निकलना पड़ा।

 

उज्जैन तहसील के नागदा के पास ग्राम भीलसूड़ा में समय पर इलाज नहीं मिलने से एक बुजुर्ग की शनिवार को मौत हो गई। नाला उफान पर होने से परिजन उसे चारपाई पर नाला पारकर अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। परिजनों के अनुसार यदि नाले पर रपटा होता तो बुजुर्ग की जान बच जाती।

 

मोरटक्का पुल से अभी भी यातायात बंद
इंदौर-इच्छापुर हाईवे स्थित मोरटक्का पुल 7वें दिन भी बंद है। इसके पहले शुक्रवार को एसडीएम ने एमपीआरडीसी के इंजीनियरों के साथ पुल का निरीक्षण किया और सबकुछ ओके पाने के बाद इससे ट्रैफिक पुन: बहाल करने की तैयारी थी, लेकिन शाम 5 बजे अचानक नर्मदा नदी का जलस्तर बढ़ना शुरू हो गया। इसे देखते हुए पुल को बंद ही रखा गया। ओंकारेश्वर बांध के 18 गेटों से बांध प्रबंधन 20 हजार क्यूमेक्स पानी छोड़ रहा है। इस कारण खंडवा से इंदौर जाने वाले वाहन व्हाया खलघाट होते हुए पहुंच रहे हैं। वहीं इंदिरा सागर बांध के 12 गेट से 15,500 क्यूमेक्स तथा पॉवर हाउस से 1840 सहित कुल 17340 क्यूमेक्स प्रति सेकंड पानी छोड़ा जा रहा है।

 

झाबुआ हुआ पानी-पानी
लगातार हो रही बारिश के कारण एक बार फिर नदी-नाले उफान पर आ गए हैं। कई पुलियाओं पर बाढ़ का पानी आने से रास्ते बंद हाे गए हैं। 
कुरैशी कंपाउंड में रामकुला नाले की पुलिया, अनास नदी पर डुंगरा धन्ना जाने वाला पुल डूब गया। जिले में कई जगह ये हालात बने। सड़कों पर लगातार पानी बहता रहा। मेघनगर रोड पर मिंडल में सड़क डूब गई। बामनिया में रेल पटरियों पर पानी भर गया। पड़ोसी गुजरात राज्य के दाहोद में पटरियों पर पानी भरने से दो गाड़ियां दो-दो घंटे देर से चलीं। कुंदनपुर छागोला, टेमरिया-रतलाम मार्ग भी बंद रहे।

 

बारिश से नीमच सिंगोली मार्ग बंद, नेवडा नाले में बहा बाइक सवार
जिले में रातभर से लगातार हो रही बारिश से नेवडा नाला उफान पर आ गया है। वहीं नीमच-सिंगोली मार्ग बंद होने से कई गांवों का संपर्क जिला मुख्यालय से टूट गया है। वहीं नाला पार कर रहे दो बाइक सवार युवक बाइक सहित बह गए, जिन्हें बचा लिया गया। बारिश के कारण बस स्टैंड परिसर में भी पानी भर गया। रतनगढ़ में बारिश के कारण गुंजालिया नदी व बरसाती नाले उफान पर हैं। जावद में रामलीला मैदान के समीप की पुलिया पर 3 से 4 फीट तक पानी अाने से जावद-नयागांव-खोर के बीच संपर्क टूट गया है।

 
इन जिलों में अवकाश घोषित
लगातार बारिश से खंडवा. मंदसौर, झाबुआ, रतलाम, उज्जैन, देवास, शाजापुर, नीमच, आगर-मालवा में जिले के सभी शासकीय व अशासकीय विद्यालयों (सीबीएसई सहित) में विद्यार्थियों के लिए अवकाश घोषित है। वहीं इंदौर में पांचवीं क्लास तक अवकाश घोषित किया गया है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना