Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» Honour Killing Case And Nitesh Massacre

19 साल के स्टूडेंट की गला घोंट की हत्या, फिर बोरे में भरकर पुलिया किनारे फेंकी दी लाश

हत्या रात 11 से 1.30 बजे के बीच होने की आशंका है। इधर, बोरे में बंद मिली नीतेश की लाश के बाद मौके पर लड़की भी पहुंची थी।

Bhaskar News | Last Modified - Jun 12, 2018, 01:58 PM IST

19 साल के स्टूडेंट की गला घोंट की हत्या, फिर बोरे में भरकर पुलिया किनारे फेंकी दी लाश

- मृतक नीतेश के दोस्त ताहिर ने बताया किसी लड़की से उसका प्रेम प्रसंग था।

- भास्कर ने की पड़ताल तो सामने आए शक और जांच के 3 बिंदु।

नागदा (ग्वालियर)।नर्सिंग की ट्रेनिंग ले रहे 19 साल के नीतेश चौहान की गला घोंटकर हत्या कर दी गई। उसका शव बोरे में भरा मिला। हत्या प्रेम-प्रसंग को लेकर की गई है। शुरुआती जांच में ऑनर किलिंग का मामला सामने आ रहा है। इसे लेकर पुलिस को महत्वपूर्ण सुराग भी हाथ लगा है। हालांकि पुलिस ने अभी यह स्पष्ट नहीं किया है कि हत्या किसने और क्यों की।


- जानकारी के मुताबिक रविवार रात 9 बजे बाइक पर सवार दो युवक नीतेश को घर से बुलाकर ले गए थे। उसके बाद सोमवार सुबह 7.30 बजे उसकी लाश मिली।

- जांच के लिए पहुंची एफएसएल टीम की अधिकारी डॉ. प्रीति गायकवाड़ ने बताया- मृतक के गले और शरीर पर चोट के निशान मिले हैं।

- आशंका है कि नीतेश की हत्या एक से अधिक लोगों ने की है। गला दबाने के लिए किसी तार या पतली रस्सी का इस्तेमाल किया गया है। संघर्ष के कोई निशान नहीं मिले हैं।

- हत्या रात 11 से 1.30 बजे के बीच होने की आशंका है। इधर, बोरे में बंद मिली नीतेश की लाश के बाद मौके पर एक लड़की भी पहुंची थी।

- पुलिस को शक है कि वह हत्या को लेकर कुछ तो जानती है। शव के पास से मोबाइल चार्जर मिला है।

1. युवती से प्रेम, परिजन खिलाफ -यह बात सामने आई है कि नीतेश का शहर की ही एक युवती से प्रेम प्रसंग चल रहा था। युवती के परिजन इसके खिलाफ थे। शुरुआती जांच में हत्या की यही वजह सामने आ रही है।

2. दो दिन पहले धमकाया था -पता चला है कि युवती से प्रेम को लेकर ही नीतेश के साथ 3 साल पहले मारपीट हुई थी। वहीं दो दिन पहले भी उसे कुछ युवकों ने धमकाया था कि उक्त युवती से दूर रहे, वरना ठीक नहीं रहेगा।

3. लाश पर मिला लंबा बाल - नीतेश के शव से एक लंबा बाल मिला है। संभवत: यह किसी युवती का है। इसे जांच के लिए भेजा जाएगा। डीएनए से पहचान की जाएगी कि बाल किसका है और हत्या से क्या संबंध हो सकता है।

परिजन अड़े, बोले पहले हत्यारों को गिरफ्तार करो
- पोस्टमार्टम के दौरान परिजनों ने सरकारी अस्पताल में नीतेश का शव उठाने से इनकार कर दिया। पुलिस से परिजन बोले पहले हत्यारों को गिरफ्तार करो उसे बाद ही वे शव ले जाएंगे।

- जांच अधिकारी हेमंतसिंह जादौन व राहुल चौहान ने परिजन को समझाते हुए धैर्य रखने की बात कही। तब परिजन माने और शव ले गए। दोपहर 3 बजे नीतेश का अंतिम संस्कार किया गया।


देर रात पिता ने किया कॉल पर बात नहीं हुई
-नीतेश के परिजन के अनुसार, रविवार रात नीतेश की मां ने उसे रात 8.30 बजे मोबाइल पर कॉल कर दूध लेकर घर लौटने को कहा था। नीतेश दूध लेकर घर पहुंच गया था। इसके बाद रात करीब 9 बजे दो युवक बाइक पर घर आए। युवकों ने बाइक को घर से दूर खड़ा किया था।

- नीतेश इन दोनों युवकों के साथ कुछ देर में घर लौटने का कहकर निकला था। लेकिन जब देर रात घर नहीं पहुंचा तो पिता गोविंद चौहान ने नीतेश को कई बार कॉल किया।

- एक बार मोबाइल रिसीव भी हुआ, लेकिन मगर बात नहीं हो पाई। इस दौरान मोबाइल चालू था और बाइक चलने जैसी आवाज गोविंद को आ रही थी। रात 1.30 बजे नीतेश का मोबाइल स्विच आॅफ हो गया था।


17 को ही ज्वाइन किया था उज्जैन में नर्सिंग कोर्स
- मंडी थाना प्रभारी अजय वर्मा के अनुसार, 17 मई को ही उसने प्रधानमंत्री स्कील्ड योजना के तहत उज्जैन के गुरुनानक हॉस्पिटल में नर्सिंग कोर्स ज्वाइन किया था।

- वो इतना होनहार था कि मात्र 25 दिनों की ट्रेनिंग में ही उसे सम्मानित किया जाने वाला था।

- टीआई के अनुसार, नीतेश किसी के प्यार में था। युवती के घरवाले इसके खिलाफ थे। इसलिए पुलिस इसे ऑनर किलिंग के एंगल से भी जांच कर रही है।


दोस्त बोले- नीतेश कहता था किसी लड़की से प्यार है
- मृतक नीतेश के दोस्त ताहिर ने बताया, किसी लड़की से उसका प्रेम प्रसंग था। हमने कई बार लड़की का नाम पूछा मगर वो टाल जाता था। इतना जरूर पता है जिस लड़की से उसे प्रेम था वो किल्कीपुरा क्षेत्र में रहती है। नीतेश 12वीं पास है।

- कुछ समय निजी क्लिनिक पर काम करने के बाद वह पिछले एक महीने से मेडिकल कोर्स करने वह उज्जैन अप-डाउन करने लगा।

- यह बात हत्यारों को पता थी और शायद यह भी पता था कि रविवार को उसकी छुट्टी रहती है। इसलिए हत्यारों ने उस पर नजर रखी और रात में वारदात को अंजाम दिया।


डॉक्टर के यहां पार्ट टाइम जॉब करता था नीतेश
- नीतेश घर का बड़ा और इकलौता बेटा था। 2 छोटी बहन ज्योति और संजना है। दोनों अविवाहित है। मां प्रेमलता गृहिणी और पिता गोविंद आॅटो चलाते हैं।

- डॉ. प्रमोद बॉथम के यहां वह पार्ट टाइम जॉब भी करता था। परिवार को उससे काफी उम्मीद थी। लेकिन दोपहर में घर पहुंची लाश को देखकर मां प्रेमलता बदहवास है। पिता गोविंद और बहनों की स्थिति भी खराब है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Indore News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: 19 saal ke student ki galaa ghont ki Hatya, fir bore mein bharkar puliyaa kinaare fenki di laash
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×