• Hindi News
  • Mp
  • Indore
  • income tax raid at kamalnath close aide kakkar said he has no connection with hawala

आईटी रेड / कक्कड़ ने आयकर टीम के आने के तरीके को बताया गलत, हाईकोर्ट में दायर की याचिका

Dainik Bhaskar

Apr 09, 2019, 06:10 PM IST



income tax raid at kamalnath close aide kakkar said he has no connection with hawala
X
income tax raid at kamalnath close aide kakkar said he has no connection with hawala
  • comment

  • प्रवीण कक्कड़ के अनुसार - रात में टीम घर का दरवाजा तोड़कर दाखिल हुई
  • टीम ने दो दिन तक कक्कड़ के घर, ऑफिस, बैंक लॉकर सहित अन्य स्थानों पर जांच की

इंदौर. मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी प्रवीण कक्कड़ के घर और ऑफिस में आयकर विभाग की कार्रवाई 46 घंटे बाद समाप्त हो गई। कक्कड़ के बैंक लॉकर में 48 लाख रुपए और घर से 30 लाख की ज्वेलरी मिली। इसके बारे में कक्कड़ के सीए का कहना है कि सारी ज्वेलरी रिर्टन में शो की गई है।

 

मंगलवार को कक्कड़ ने इस कार्रवाई के खिलाफ मप्र हाईकोर्ट की इंदौर खंडपीठ में याचिका दायर की। याचिका में दरवाजा तोड़कर घर में घुसने सहित अन्य बिंदुओं को आधार बनाया गया है। कोर्ट ने सुनवाई के लिए 11 अप्रैल की तारीख तय की है।

 

11 अप्रैल को सुनवाई

याचिका में सीबीडीटी के चेयरमैन, केंद्रीय वित्त सचिव, देश के मुख्य निर्वाचन आयुक्त नई दिल्ली, डायरेक्टर आयकर विभाग (इन्वेस्टिगेशन), मध्य प्रदेश के गृह सचिव व मध्य प्रदेश के डीजीपी को पक्षकार बनाया गया है। याचिका जस्टिस एससी शर्मा और जस्टिस वीरेंद्र सिंह की डिवीजन बेंच में मंगलवार को सुनवाई के लिए लगाई गई, लेकिन जस्टिस शर्मा द्वारा खुद को इस सुनवाई से अलग किए जाने के बाद दूसरी बेंच ने मामले की सुनवाई के लिए 11 अप्रैल की तारीख तय की।

 

आयकर विभाग के दाखिल होने का तरीका गलत- कक्कड़

इसके पहले बातचीत में प्रवीण कक्कड़ ने दिल्ली आयकर टीम के घर में दाखिल होने के तरीके को गलत बताया। उनके अनुसार रविवार रात 3.30 बजे टीम मेरे घर का दरवाजा तोड़ कर अंदर दाखिल हुई। 2 दिन तक छानबीन के बाद भी उन्हें जब्त करने लायक कुछ नहीं मिला। घर-ऑफिस और दोनों बैंक लॉकर भी चेक किए। सीबीडीटी ने जो प्रेस रिलीज जारी की है उसके बारे में मुझे जानकारी नहीं।

 

आयकर विभाग ने 2 लाख में बुक किए थे वाहन

उधर, आयकर विभाग की कार्रवाई को लेकर खुलासा हुआ कि विभाग की एक टीम कुछ महीने पहले इंदौर में सर्वे करने आई थी, जिसके बाद ही पूरी प्लानिंग तैयार हुई। टीम ने इंदौर में एक साथ 10 ठिकानों पर सर्वे की कार्रवाई  की थी। टीम ने कार्रवाई के लिए दो दिन के लिए 25 वाहन 2 लाख रुपए में बुक किए थे।

 

कार्रवाई वाली रात सभी आयकर अधिकारी इंदौर एयरपोर्ट पर उतरने के बाद सांवेर रोड पर एकत्रित हुए थे। यहां पर ज्वाॅइंट कमिश्नर के अलावा सभी अधिकारियों के मोबाइल बंद करवा दिए गए थे। यहां से सभी अधिकारियों को सिर्फ लोकेशन बताकर भेजा गया था, इस दौरान उन्होंने किसी का नाम नहीं बताया था। इसके बाद रात 3 बजे एक 50 से ज्यादा अधिकारियों के साथ साथ सभी जगह कार्रवाई शुरू की गई।

 


सीबीडीटी के खुलासे

  • सीबीडीटी ने बताया कि 50 जगहों पर हुई आयकर विभाग की कार्रवाई में 14.6 करोड़ रु. का बेहिसाबी कैश, 252 शराब की बोतलें, हथियार और बाघ की खालें भी जब्त की गई।
  • "एक वरिष्ठ पदाधिकारी के करीबी रिश्तेदार के समूह के दिल्ली स्थित ठिकानों पर छापों के दौरान कई सबूत मिले। इनमें एक कैशबुक भी शामिल है, जिसमें 230 करोड़ के बेनामी लेनदेन का जिक्र है।"
  • सीबीडीटी के मुताबिक, कैशबुक के अलावा 242 करोड़ रु. की रकम के फर्जी बिलों के जरिए हेरफेर और टैक्स हैवेन कहे जाने वाले देशों में 80 कंपनियों की मौजूदगी के सबूत भी मिले हैं।
  • दिल्ली के पॉश इलाकों में कुछ बेनामी संपत्तियों का भी खुलासा हुआ है।
कक्कड़ की पत्नी को टीम बैंक लेकर गई।

 

कक्कड़ की पत्नी बेटे को बैंक और दफ्तर लेकर गई टीम : मंगलवार को प्रवीण कक्कड़ की पत्नी साधना को लेकर आईडीबीआई बैंक गई और लॉकर खुलवाया। इसमें से 48 लाख रु. की ज्वेलरी मिली। इसके पहले घर से 30 लाख की ज्वेलरी भी मिली। ‌आयकर की टीम दोपहर में कक्कड़ के बेटे सलिल को लेकर बीसीएम हाइट्स गई, यहां पर उनकी थर्ड आई, शरद बिल्डर्स, ऐश्वर्या बिल्डर्स और अन्य कंपनियों के दफ्तर हैं, जिसमें वह डायरेक्टर है। 

 

दिल्ली में मिगलानी के यहां इलेक्शन बॉन्ड खरीदे जाने के दस्तावेज मिले: कमलनाथ के सलाहकार राजेन्द्र मिगलानी के घर 30 घंटे से ज्यादा समय तक छापामारी चली। विभाग को इलेक्शन बाॅन्ड खरीदे जाने के दस्तावेज मिले हैं। दस्तावेज में लिखा है ‘इलेक्शन बान्ड-200’। छापे में अनेक डायरियां और कम्प्यूटर पर पिछले कुछ महीनों का हिसाब भी मिला है। इन दस्तावेजों में दुबई में भी एक प्रॉपर्टी खरीदे जाने का जिक्र है। फर्जी शेल कंपनियों के जरिए 250 करोड़ रुपये से ज्यादा का काला धन सफेद किए जाने का शक जताया जा रहा है। 

 

अश्विन शर्मा- प्रतीक जोशी के यहां 10.46 करोड़ कैश मिला : अश्विन शर्मा और प्रतीक जोशी के यहां सोमवार सुबह 1.46 करोड़ रुपए की नकदी की और बरामदगी की गई। इसके दो बाद दो दिन की कुल जमा नकदी 10.46 करोड़ रु. हो गई। इसके अलावा 281 करोड़ रुपए के ट्रांजेक्शन के प्रमाण भी मिले।

 

 

कक्कड़ के बेटे से भी कई बार पूछताछ की गई।

 

डीजीपी का सीएस को पत्र: सीआरपीएफ के इस्तेमाल का मुद्दा केंद्र के सामने उठाएं: आयकर छापों में राज्य पुलिस की जानकारी के बिना सीआरपीएफ के इस्तेमाल को लेकर डीजीपी वीके सिंह ने आपत्ति जताते हुए मुख्य सचिव को पत्र लिखा है। इसमें उन्होंने सीएस से आग्रह किया है कि वे इस मुद्दे को केंद्र सरकार के समक्ष उठाएं।

COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन