मध्यप्रदेश / इंदौर रीजन के चार लाख करदाताओं को आयकर ने किया 700 करोड़ का रिफंड नेट टैक्स 2173 करोड़ रुपए मिला



Income tax refund of 700 million rupees for four lakh taxpayers
X
Income tax refund of 700 million rupees for four lakh taxpayers

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2019, 06:53 AM IST

इंदौर . वित्तीय साल समाप्त होने के बाद आयकर विभाग इंदौर रीजन ने पूरे साल का टैक्स कलेक्शन का हिसाब निकाला है। वित्तीय साल 2018-19 के दौरान आयकर विभाग ने इंदौर रीजन में इस बार 2800 करोड़ रुपए से ज्यादा का राजस्व हासिल किया। इसमें से चार लाख से अधिक करदाताओं को रिफंड के बतौर करीब 700 करोड़ लौटा दिए। इसके चलते नेट टैक्स कलेक्शन 2173 करोड़ रुपए रहा, जबकि लक्ष्य 2597 करोड़ था। हालांकि पूरे देश में ही इस बार लक्ष्य से कम टैक्स कलेक्शन रहा है।

 

सीबीडीटी के आंकड़ों के अनुसार इस बार देशभर से करीब 85 हजार करोड़ रुपए टैक्स कम मिला है। इंदौर रीजन में बीते दो साल में करीब 4 लाख करदाता बढ़ गए और कुल संख्या 11 लाख हो चुकी है। 

 

इसके बाद भी करीब 40 फीसदी करदाता केवल रिटर्न फाइल करते हैं और इनसे विभाग को टैक्स नहीं मिलता है। यानी इंदौर रीजन के करीब 4 लाख 40 हजार करदाता आयकर राजस्व में कोई योगदान नहीं देते हैं, लेकिन वह रिटर्न जरूर फाइल करते हैं। अब आयकर एक्ट के नए प्रावधान के चलते ढाई लाख रुपए के स्लैब को बढ़ाकर पांच लाख रुपए कर दिया है। यानी सालभर में पांच लाख रुपए तक कमाने वाले को टैक्स देने की जरूरत नहीं है। हालांकि उन्हें रिटर्न जरूर भरना है। 
करदाता संख्या बढ़ाने पर विभाग का जोर- इंदौर रीजन के चीफ कमिश्नर रहते हुए अजय कुमार चौहान ने दो साल में इंदौर रीजन में करदाता बढ़ाने के लिए सतत मुहिम चलाई, जिसके चलते करीब चार लाख करदाता दो साल में ही बढ़ गए। इसके चलते बीते साल टैक्स कलेक्शन में भी इंदौर रीजन टैक्स ग्रोथ में देश में पहले नंबर पर रहा और इस बार भी टैक्स कलेक्शन रिकॉर्ड स्तर पर हुआ, लेकिन रिफंड में करदाताओं को राहत मिली और 700 करोड़ रुपए वापस करदाताओं के खाते में आ गए।
 

 

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना