विज्ञापन

पुलिस को देखते ही युवक के छूट गए पसीने, तलाशी ली तो बनियान से एक-एक कर निकलीं 20 लाख की गड्डियां

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 04:15 PM IST

आए दिन इस तरकीब से छिपाकर ले गए इतने रुपए

  • comment

इंदौर (मध्य प्रदेश)। एसटीएस और बेटमा पुलिस ने दो युवकों को 29 लाख 50 हजार रुपए के साथ गिरफ्तार किया है। हवाला की ये रकम इंदौर से अहमदाबाद ले जाई जा रही थी। पकड़े गए आरोपियों में एक इंदौर का है तो दूसरा गुजरात का। एक ने बनियाननुमा जैकेट में 20 लाख रुपए छिपा रखे थे, जबकि दूसरे ने सूटकेस में 9.50 लाख रुपए रखे थे। पुलिस और आयकर विभाग की पूछताछ के बाद पुलिस ने इंदौर में श्रीवर्धन कॉॅम्प्लेक्स स्थित एक दफ्तर और सूरत में एक साथ छापामार कार्रवाई की। दोनों जगह से बड़ी मात्रा में हवाला से संबंधित दस्तावेज बरामद किए गए।

बेटमा टीआई डीपीएस चौहान ने बताया कि शुक्रवार रात 11 बजे के करीब इंदौर से अहमदाबाद जा रही धारीवाल ट्रेवल्स की बस की तलाशी में दो लोगों को पकड़ा गया। इनके नाम मितुल चौहान (21) निवासी गुजरात और प्रदीप मनुभाई दर्जी (32) निवासी इंदौर हैं। दोनों ही रुपयों को लेकर संतोषजनक जवाब नहीं दे सके। पुलिस ने रुपए जब्त कर आयकर विभाग को सूचना दी। इस पर विभाग के असिस्टेंट कमिश्नर आशुतोष मिश्र ने जांच शुरू की।

बनियान नुमा जैकेट में उसने छिपा रखीं थीं 20 लाख की गड्डियां

प्रदीप ने पूरे पैसे खुद के बताए, लेकिन वह उसका कोई सोर्स नहीं बता सका है। ये रुपए उसके द्वारा मितुल के जरिये अहमदाबाद भेजे जा रहे थे। मितुल के पास से पुलिस को तलाशी में एक ऐसा बनियान नुमा जैकेट मिला है, जिसमें उसने 20 लाख की गड्डियां (500 व 2 हजार की) छिपा रखी थी। वहीं प्रदीप ने साढ़े 9 लाख रुपए बस के ड्राइवर सोनू पिता गोविंद यादव (27) और सेकंड ड्राइवर राकेश पिता हीरालाल रेश्वाल(23) निवासी महेश्वर के जरिये ड्राइवर सीट के नीचे बने एक केबिन में छिपा दिए थे। सूत्रों की मानें तो आरोपी हवाला के रुपए इसी बॉक्स में छिपाकर ले जाते थे।

आरएनटी मार्ग स्थित श्रीवर्धन कॉॅम्प्लेक्स से चलता है पूरा रैकेट

आरोपी प्रदीप से पूछताछ में पता चला वह कोरियर की आड़ में श्री वर्धन कॉॅम्प्लेक्स से हवाला का अवैध कारोबार संचालित करता है। शनिवार सुबह जैसे ही श्रीवर्धन कॉम्प्लेक्स में दफ्तर खोला गया, आयकर विभाग ने जांच शुरू कर दी और बड़ी मात्रा में हवाला राशि संबंधी दस्तावेज जब्त कर लिए। प्रारंभिक जांच में आया है कि दस्तावेजों में एक करोड़ से अधिक की राशि को हवाला के जरिए इंदौर-मुंबई के बीच भेजा गया था। यहां पर दशरथ पटेल द्वारा हवाला का कारोबार संचालित किया जा रहा था। इन्वेस्टिगेशन विंग के ज्वॉइंट डायरेक्टर सतपाल मीना द्वारा इस कार्रवाई को संचालित किया जा रहा है। कार्रवाई रविवार तक चलेगी और इन जगहों से मिले दस्तावेजों के आधार पर सभी कारोबारियों से पूछताछ की जाएगी।

X
COMMENT
Astrology
विज्ञापन
विज्ञापन