हादसा / दवाई फैक्टरी में काम करते वक्त करंट लगने से 14 साल के मासूम की मौत

परिजन बोले - बच्चा बैतूल से इंदौर घूमने का कहकर आया था। परिजन बोले - बच्चा बैतूल से इंदौर घूमने का कहकर आया था।
X
परिजन बोले - बच्चा बैतूल से इंदौर घूमने का कहकर आया था।परिजन बोले - बच्चा बैतूल से इंदौर घूमने का कहकर आया था।

  • साथियों का आरोप- किसी ने कटी केबल में सरिया लपेट कर रखा था
  • बैतूल निवासी मासूम सांवरे रोड स्थित फैक्ट्री में काम करता था

दैनिक भास्कर

Feb 07, 2020, 05:20 PM IST

इंदौर. सांवेर रोड की एक दवाई फैक्टरी में काम कर रहे 14 साल के मासूम की करंट से मौत हो गई। सहकर्मियों का कहना है कि यह हादसा प्रबंधन की लापरवाही से हुआ है। एक हाल में कटी हुई केबल में एक सरिया लपेटकर रखा हुआ था। मासूम ने काम करते वक्त उसे पकड़ लिया, जिससे उसकी मौत हो गई। पुलिस ने शव का पोस्टमॉर्टम करवाकर दवाई फैक्टरी के खिलाफ जांच शुरू की है।


बाणगंगा पुलिस के अनुसार हादसा सेक्टर - 2 में बुधवार शाम को हुआ, जिसमें बैतूल के चिचौड़ा में रहने वाले 14 वर्षीय राजा पिता उत्तम सूर्यवंशी की मौत हो गई। साथी कर्मचारी गुलाब सिंह ने बताया कि वह इंदौर में एक रिश्तेदार के यहां रहकर दवाई फैक्टरी में काम कर रहा था। बुधवार को काम करते वक्त उसने एक यहां रखा एक सरिया पकड़ लिया, जिससे उसे करंट लगा और वह दूर जा गिरा। उसे तत्काल अस्पताल पहुंचाया गया, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।

जांचकर्ता एसआई आलोक मिठास के अनुसार इस मामले में प्रारंभिक तौर पर दवाई फैक्टरी संचालक या प्रबंधन की लापरवाही सामने आई है। मामले में यह भी जांचा जाएगा उसने बाल श्रमिक काम पर क्यों रखा था। हालांकि परिजन को अभी उसकी सही उम्र नहीं पता है। वे उसकी उम्र 14 से 16 के बीच बता रहे हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना