कार्रवाई / निगम ने खाली कराई 4 मंजिला जर्जर बिल्डिंग, छज्जा गिरने से महिला पुलिस अधिकारी को आई थी चोट



शॉप मालिकों ने अपने नए पते का बोर्ड लगा दिया है। शॉप मालिकों ने अपने नए पते का बोर्ड लगा दिया है।
X
शॉप मालिकों ने अपने नए पते का बोर्ड लगा दिया है।शॉप मालिकों ने अपने नए पते का बोर्ड लगा दिया है।

  • 3 जनवरी को छावनी में हुए हादसे में शुजालपुर एसडीओपी घायल हुई थीं
  • चार मंजिला इस मकान के ऊपरी माले का छज्जा गिर गया था

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 02:14 PM IST

इंदौर. नगर निगम ने आखिरकार छावनी में मौजूद उस चार मंजिला बिल्डिंग को खाली करवा लिया है, जिसका पिछले सप्ताह छज्जा गिरने से एक महिला पुलिस अफसर घायल हो गई थी। निगम के खाली करवाने के बाद सोमवार दोपहर टीम ने बिल्डिंग को सील कर दिया। बिल्डिंग को खाली करवाने को लेकर निगम को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। यहां आठ किराएदार और एक डॉक्टर का क्लीनिक चल रहा था।

 

निगम के अनुसार टीम ने रविवार देर रात तक 8 किरायेदारों और एक डॉक्टर का क्लिनिक खाली करवाया। लोगों ने पहले विरोध किया फिर देर रात सामान हटाना शुरू किया। सोमवार को सामान हटा लेने के बाद टीम ने बिल्डिंग को सील कर दिया। टीम के अनुसार इस जर्जर बिल्डिंग में 5 दुकानें भी चल रही थीं, उन्हें भी खाली करवा लिया गया है। निगम सालभर पहले ही इन दुकानों और पूरे भवन को खतरनाक घोषित कर चुका था। फिलहाल रहवासियों ने निगम अफसरों से चर्चा में कहा है कि बिल्डिंग का दोबारा सर्वे हो, जिससे यह पता किया जा सके कि यह कितनी खतरनाक है। वहीं निगम का कहना है कि हफ्तेभर पुरानी घटना के बाद ही इस बिल्डिंग का दोबारा सर्वे करवाया गया है।

मल्टी में संचालित होने वाली सभी दुकानें खाली करवाई।

महिला अधिकारी ने कूदकर बचाई थी खुद की जान

 3 जनवरी को योगितागंज थाने के पास एक चार मंजिला बिल्डिंग का छज्जा अचानक गिर गया था। जिस वक्त हादसा हुआ, वहां से शुजालपुर में पदस्थ एसडीओपी दीपाली जैन (33) निवासी रेसीडेंसी एक्टिवा से गुजर रही थीं। उन्होंने बताया वे सुबह 10 बजे एक्टिवा से छावनी जैन मंदिर दर्शन करने निकली थीं। 10.15 बजे संयोगितागंज थाने के पास बिल्डिंग का छज्जा गिरते देख एक्टिवा (एमपी 04 एमजी 5638) से कूद गईं। इससे दोनों घुटनों में चोट आई। एसडीओपी छज्जा नहीं देखतीं तो वह उनके सिर पर गिर सकता था। छज्जा मकान के नीचे खड़ी गाड़ी (एमपी 09 सीक्यू 1044) पर गिरा, जिससे गाड़ी की छत क्षतिग्रस्त हो गई और पीछे का कांच भी फूट गया। घटना के बाद निगम की टीम पहुंची और 4 घंटे कार्रवाई कर बिल्डिंग के क्षतिग्रस्त हिस्से को तोड़ दिया। पुलिस ने जैन की शिकायत पर मकान मालिक पर केस दर्ज किया था।

 

मल्टी को निगम खतरनाक घोषित कर चुकी है।

 

COMMENT