प्रकाश पर्व / गुरुनानक देव की 550वीं जयंती पर निकली प्रभातफेरियों का समाजजनों ने किया स्वागत

X

  • चार दिनी आयोजन शुरू : गुरुद्वारा इमली साहिब में बांटेंगे पिन्नी प्रसाद, 11 व 12 को सजेगा विशेष दीवान

दैनिक भास्कर

Nov 09, 2019, 01:51 PM IST

इंदौर. सिख समुदाय गुरु नानक देव की 550वीं जयंती और प्रकाश पर्व हर्ष और उल्लास के साथ मना रहा है। इस मौके पर सिखों के पाकिस्तान स्थित तीर्थ स्थल गुरुद्वारा दरबार साहिब और भारत स्थित डेरा बाबा नानक साहिब को जोड़ने वाले करतारपुर कॉरिडोर को आज खोल दिया गया। श्री गुरु सिंघ सभा द्वारा 9 से 12 नवंबर तक आयोजन किए जाएंगे। पहले दिन सभी गुरुद्वारों से निकाली गई प्रभातफेरियों का स्वागत किया।

 

प्रकाश पर्व को लेकर सिख समाज द्वारा गुरुद्वारों पर विशेष सजावट की गई है। यहां भजन-कीर्तन का दौर जारी है। यह पर्व समाज के हर व्यक्ति को साथ में रहने, खाने और मेहनत से कमाई करने का संदेश देता है। प्रकाश पर्व यानी मन की बुराइयों को दूर कर उसे सत्य, ईमानदारी और सेवाभाव से प्रकाशित करना। 

 

श्री गुरु सिंघ सभा के अध्यक्ष मनजीतसिंह भाटिया व महासचिव जसबीरसिंह गांधी ने बताया प्रकाश गुरुपर्व के अंतर्गत शहर के सभी गुरुद्वारा साहिब से 28 अक्टूबर से परंपरागत तरीके से प्रभातफेरियां निकाली जा रही हैं। इन प्रभातफेरियों का स्वागत 9 नवंबर को सुबह 6 बजे ऐतिहासिक गुरुद्वारा इमली साहिब पर पुष्प वर्षा कर किया गया। संगतों को पिन्नी, पोहे, दूध सहित अन्य का प्रसाद का वितरण किया गय है।

 

कई कीर्तनकार और रागी जत्थे करेंगे शबद-कीर्तन
11 व 12 नवंबर को चार विशेष दीवान सजाए जाएंगे। 11 नवंबर को सुबह का दीवान ऐतिहासिक गुरुद्वारा इमली साहब पर सजाया जाएगा। शाम के विशेष दीवान गुरु तेग बहादुर स्टेडियम, खालसा कॉलेज में सजाए जाएंगे। 12 नवंबर को प्रकाश गुरुपर्व का मुख्य दीवान अलसुबह 5.30 बजे से निरंतर रात 2 बजे तक खालसा कॉलेज में सजाया जाएगा। विशेष दीवानों में कीर्तनकार भाई जसबीर सिंह, भाई बलजीतसिंह नामधारी, भाई तेजिंदरसिंह खन्ना वाले एवं ज्ञानी अजीत सिंह इंदौर आ रहे हैं। इनके साथ ही हजूरी रागी जत्था ऐतिहासिक गुरुद्वारा इमली साहब, भाई सतपाल सिंह प्रकाश पर्व में सजाए जा रहे दीवानों में अपने मधुर कीर्तन एवं अमृतमयी वचनों से आई संगतों को निहाल करेंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना