--Advertisement--

कार्रवाई / एमवाय अस्पताल परिसर में कर्मचारियों के मकान तोड़ने पहुंचा बुलडोजर, विरोध में सड़क पर उतरे रहवासी

Dainik Bhaskar

Jan 13, 2019, 01:10 PM IST


Initiative to break encroachment at MY hospital Indore
X
Initiative to break encroachment at MY hospital Indore

  • दो बार दिया था मकान खाली करने का नोटिस, पैरामेडिकल इंस्टीट्यूट का होना है निर्माण
     

इंदौर. एमवायएच परिसर में रह रहे तृतीय व चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के मकान तोड़ने की कार्रवाई रविवार को शुरू हो गई। बुलडोजर सुबह-सुबह केईएच कंपाउंड पहुंचा। मशीन को घरों की तरफ बढ़ता देखकर रहवासी सड़क पर उतर गए। लोगों का दो दिन पहले ही मकान खाली करने का नोटिस दिया गया था। जबकि कॉलेज प्रशासन का कहना है कि एक साल पहले ही नोटिस दिया था इसके अलावा सात दिन पूर्व भी नोटिस दिया गया था। 


ओपीडी बिल्डिंग के पीछे केईएच कंपाउंड में स्टाफ क्वार्टर दिए गए है। मेडिकल कॉलेज कई नए प्रोजेक्ट शुरू होने जा रहे हैं। पैरामेडिकल इंस्टीट्यूट के लिए इस जमीन को खाली करवाया जाना है। तीन दिन पहले ही कॉलेज प्रशासन ने मकान खाली करने का नोटिस दिया था। इस पर स्टाफ विरोध दर्ज करवाने पहुंचे। उनका कहना था इतने कम समय में  मकान खाली कैसे करेंगे। इस पर डीन डॉ. ज्योति बिंदल ने उन्हें कहा कि आप लोगों को आईडीए से बात कर वहां शिफ्ट करवाया जाएगा।


एक साल पहले नोटिस दिए थे स्टाफ
पीडब्ल्यूडी के प्रमाण पत्र के अनुसार यह मकान रहने लायक नहीं है। कॉलेज प्रशासन का कहना है कि एक साल पहले ही आवंटन रद्द किया जा चुका था। एक साल पहले  नोटिस भी दिया जा चुका था।

 

कई लोगों ने खाली कर दिया था। कुछ लोगों ने खाली नहीं किया। हमने सात दिन पहले ही इन्हें आवंटन निरस्त कर खाली करवाने के लिए कहा। यदि कल कोई अप्रिय स्थिति हुई तो उसका जिम्मेदार कौन होगा। एडीएम के आदेश है कि इन्हें तोड़ा जाए।

Astrology
Click to listen..