पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • Kailash Vijayvargiya: BJP Leader Kailash Vijayvargiya On MP CM Kamal Nath Over MP Honey Trap Case

विजयवर्गीय ने कमलनाथ पर गंभीर आरोप लगाए, कहा- हनीट्रैप मामले में सीएम अधिकारियों की उंगलियों पर नाच रहे

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय मानव तस्करी मामले में शिकार हुए पीड़ित परिवारों से भी मिले
  • यूरिया संकट को लेकर कहा- मुख्यमंत्री मैनेजमेंट में फेल, किसानों बोल रहे यूरिया की कालाबाजारी हो रही

इंदौर. हनीट्रैप मामले में मंगलवार को भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने मुख्यमंत्री कमलनाथ पर सीधा हमला बोला। विजयवर्गीय ने कहा- मुख्यमंत्री इस मामले में उन अधिकारियों की उंगलियों पर नाच रहे हैं जो इसमें शामिल हैं। उन्होंने अधिकारियों को चेतावनी दी कि यदि सरकार ने उनके नाम सामने नहीं लाए तो इसका खुलासा करेंगे। इस दौरान वे मानव तस्करी के मामले में शिकार हुए कुछ पीड़ित परिवार के लोगों से भी मिले। उन्होंने कहा कि होटल माय होम मामले में पुलिस-प्रशासन ने गरीब आर्केस्ट्रा वाले और वेटरों पर मानव तस्करी के केस दर्ज किए हैं, जबकि उनका इसमें कोई हाथ नहीं है।


विजयवर्गीय ने कहा कि मेरा एक गंभीर आरोप मुख्यमंत्री पर है। हनीट्रैप मामले में मुझे जानकारी मिली है कि इसमें बड़े-बड़े अधिकारी शामिल हैं। यदि अधिकारी ऐसे मामले में शामिल हों और बचने के लिए इंदौर जैसे बड़े धमाके करें। इन धमाकों से वे अधिकारी बच नहीं पाएंगे। मैं उन अधिकारियों को चेतावनी देता हूं कि इसमें जो भी शामिल हैं, वे बच नहीं पाएंगे। यदि सरकार ने नहीं किया तो हम करेंगे।

ममता बंगाल की मुख्यमंत्री, बांग्लादेश की नहीं- कैलाश
बंगाल में एनआरसी लागू नहीं होने देने के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बयान पर कहा कि ममताजी ने भारतीय संविधान पढ़ा है या नहीं, ये नहीं पता। हमारे यहां संघीय ढांचा है। केंद्र सरकार की जवाबदारी केंद्र करती है, राज्य की जवाबदारी राज्य सरकार करती है। नागरिकता देना केंद्र की जवाबदारी है। केंद्र कानून बनाकर संसद में पारित कर ऐसा कर सकता है। ममताजी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री हैं, बांग्लादेश की नहीं। इस प्रकार के बचकाना बयान एक मुख्यमंत्री दे तो फिर क्या कहा जा सकता है।
 

कर्जमाफी की नहीं, किसानों को यूरिया ही दे दो
भाजपा सरकार आने के बाद यूरिया की कमी दूर हो गई थी। हमने मैनेजमेंट करते हुए हमने पहले यूरिया खरीदा और समय से पहले लोन देकर किसानों तक यूरिया पहुंचा दिया। कहा- कमलनाथजी के पास मैनेजमेंट है ही नहीं। उन्हें समझ नहीं आ रहा है कि यूरिया कैसे बांटें। उन्होंने कहा- कर्जमाफी तो की नहीं, कम से कम किसानों को यूरिया तो दे दो। किसान यूरिया के लिए आंदोलन कर रहे हैं तो उन्हें डंडा दिखा रहे हैं। किसानों का आरोप है कि यूरिया को लेकर जमकर कालाबाजारी हो रही है।

कांग्रेस में शक्ति प्रदर्शन से नेता बनते
कैलाश ने कहा कि कांग्रेस में शक्ति प्रदर्शन बहुत सामान्य बात है। जिस व्यक्ति को बड़ा नेता बनना होता है तो वह शक्ति प्रदर्शन करेगा। कमलनाथजी को यदि ज्योतिरादित्य सिंधिया को प्रदेश अध्यक्ष नहीं बनने देना होगा तो वे ढेर सारी भीड़ लेकर दिल्ली जाएंगे। यदि सिंधियाजी को प्रदेश अध्यक्ष बनना होगा तो वे भी भीड़ लेकर पहुंचेंगे। यह भीड़ एकत्रित करने का एक अच्छा माध्यम है।

कांग्रेस का चेहरा पूरी तरह उजागर
कैलाश ने नागरिक संशोधन बिल पर कांग्रेस पर निशाना साधा। कहा- इस बिल के माध्यम से कांग्रेस का असली चेहरा सामने उजागर हुआ है। कांग्रेस ने पूरी ताकत से विरोध किया। कांग्रेस खुद को बहुत बड़ी धर्मनिरपेक्ष पार्टी बताती है। उनकी धर्मनिरपेक्षता देखिए कि वह केरल में कट्‌टर इस्लामिक पार्टी मुस्लिम लीग के साथ मिलकर सरकार बनाती है। महाराष्ट्र में वह कट्‌टर हिंदूवादी पार्टी के साथ सरकार बनाती है। कांग्रेस को सिर्फ सत्ता और कुर्सी चाहिए। इसके अलावा उनकी कोई विचारधारा नहीं है। इस बिज के जरिए आज तक जो कुर्सी से चिपके रहे उनके चेहरे भी बेनकाब हुए हैं।