--Advertisement--

कंट्रोल रूम में अफसर क्राइम रोकने की बात कर रहे थे, सुबह पौन किमी दूर युवक को चाकू घोंपा

बाइक सवार दो बदमाशों ने बिना वजह एक युवक को चाकू मार दिया।

Danik Bhaskar | Jun 10, 2018, 06:48 AM IST

इंदौर. शहर में अपराध नियंत्रण के लिए शुक्रवार देर रात डीआईजी ने पुलिस कंट्रोल रूम में बैठक ली, लेकिन इसके कुछ ही घंटे बाद यहां से पौन किमी दूर शनिवार सुबह 6 बजे हाई कोर्ट तिराहे पर बाइक सवार दो बदमाशों ने बिना वजह एक युवक को चाकू मार दिया। ऐसी ही घटना भंडारी ब्रिज के पास हो गई। दोनों में बदमाश हाथ नहीं आए। डीआईजी ने एमजी रोड और तुकोगंज थाना प्रभारियों से जवाब मांगा है।


- नंदबाग निवासी लोडिंग रिक्शा चालक विजय (36) साइकिल से घर जा रहा था, तभी भंडारी ब्रिज के पास बाइक सवार दो बदमाश आए और उसे चाकू मार दिया। राहगीरों की मदद से विजय ने परिजन को सूचना दी और एमवायएच पहुंचा।

न विवाद था न जानते थे, फिर भी कर दिया हमला

- दूसरी घटना हाई कोर्ट तिराहे के पास हुई। पंचम की फैल निवासी देवराम (32) ने बताया कि वह शनिवार सुबह साइकिल से होटल में काम करने जा रहा था। बाइक सवार दो बदमाशों ने उसे चाकू मारकर घायल कर दिया। घटनास्थल के पास ही तुकोगंज थाना है और पुलिस पाॅइंट भी लगता है। दोनों घायलों ने बताया कि उनका न तो किसी से विवाद था, ना ही बदमाशों को वे जानते थे। पुलिस अधिकारियों को दोनों वारदात में एक ही गिरोह होने की आशंका है। पुलिस चौराहों पर लगे आरएलवीडी और सीसीटीवी कैमरे के फुटेज खंगाल रही है।

7 दिन पहले घुसे थे एसपी के घर

एसपी रेडियो सुनील राजोरा के पोलोग्राउंड स्थित घर में सप्ताह भर पहले घुसे चोरों ने उन्हें कमरे में बंद कर दिया था। बाद में वे सामान व रुपए चुरा ले गए थे। वे अब तक नहीं पकड़ाए हैं।


भूरिया के घर में घुसने की कोशिश
चार दिन पहले ही स्कीम नंबर 78 में रहने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री कांतिलाल भूरिया के मकान में भी दो बदमाशों ने घुसकर चोरी की कोशिश की थी। इनका भी पता नहीं लगा।

व्यापारी की हत्या, महेश्वर में नर्मदा किनारे मिला शव

- नंदा नगर के एक घड़ी व्यापारी की हत्या कर दी गई। वह शुक्रवार शाम से लापता था। शनिवार सुबह उसका शव महेश्वर में नर्मदा किनारे मिला। हाथ व पैर रस्सी से बंधे थे। शरीर पर कई जगह चोट के निशान थेे।
- परदेशीपुरा पुलिस के अनुसार, व्यापारी 48 वर्षीय सुनील पिता मुन्नीलाल भिलवारे थे। परिचित अशोक ने बताया सुनील की घड़ी की दुकान है और वे ब्याज पर रुपए भी देते थे। पत्नी अंजू ने पुलिस को बताया वे शुक्रवार शाम साढ़े 7 बजे घर से किसी से पेमेंट लेकर आने का बोलकर निकले थे। रात 11 बजे तक नहीं लौटे तो फोन किया लेकिन फोन भी बंद मिला। परिजन ने शुक्रवार देर रात गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई। वायरलेस सेट पर महेश्वर से मैसेज का प्रसारण हुआ और लाल शर्ट पहने एक व्यक्ति का शव मिलने की सूचना मिली तो पुलिस ने परिजन से उनका हुलिया पूछा। पहनावे का मिलान हुआ तो परिजन ने परदेशीपुरा थाने पहुंचकर टीआई राजीव त्रिपाठी को शव की पहचान करने को कहा। टीआई तने वाट्सएप पर मृतक के फोटो महेश्वर पुलिस से मंगवाए तो परिजन ने पहचान की।