पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Indore
  • MP School Teacher Transfer: Kolaras MLA Virendra Singh Raghuvanshi On Kamal Nath Govt Over School Teacher Transfer

विधायक बोले- कमलनाथ सरकार ने एक साल में दो ही काम किए, एक तबादला उद्योग और दूसरा लूटो..खाओ.. सरकार बचाओ

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कोलारस के विधायक वीरेन्द्र सिंह रघुवंशी ने मीडिया से बात की। - Dainik Bhaskar
कोलारस के विधायक वीरेन्द्र सिंह रघुवंशी ने मीडिया से बात की।
  • शिवपुरी जिले के कोलारस विधायक वीरेन्द्र सिंह ने मुख्यमंत्री और उनके मंत्रिमंडल पर गंभीर आरोप लगाए

इंदौर. मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने पिछले एक साल में दो ही काम किए हैं- पहला तबादला उद्योग और दूसरा लूटो.. खाओ.. सरकार बचाओ। यह जुबानी हमला मुख्यमंत्री कमलनाथ पर शिवपुरी जिले के कोलारस के विधायक वीरेन्द्र सिंह रघुवंशी किया है। उन्होंने आरोप लगाया कि सरकार ने पूर्व की शिवराज सरकार की कई जनकल्याणकारी योजनाओं को बंद कर जनता के साथ छलावा किया है। विधायक रघुवंशी ने इंदौर में प्रेस कॉन्फ्रेंस में प्रदेश के मुखिया कमलनाथ और उनके मंत्रिमंडल पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं।


रघुवंशी ने कहा कि 11 तारीख को विधानसभा का एक साल पूरा हो गया। इस एक साल में कमलनाथ सरकार ने सिर्फ दो ही कार्य किए हैं ट्रांसफर उद्योग की स्थापना और लूटो.. खाओ.. सरकार बचाओ, इसके अलावा सरकार ने कोई अन्य कार्य नहीं किया।  पूर्व की शिवराज सरकार की कई जनकल्याणकारी योजनाओं को इस सरकार ने बंद कर दिया। इन्होंने संबल योजना, मुख्यमंत्री कन्यादान योजना पर ब्रेक लगा दिया। मेरे क्षेत्र में इस एक साल में जून के महीने में एक बार दिखावा करते हुए कन्यादान योजना का आयोजन करवाया था। आज तक उन बेटियों के खाते में रुपए नहीं पहुंचे।

जितने 15 साल में तबादले नहीं हुए, उतने एक साल में हाे गए
युवाओं को चार हजार रुपए बेरोजगारी भत्ता देने की बात कही थी, लेकिन किसी को रुपए नहीं मिले। कांग्रेस के ही सीनियर लीडर ने खुद सरकार के कार्यों पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि किसानों से किए गए वादे पूरे नहीं करने पर राहुल गांधी को यहां आकर माफी मांगनी चाहिए। सरकारी की कमियों को याद दिलाने के लिए कांग्रेस के वे नेता सराहना के पात्र हैं। इस सराकर में हर दिन तबादले हो रहे हैं, जितना शिवराज सरकार में 15 साल में तबादले नहीं हुए, उतना इस सरकार ने एक साल में कर दिए।