Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» तेज हवा में उखड़े टेंट, सीएम के कार्यक्रम के कुछ अंशों का ही हो पाया प्रसारण

तेज हवा में उखड़े टेंट, सीएम के कार्यक्रम के कुछ अंशों का ही हो पाया प्रसारण

मुख्यमंत्री जन कल्याण (संबल) योजना अंतर्गत असंगठित श्रमिक सम्मेलन आयोजित हुआ। अतिथियों की उपस्थिति के लिहाज से...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 15, 2018, 02:10 AM IST

तेज हवा में उखड़े टेंट, सीएम के कार्यक्रम के कुछ अंशों का ही हो पाया प्रसारण
मुख्यमंत्री जन कल्याण (संबल) योजना अंतर्गत असंगठित श्रमिक सम्मेलन आयोजित हुआ। अतिथियों की उपस्थिति के लिहाज से कार्यक्रम प्रशासनिक स्तर पर विफल रहा। तकनीकी गड़बड़ियों के चलते हरदा में मुख्यमंत्री के कार्यक्रम के भी कुछ ही अंशों का प्रसारण हो सका। बुधवार को कार्यक्रम के दौरान टेंट तेज हवा में उखड़ गए और महिला बाल विकास विभाग द्वारा किया महिलाओं का जमावड़ा ही वहां पर शेष रहा।

कार्यक्रम में तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास राज्यमंत्री दीपक जोशी सहित क्षेत्रीय सांसद, विधायक, जिपं अध्यक्ष व अन्य अतिथि थे। लेकिन ये सभी अनुपस्थित थे। अतिथियों में सिर्फ जप अध्यक्ष निर्मला कंठाली व जिप उपाध्यक्ष दौलत तंवर ही मौजूद थे। बाद में सामाजिक कार्यकर्ता महेश सोनी, नप उपाध्यक्ष लक्ष्मी ग्रेवाल, भाजपा नेता गणपत गोयल और अधिवक्ता प्रवीण चौधरी को तात्कालिक अतिथि बनाया गया।

वीडियो दिखा 20 मिनट और फिर सुनाया ऑडियो : कार्यक्रम के दौरान हरदा में आयोजित सम्मेलन का सीधा प्रसारण होना था जिसके लिए पोजेक्टर व डिश एंटीना लगाया गया था। लेकिन कार्यक्रम आरम्भ होने के कई मिनट बाद तक स्क्रीन पर प्रसारण शुरू नहीं हुआ। जनपद और अन्य टेक्नीशियन प्रयास करते रहे। 12:55 बजे प्रसारण शुरू हुआ तो 1:20 को वीडियो गायब हो गया और ऑडियो ही सुनाई देता रहा।

मुख्यमंत्री की आवाज सुनकर मंच पर पहुंचा वृद्ध

कार्यक्रम के दौरान ग्राम मातमोर निवासी 85 वर्षीय वृद्ध आत्माराम पिता पन्नालाल जाट माइक पर ऑडियो में सीएम की आवाज सुनकर आत्माराम मंच तक पहुंच गए। निराश होकर उन्होंने एसडीएम रानी बंसल को शिकायत पत्र सौंपा। जिसमें उन्होंने कहा कि 20 वर्ष पूर्व मैं इंदौर छोड़कर ग्राम मातमोर में बस गया था। पुत्र को कृषि भूमि भी दे दी थी। लेकिन 3 वर्ष पूर्व मेरे पुत्र गणपत ने आकर मुझे और मेरी प|ी को घर से निकाल दिया। जिस कारण अब मुझे और मेरी प|ी को रहने के लिए घर नहीं है। समस्या निराकरण करें।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×