Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» अपनी कार की दुर्दशा देख कई वाहन मािलक तो रो ही दिए

अपनी कार की दुर्दशा देख कई वाहन मािलक तो रो ही दिए

इंदौर

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 14, 2018, 02:30 AM IST

  • अपनी कार की दुर्दशा देख कई वाहन मािलक तो रो ही दिए
    +1और स्लाइड देखें
    इंदौर डीबी स्टार

    सामने का कांच भी फोड़ दिया गया। गौराकुंड निवासी ज्योति वर्मा के नाम पर रजिस्टर्ड गाड़ी (एमपी 09 सीएफ 4256) का सामने का कांच फोड़ दिया है। चोर म्यूजिक सिस्टम और बैटरी ले गए। यहां खड़ी इंडिगो सीएस गाड़ी के पास रात में कुछ लोगों ने शराब के प्याले टकराए, इसी बीच सिगरेट भी पी गई।

    जली हुई सिगरेट फेंकने से सूखी घास में लगी आग ने कार को अपनी चपेट में ले लिया। यह पूरी तरह जल गई है। आग ने पास के कई वाहनों को भी अपनी चपेट में लिया। नगर निगम की टीम जब उसे उठाकर लाई थी तब यह चालू हालत में थी। अब एक कदम चलने के लायक भी नहीं बची है। इस कार के ठीक बगल में खातीवाला टैंक में रहने वाले चंदर मुलानी की हुंडई कार एमपी 13डी 4310 खड़ी थी। आग के कारण उसका अगला हिस्सा बिल्कुल बेकार हो गया। कार की बैटरी भी गायब थी। कार की हालत देख चंदर की आंखों से आंसू बहने लगे। उनका कहना था कि बड़ी मुश्किल से कार खरीदी थी। नगर निगम के अफसरों की लापरवाही ने इसे कबाड़ बना दिया। उन्होंने कहा वे इस कबाड़ को घर ले जाकर क्या करेंगे।

    और इन्हें जानकारी ही नहीं

    नगर निगम की गैंग ने रिमूवल विभाग के उपायुक्त के निर्देश पर जो वाहन उठाए थे उसकी दुर्दशा चर्चा-ए-आम है। हालात यह हैं कि सिर्फ उपायुक्त महेन्द्र सिंह चौहान को ही यह जानकारी नहीं है कि वाहनों से सामान चोरी हो रहा है। जब उनसे पूछा गया कि सुरक्षा में कोताही क्यों बरती जा रही है। चौकीदार हटा लिए गए। हेलोजन लाइट निकाल ली गई। नतीजतन चोरी हो रही है। जवाब में उन्होंने कहा कि चोरी होने की उन्हें जानकारी नहीं है। यदि चोरी हो रही है तो सुरक्षा बढ़ा दी जाएगी।

    जरूरत का सामान चुराते हैं

    नगर निगम के रिमूवल विभाग के अब्दुल रशीद खान को यहां वाहनों की सुरक्षा के लिए तैनात किया गया है। वे बताते हैं कि उनकी ड्यूटी सिर्फ दिन में ही रहती है। रात में कोई चौकीदार नहीं है। जो लाइट लगाई गई थी, उसे भी निकाल लिया गया है। चोर इसी मौके का फायदा उठाते हैं। हर रात वे अपनी जरूरत के मुताबिक वाहनों का सामान चुरा लेते हैं।

    चारों सीटें चुरा ली

    वाहन उठाने के अभियान में नगर निगम के दस्ते ने टैक्सी कोटे में रजिस्टर्ड टाटा इंडिगो एमपी 09 टीए 7245 भी उठाई थी। इस गाड़ी की चारों सीटें, म्यूजिक सिस्टम और बैटरी गायब है। आगे और पीछे के कांच हैं ही नहीं। यानी चोरों ने चोरी तो की साथ ही गाड़ी को नुकसान पहुंचाने में भी कसर नहीं छोड़ी। लोकनायक नगर में रहने वाले नरेन्द्र प्रजापत ने एमपी 09 एनएन 1388 नंबर की हीरो मोटरसाइकिल खरीदी थी। घर के बाहर रखी होने के कारण दस्ता इसे भी ले गया। बताया जाता है कि चोर इसे लालबाग के पीछे ले गए। वहीं पर उन्होंने बैटरी निकाली और पहिए भी खोल दिए। इस गाड़ी को जली हुई कार के ऊपर रख दिया गया है। महीनाभर पहले बगैर नंबर की एक्टिवा लाई गई थी। चोर इसका पिछला पहिया निकालकर ले गए।

    इंदौर डीबी स्टार

    सामने का कांच भी फोड़ दिया गया। गौराकुंड निवासी ज्योति वर्मा के नाम पर रजिस्टर्ड गाड़ी (एमपी 09 सीएफ 4256) का सामने का कांच फोड़ दिया है। चोर म्यूजिक सिस्टम और बैटरी ले गए। यहां खड़ी इंडिगो सीएस गाड़ी के पास रात में कुछ लोगों ने शराब के प्याले टकराए, इसी बीच सिगरेट भी पी गई।

    जली हुई सिगरेट फेंकने से सूखी घास में लगी आग ने कार को अपनी चपेट में ले लिया। यह पूरी तरह जल गई है। आग ने पास के कई वाहनों को भी अपनी चपेट में लिया। नगर निगम की टीम जब उसे उठाकर लाई थी तब यह चालू हालत में थी। अब एक कदम चलने के लायक भी नहीं बची है। इस कार के ठीक बगल में खातीवाला टैंक में रहने वाले चंदर मुलानी की हुंडई कार एमपी 13डी 4310 खड़ी थी। आग के कारण उसका अगला हिस्सा बिल्कुल बेकार हो गया। कार की बैटरी भी गायब थी। कार की हालत देख चंदर की आंखों से आंसू बहने लगे। उनका कहना था कि बड़ी मुश्किल से कार खरीदी थी। नगर निगम के अफसरों की लापरवाही ने इसे कबाड़ बना दिया। उन्होंने कहा वे इस कबाड़ को घर ले जाकर क्या करेंगे।

    और इन्हें जानकारी ही नहीं

    नगर निगम की गैंग ने रिमूवल विभाग के उपायुक्त के निर्देश पर जो वाहन उठाए थे उसकी दुर्दशा चर्चा-ए-आम है। हालात यह हैं कि सिर्फ उपायुक्त महेन्द्र सिंह चौहान को ही यह जानकारी नहीं है कि वाहनों से सामान चोरी हो रहा है। जब उनसे पूछा गया कि सुरक्षा में कोताही क्यों बरती जा रही है। चौकीदार हटा लिए गए। हेलोजन लाइट निकाल ली गई। नतीजतन चोरी हो रही है। जवाब में उन्होंने कहा कि चोरी होने की उन्हें जानकारी नहीं है। यदि चोरी हो रही है तो सुरक्षा बढ़ा दी जाएगी।

    जरूरत का सामान चुराते हैं

    नगर निगम के रिमूवल विभाग के अब्दुल रशीद खान को यहां वाहनों की सुरक्षा के लिए तैनात किया गया है। वे बताते हैं कि उनकी ड्यूटी सिर्फ दिन में ही रहती है। रात में कोई चौकीदार नहीं है। जो लाइट लगाई गई थी, उसे भी निकाल लिया गया है। चोर इसी मौके का फायदा उठाते हैं। हर रात वे अपनी जरूरत के मुताबिक वाहनों का सामान चुरा लेते हैं।

  • अपनी कार की दुर्दशा देख कई वाहन मािलक तो रो ही दिए
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Indore News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: अपनी कार की दुर्दशा देख कई वाहन मािलक तो रो ही दिए
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×