--Advertisement--

भाइयों के बीच रिश्ते के प्रेरक हैं भरत : शास्त्री

भरत मिलाप भाइयों के बीच स्नेह और विश्वास का प्रेरक प्रसंग है। भाई हो तो भरत जैसा, जिसने राजपाट मिलने के बाद भी राम...

Dainik Bhaskar

Jun 11, 2018, 02:40 AM IST
भाइयों के बीच रिश्ते के प्रेरक हैं भरत : शास्त्री
भरत मिलाप भाइयों के बीच स्नेह और विश्वास का प्रेरक प्रसंग है। भाई हो तो भरत जैसा, जिसने राजपाट मिलने के बाद भी राम के खड़ाऊ रखकर अपना शासन चलाया।

ये विचार हरिद्वार के हरिकृष्ण शास्त्री ने व्यक्त किए। उन्होंने रविवार को एयरपोर्ट रोड स्थित विद्या धाम में महामंडलेश्वर चिन्‍मयानंद सरस्वती की प्रेरणा से आयोजित राम कथा में भगवान के वनवास काल के प्रसंगों की व्याख्या की। रामकथा में 11 जून को पंचवटी वास, 12 को सीता हरण, शबरी मिलन, हनुमत मिलन व 13 जून को लंका दहन, रावण वध एवं राज्याभिषेक के साथ कथा का समापन होगा। संगीतमय कथा दोपहर 3 से शाम 6 बजे तक होगी।

योग की विभिन्न क्रियाओं का दिया प्रशिक्षण- वहीं दूसरी ओर योग विशेषज्ञ डाॅ. एमडी बाल्दी ने रविवार सुबह अन्नपूर्णा क्षेत्र अग्रवाल महासंघ, हरिओम योग केंद्र व इंदौर क्लाॅथ मार्केट गृह निर्माण संस्था की मेजबानी में गुमाश्ता नगर स्थित मुकुट मांगलिक भवन परिसर में चल रहे योग से रोग निवारण शिविर को संबोधित किया। उन्होंने साधकों को योग की विभिन्न क्रियाओं का प्रशिक्षण दिया। शिविर संयोजक डाॅ. निर्मल महाजन व पारस जैन ने बताया कि रविवार के योग शिविर में लगभग 1400 साधकों ने भाग लेकर योग एवं प्राणायाम के विभिन्न आसनों व विधाओं का प्रशिक्षण प्राप्त किया। योग के साथ श्वास-प्रश्वास व प्राणायाम का अभ्यास भी साधकों को कराया गया।

श्रीविद्याधाम पर आयोजित रामकथा में श्रोता जमकर झूमे।

X
भाइयों के बीच रिश्ते के प्रेरक हैं भरत : शास्त्री
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..