• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Indore News
  • News
  • कौन से कैंसर के कितने मरीज? यह बताने पर ही केंद्र सरकार से मिलेगा कैंसर केयर फंड
--Advertisement--

कौन से कैंसर के कितने मरीज? यह बताने पर ही केंद्र सरकार से मिलेगा कैंसर केयर फंड

एमजीएम मेडिकल कॉलेज ऑडिटोरियम में सीएमई के दौरान दी गई जानकारी भास्कर संवाददाता | इंदौर शासकीय कैंसर...

Danik Bhaskar | Jun 11, 2018, 02:40 AM IST
एमजीएम मेडिकल कॉलेज ऑडिटोरियम में सीएमई के दौरान दी गई जानकारी

भास्कर संवाददाता | इंदौर

शासकीय कैंसर हॉस्पिटल के अलावा शहर के कई प्राइवेट अस्पतालों में कैंसर के मरीजों का इलाज होता है, लेकिन शहर में एक भी प्लेटफॉर्म ऐसा नहीं है, जहां यह पता लग सके कि कौन से कैंसर के कितने मरीज हैं। केंद्र सरकार ने भी स्पष्ट कर दिया है कि कैंसर केयर के लिए फंड तभी मिलेगा, जब यह जानकारी दी जाएगी। अब सरकारी कैंसर हॉस्पिटल भी कैंसर रजिस्ट्री से जुड़ने जा रहा है। रविवार को एमजीएम मेडिकल कॉलेज ऑडिटोरियम में सीएमई का आयोजन किया गया।

इसमें कॉलेज के डॉक्टरों सहित प्राइवेट अस्पताल के प्रतिनिधि मौजूद थे। भोपाल कैंसर रजिस्ट्री के डॉ. अतुल श्रीवास्तव भी इंदौर पहुंचे। उन्होंने डॉक्टरों को बताया किस तरह इसमें एंट्री करना होगी। डीन डॉ. शरद थोरा ने बताया कि यह पाॅप्युलेशन बेस्ड कैंसर रजिस्ट्री है। इसमें हम इंदौर सहित आसपास के क्षेत्रों को कवर करने की कोशिश करेंगे कि यहां कौन से कैंसर के मरीज ज्यादा हैं। इसके आंकड़े इकट्ठे किए जाएंगे। अभी तक सभी के पास अपने मरीजों की जानकारी रहती है, लेकिन अब इसे कम्प्यूटराइज्ड किया जाएगा। इसीलिए रजिस्ट्रेशन के लिए एक सेंटर बना रहे हैं। सीएमई के एक सत्र के चेयरपर्सन और एमवायएच ब्लड बैंक के डायरेक्टर डॉ. अशोक यादव ने बताया कि इसके बाद हर मरीज की रिपोर्टिंग होगी। उसकी बीमारी संबंधित पूरा डाटा रहेगा।

6 साल पहले शुरू की थी रजिस्ट्री : छह साल पहले भी कैंसर के मरीजों के लिए एक रजिस्ट्री शुरू की गई थी, लेकिन फंड के अभाव में काम बंद हो गया। अब दोबारा से इसे किया रहा है। इसकी एक वजह फंड भी है।