--Advertisement--

मजीठिया ने दूसरे व्यक्ति से खरीदी थी आईपीएल मैच सिग्नल चोरी की लिंक

इंदौर में हुए आईपीएल मैच के सिग्नल चोरी मामले में राज्य साइबर सेल को जानकारी मिली है कि सरगना अमित मजीठिया ने...

Dainik Bhaskar

Jun 11, 2018, 02:45 AM IST
इंदौर में हुए आईपीएल मैच के सिग्नल चोरी मामले में राज्य साइबर सेल को जानकारी मिली है कि सरगना अमित मजीठिया ने दूसरे व्यक्ति से सिग्नल चोरी की लिंक खरीदी थी। इसके लिए उसने कितने रुपए दिए थे। इसकी जानकारी नहीं मिली है। इधर अहमदाबाद से पकड़ी गई पूनम चौधरी के साथ उसके पति हरेश भी आया था, मगर पूनम के पकड़े जाने पर वह भाग निकला। मामले में हरेश की भूमिका भी साइबर सेल को मिली है। इसलिए अब उसे भी आरोपी बनाया जा रहा है। उसका भी लुक आउट नोटिस जारी किया जाएगा।

राज्य साइबर सेल इंदौर के एसपी जितेंद्र सिंह ने बताया कि पूनम चौधरी को दो दिन की रिमांड पर लिया गया है। उसने बताया कि दुबई से उसका पति हरेश भी साथ आया था। फ्लाइट में 19-20 नंबर की सीट पर इंडिया आए थे। पूनम का लुक आउट नोटिस जारी होने के कारण उसे अहमदाबाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर पकड़ लिया गया था, लेकिन इस दौरान हरेश वहां से भाग निकाला था।

पूनम के रिश्तेदारों के खातों में करोड़ों का ट्रांजैक्शन

सिग्नल चोरी का सरगना अमित मजीठिया दुबई में उन्हें छोड़ने आया था। उसने दोनों का आगाह भी किया था कि वहां जाओगे तो पकड़े जाओगे। इसके बावजूद वे भारत आए थे। ये जानकारी भी सामने आई है कि अमित मजीठिया ने किसी दूसरे व्यक्ति से सिग्नल चोरी की लिंक खरीदी थी। वहीं पूनम दो करोड़ रुपए के सट्टे का हिसाब-किताब इधर से उधर किया करती थी। सूत्रों से पता चला है कि हरेश ने पूनम के रिश्तेदारों के बैंक खातों में करोड़ों रुपए का ट्रांजैक्शन किया है।

सट्टेबाजी की वेबसाइट का पहला यूजर हरेश था, टेस्ट वर्जन उसने ही उपयोग किया

पूनम चौधरी ने पुलिस को बताया कि सट्‌टेबाजी की वेबसाइट का पहला टेस्ट वर्जन बनाया गया था, जिसे पति हरेश ने सबसे पहले 29 जनवरी को इस्तेमाल किया था। उसने ही सबसे पहले इस वेबसाइट का इस्तेमाल कर उसे ओके किया था। पुलिस अफसरों काे यह भी पता चला है कि मजीठिया भारत के अलावा सट्टेबाजी का जाल अन्य देशों में भी फैलाने की कोशिश कर रहा था, क्योंकि पहले हरेश और पूनम के यूक्रेन में जाने की जानकारी मिली थी, लेकिन जांच में पता चला कि हरेश दो बार यूक्रेन गया था। वहां भी वेबसाइट का इस्तेमाल हो रहा है, ताकि वहां भी सट्टेबाजी का जाल फैला सके। पुलिस इसकी जांच में इंटरपोल की मदद लेगी।

इंदौर की महिला के बैंक खातों में अमित ने डलवाए थे डेढ़ लाख रुपए

एसपी के मुताबिक, पहले गिरफ्तार हुए अंकित जैन से पता चला था कि उसके कहने पर अमित मजीठिया ने इंदौर की एक महिला के बैंक खाते में डेढ़ लाख रुपए डलवाए थे। वहीं अंकित ने भी 65 हजार रुपए उसके बैंक खाते में डाले थे। महिला की जानकारी निकाली तो पता चला कि वह भी करंट अकाउंट इस्तेमाल करती है और शेयर ट्रेडिंग से जुड़ी है। महिला ने बताया कि अंकित उससे चांदी खरीदता था। इसलिए उसने उसके बैंक खाते में रुपए डलवाए थे। वहीं टीम को हरेश और अमित मजीठिया के सट्टेबाजी के आपराधिक रिकाॅर्ड होने की भी जानकारी पता चली है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..