--Advertisement--

एलआईसी के वरिष्ठ अफसर भी नहीं दे रहे जवाब

इंदौर

Dainik Bhaskar

Jun 11, 2018, 02:50 AM IST
एलआईसी के वरिष्ठ अफसर भी नहीं दे रहे जवाब
इंदौर
निवेशकों का कहना है कि एजेंटों ने यदि ग्राहकों से धोखा किया है तो बीमा कंपनी के अधिकारी भी अपनी जिम्मेदारी से बच नहीं सकते। अपने टारगेट पूरे करने के लिए एजेंट ग्राहकों को लोक-लुभावन सपने दिखाते हैं।

जिंदगी के साथ भी, जिंदगी के बाद भी जुमले को सामने रखकर ग्राहकों से पैसा निवेश कराया जाता है। निवेशकों का कहना है कि जो राशि बीमा कंपनी को दी गई, यही राशि यदि बैंक में जमा की होती तो वह दोगुना हो जाती। जिन एजेंटों ने वेल्थ प्लस पर काम किया है, उनके खिलाफ कार्रवाई होना चाहिए। जो कमीशन उन्होंने ग्राहकों से लिया है वह लौटाया जाना चाहिए।

बैठक में जवाब नहीं निकला

बताया जाता है कि वेल्थ प्लस की दुर्गति को लेकर बीमा कंपनी के डिवीजन मैनेजरों की मीटिंग पिछले दिनों मुंबई में हुई। इसमें भी यह तय नहीं हो पाया कि ग्राहकों को क्या जवाब दिया जाए। अलबत्ता यह बात जरूर सामने आई कि पॉलिसी देते समय एजेंटों को आयु सीमा के बारे में बताया जाना चाहिए था। इस प्लान में आयु सीमा भी एक शर्त थी। जो ग्राहकों से छुपाई गई। सेन्ट्रल कमेटी को यह जवाबदारी दी गई है कि वह अध्ययन करे और पता लगाए कि लोगों को पॉलिसी का फायदा क्यों नहीं मिला। ग्राहकों को किस तरह संतुष्ट किया जाए? क्या जवाब दिया जाए? यह अब सेन्ट्रल कमेटी ही तय करेगी।

X
एलआईसी के वरिष्ठ अफसर भी नहीं दे रहे जवाब
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..