--Advertisement--

टंकी भरकर सप्लाय की जाए तो स्थिति सुधरेगी

इंदौर

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 03:00 AM IST
इंदौर
नगर निगम के नर्मदा प्रोजेक्ट में अधीक्षण यंत्री के पद से रिटायर हो चुके एसवी राजवाड़े के मुताबिक डायरेक्ट सप्लाई के बजाए टंकी भरकर सप्लाई की जाए तो स्थिति सुधर सकती है। इस व्यवस्था से सभी इलाकों में बराबर पानी सप्लाई होगा और टंकियां भरने में समय भी कम लगेगा। राजवाड़े के अनुसार टंकियों से सप्लाई व्यवस्था करने से शहर की ज्यादातर टंकियां दिन में दो बार भरी जा सकती हैं। इससे शहर के पचास फीसदी से ज्यादा क्षेत्र में रोज पानी सप्लाई किया जा सकता है।

डायरेक्ट सप्लाई कम करेंगे

 शहर के करीब पचास फीसदी क्षेत्र के नलों में टंकी भरने वाली लाइन से डायरेक्ट सप्लाई होती है। शेष पचास फीसदी क्षेत्र में टंकी भरकर सप्लाई की जाती है। 85 टंकियां भरने के बाद जो पानी बचता है उससे कुछ टंकियां दोबारा भरी जाती हैं। इनसे जुड़े नलों में रोज सप्लाई होती है। हम डायरेक्ट सप्लाई का प्रतिशत कम करने की दिशा में काम कर रहे हैं। यह व्यवस्था बंद होने से करीब ज्यादातर टंकियों को दो बार भरा जा सकेगा। इनसे पचास फीसदी इलाकों में रोज पानी सप्लाई किया जाएगा। संजीव श्रीवास्तव, कार्यपालन यंत्री, नर्मदा प्रोजेक्ट

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..