--Advertisement--

घर-परिवार में बचपन से ही दें संस्कार की सीख : जया किशोरी

नानी माई रो कथा के आखिरी दिन बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल हुए। भास्कर संवाददाता | इंदौर जिस घर में तुलसी का...

Dainik Bhaskar

Apr 17, 2018, 03:25 AM IST
घर-परिवार में बचपन से ही दें संस्कार की सीख : जया किशोरी
नानी माई रो कथा के आखिरी दिन बड़ी संख्या में श्रद्धालु शामिल हुए।

भास्कर संवाददाता | इंदौर

जिस घर में तुलसी का पौधा हो, कीर्तन हो, गाय माता का सम्मान हो, उस घर में कभी परेशानी नहीं आती। सभी दु:ख-दर्द भगवान हर लेते हैं। माता-पिता को बचपन से ही बच्चों को संस्कार देना चाहिए।

यह बात जया किशोरी ने एक गार्डन में आयोजित तीन दिनी नानी माई रो कथा के समापन अवसर पर कही। व्यासपीठ का पूजन नानीबाई रो मायरो महोत्सव समिति संयोजक शिवनारायण मंत्री, रितेश मंत्री, विपुल मंत्री, विक्रम काबरा आदि ने किया। इस दौरान जया किशोरी का सम्मान भी किया गया। शाम को महाप्रसादी में सैकड़ों लोग शामिल हुए।

X
घर-परिवार में बचपन से ही दें संस्कार की सीख : जया किशोरी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..