इंदौर

--Advertisement--

डेढ़ लाख रुपए के लेनदेन में की थी हत्या, 2 भाई सहित 4 को उम्र कैद

डेढ़ लाख रुपए लेन-देन के विवाद में प्रॉपर्टी ब्रोकर की हत्या करने वाले दो भाइयों समेत चार आरोपियों को जिला अदालत...

Dainik Bhaskar

Jun 10, 2018, 03:25 AM IST
डेढ़ लाख रुपए लेन-देन के विवाद में प्रॉपर्टी ब्रोकर की हत्या करने वाले दो भाइयों समेत चार आरोपियों को जिला अदालत के विशेष न्यायाधीश बीके द्विवेदी ने उम्र कैद की सजा सुनाई है। साथ ही पांच-पांच सौ रुपए जुर्माना भी लगाया है। चारों को जेल भेज दिया गया है। फैसला शनिवार को सुनाया गया।

साउथ गाडराखेड़ी (मरीमाता चौराहे के पास) रहने वाले आरोपी संतोष उर्फ मुकेश सिंह, उसका छोटा भाई जीवन सिंह, दोस्त सोनू उर्फ अल्पेश कौशल एवं शरद उर्फ शंकर चौहान ने 16 नवंबर 2015 की रात साढ़े 10 बजे ब्रह्मबाग काॅलोनी निवासी 35 वर्षीय प्राॅपर्टी ब्रोकर दिलीप अच्छपाल की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी थी। एक आरोपी शरद जमानत पर बाहर था। शेष तीनों जेल में ही हैं। एजीपी निर्मल कुमार मंडलोई एवं एडवोकेट राकेश पालीवाल ने गवाहों के साक्ष्यों से अपराध साबित किया। मंडलोई एवं पालीवाल के मुताबिक, आरोपी संतोष ने प्राॅपर्टी ब्रोकर दिलीप की दुकान किराए पर ली थी। वह उसमें आइसक्रीम शाॅप चलाता था। उस पर तीन महीने का किराया बाकी था। संतोष ने दिलीप से डेढ़ लाख रुपए उधार भी ले रखे थे। घटना के दिन प्राॅपर्टी ब्रोकर बाबा साइकिल सर्विस ब्रह्म बाग काॅलोनी में दो दोस्त बलवंत व अमजद के साथ बैठा था, तभी आरोपी संतोष आया। उधारी व बकाया किराए को लेकर उनमें विवाद हुआ। थोड़ी देर में संतोष चला गया। कुछ देर में अपने भाई व दो दोस्तों के साथ आया और दूर से दिलीप को यह कहते हुए बुलाया कि आज लेन-देन का हिसाब कर देते हैं। दिलीप जब उनके पास पहुंचा तो आरोपियों ने हमला कर दिया।

भाई आया, तब आरोपी उस पर वार कर रहे थे

उधर दिलीप की प|ी ने रात के साढ़े 10 बज जाने के कारण उसके भाई राजेश को दुकान से बुलाने के लिए भेजा। राजेश जब दुकान जा रहा था, तब उसने देखा कि आरोपी उसके भाई दिलीप पर वार कर रहे थे। परिजन दिलीप को तत्काल अस्पताल ले गए, जहां उसकी मौत हो गई। सदर बाजार पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार किया था।

X
Click to listen..