Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» सरकार आतंकी समर्थकों का केस माफ कर सकती है, मैंने क्या बिगाड़ा : हार्दिक

सरकार आतंकी समर्थकों का केस माफ कर सकती है, मैंने क्या बिगाड़ा : हार्दिक

सरकारें किसानों की सुध नहीं ल रही। उनकी हालत बहुत दयनीय है। अब जरूरत मेक इन इंडिया की नहीं, बल्कि मेड इन इंडिया की...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 10, 2018, 03:25 AM IST

सरकार आतंकी समर्थकों का केस माफ कर सकती है, मैंने क्या बिगाड़ा : हार्दिक
सरकारें किसानों की सुध नहीं ल रही। उनकी हालत बहुत दयनीय है। अब जरूरत मेक इन इंडिया की नहीं, बल्कि मेड इन इंडिया की है। हम गोरों से तो आजाद हो गए, लेकिन चाेरों पर आकर अटक गए। हम अब भी उस पाकिस्तान की ही बात करते हैं, जिसका हमारे सामने कोई वजूद नहीं है। जबकि हमें अमेरिका की बराबरी करना चाहिए। आज देश पीछे नहीं जा रहा बल्कि डूब रहा है, हम सबको खासकर युवाओं काे आगे आना चाहिए। यह बात पाटीदार समुदाय के नेता हार्दिक पटेल ने इंदौर में मातरम् इंडिया संस्था द्वारा आयोजित सेमिनार में कही। उन्होंने हर बात में मोदी सरकार पर निशाना साधा। हार्दिक ने यह भी कहा कि सरकार आतंकी समर्थक पत्थरबाजों का केस माफ कर सकती है, फिर मैंने क्या बिगाड़ा है? मुझे भी माफ कर दे। कार्यक्रम में जेडीयू के राष्ट्रीय महासचिव अखिलेश कटियार ने कहा कि आज नेताओं को जनता के प्रति जवाबदेह बनने की जरूरत है। संचालन मंजूशा जौहरी ने किया। समारोह में संस्था संयोजक सुधाकर सिंह, विशाल मालवीय, प्रमोद टंडन, राजेश चौकसे, विशाल पटेल, माेहित पटेल भी मौजूद थे।

कार्यक्रम के दौरान हार्दिक के साथ सेल्फी लेने का भी दौर चलता रहा।

आरोप : पीएम पद पर आते ही भूल जाते हैं हिंदुत्व की बात

जब अटलजी प्रधानमंत्री थे, तब आडवाणी जी हिंदुत्व की बात करते थे, रथ यात्रा भी निकाली थी। लेकिन जब वो पीएम प्रत्याशी बने तो रास्ता बदल दिया। यही मोदी ने भी किया।

1. श्रीराम पर राजनीति पर : अकसर भगवान श्रीराम को हाथों में धनुष लिए तीर चलाते हुई क्यों दिखाया जाता है। क्या कभी सबरी की झूठे बेर खाते श्रीराम की तस्वीर होर्डिंग्स पर नहीं लगाई जा सकती?

2. किसानों की राजनीति पर : किसानों को हर होर्डिंग्स में फटे-पुराने कपड़ों में ही क्यों दिखाया जाता है। उन्हें तस्वीर में तो अच्छे कपड़ों में दिखाओ। किसानों के लिए कोई भी कुछ करने को तैयार नहीं है। उनके विरोध की किसी को परवाह नहीं है।

3. बुलेट ट्रेन पर : सरकार बुलेट ट्रेन की बात करती है। हम तो कम स्पीड में चलने को तैयार है, बस जो सिस्टम है वही बेहतर हो। सरकार ने देश के सारे एयरपोर्ट को संवारने का जिम्मा विदेशी कंपनियों को दे दिया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×