Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» इस बारिश हर व्यक्ति एक पौधा लगाए, बड़ा होने तक उसकी देखभाल भी करे

इस बारिश हर व्यक्ति एक पौधा लगाए, बड़ा होने तक उसकी देखभाल भी करे

जानकीनाथ मंदिर, गौराकुंड में शनिवार से श्री लक्ष्मीनारायण महायज्ञ शुरू हुआ। पहले दिन मंडल पूजन हुआ। इसके बाद 10...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 10, 2018, 03:25 AM IST

इस बारिश हर व्यक्ति एक पौधा लगाए, बड़ा होने तक उसकी देखभाल भी करे
जानकीनाथ मंदिर, गौराकुंड में शनिवार से श्री लक्ष्मीनारायण महायज्ञ शुरू हुआ। पहले दिन मंडल पूजन हुआ। इसके बाद 10 यजमान दंपतियों ने एक हजार आहुतियां दी। इसी के साथ 108 भागवत पारायण भी चल रहा है। महायज्ञ और कथा के दौरान आचार्यों ने हवन कराकर पर्यावरण का महत्व भी बताया। कहा कि आज हरियाली की कमी के कारण देश के कई क्षेत्रों में आंधी-तूफान आए जिससे भारी नुकसान हुआ। मानसून आ रहा है। संकल्प लें कि सभी एक-एक पौधा (नीम, पीपल, आम, जामुन) लगाकर बड़ा होने तक उसकी देखभाल भी करेंगे।

आचार्य पं. महेश शर्मा और पं. संतोष कुमार मिश्रा ने यजमान दंपतियों से पूजन करवाया। अध्यक्ष रमेश बाहेती ने बताया महायज्ञ प्रतिदिन सुबह 8.30 से दोपहर 12 और 2.30 से 5.30 बजे तक होगा। महायज्ञ की पूर्णाहुति 13 जून को होगी।

जानकीनाथ मंदिर, गौराकुंड में शनिवार से लक्ष्मीनारायण यज्ञ शुरू हुआ। पहले दिन 10 यजमान दंपतियों ने एक हजार आहुतियां दीं।

आज की सरकार रामराज्य का अनुसरण करे तो देश की सूरत बदल जाएगी : शास्त्री

सत्य कभी छिपता नहीं, कभी पराजित नहीं होता। राम का नाम सत्य है लेकिन राम की कथा परम सत्य है। रामराज्य हर युग में प्रासंगिक माना गया है। वनवास काल में श्रीराम ने अंतिम छोर पर खड़े लोगों को गले लगाकर उनके दु:ख-दर्द बांटे। आज की सरकार भी उनका अंशमात्र भी अनुसरण करें तो देश की सूरत बदल जाएगी। यह बात पं. हरिकृष्ण शास्त्री ने श्री श्रीविद्याधाम में महामंडलेश्वर स्वामी चिन्मयानंद सरस्वती के सान्निध्य में चल रही रामकथा में कही। शुरुआत में पं. राजेश शर्मा एवं विद्वानों ने स्वस्ति वाचन किया। फिर कथा की शुरुआत हुई। कथा प्रतिदिन दोपहर 3 से 6 बजे तक होगी।

जो दूसरों की मदद करते हैं, भगवान उनकी मदद जरूर करते हैं : पं. शास्त्री

बुरे कर्मों का फल यहीं भुगतना पड़ता है। अगर भगवान की कृपादृष्टि चाहिए तो सच्चाई की राह पर चलें। सदैव अच्छे कर्म करें। नि:स्वार्थ भाव से दूसरों की मदद करें। किसी को दु:ख न दें। यही ईश्वर की सच्ची भक्ति है। यह बात सुदामा नगर स्थित श्रीराम मंदिर में चल रहे भागवत ज्ञान सप्ताह के दूसरे दिन पं. राजेश शास्त्री ने कही। समिति से जुड़े राजेश मेहता ने कथा महोत्सव का समापन 13 जून को होगा। यहां प्रतिदिन दोपहर 3 से 6 बजे तक कथा होगी। रविवार को कृष्ण जन्मोत्सव मनाया जाएगा।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×