• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Indore News
  • News
  • साॅफ्टवेयर में खराबी, प्रदेश के हजारों अधिकारी-कर्मचारियों का वेतन अटका
--Advertisement--

साॅफ्टवेयर में खराबी, प्रदेश के हजारों अधिकारी-कर्मचारियों का वेतन अटका

मध्यप्रदेश सरकार द्वारा प्राइवेट कंपनी से तैयार करवाए गए सॉफ्टवेयर में खराबी आ रही। इस कारण हजारों सरकारी...

Danik Bhaskar | Jun 10, 2018, 03:25 AM IST
मध्यप्रदेश सरकार द्वारा प्राइवेट कंपनी से तैयार करवाए गए सॉफ्टवेयर में खराबी आ रही। इस कारण हजारों सरकारी कर्मचारियों का वेतन अटक गया। एरियर व अन्य देयक भी स्वीकार नहीं किए जा रहे।

मध्यप्रदेश शिक्षक संघ के प्रदेश महामंत्री क्षत्रवीरसिंह राठौर ने बताया प्रदेश में 1 मई से सभी तरह के सरकारी बिलों के भुगतान की आॅनलाइन प्रक्रिया में बदलाव कर नई प्रणाली स्थापित की गई है। ऐसा बिलों के त्वरित भुगतान की दृष्टि से किया गया है। दरअसल पहले एकीकृत कोषालयीन कम्प्यूटराइजेशन परियोजना अंतर्गत राज्य वित्तीय प्रबंधन प्रणाली (एसएफएमएस) स्थापित की गई थी। इस सॉफ्टवेयर से ईएसएस माॅडयूल हट गया, जिसके चलते साॅफ्टवेयर वेतन देयक स्‍वीकार नहीं कर रहा है। साथ ही एरियर देयक सामान्य भविष्य निधि देयक आदि भी स्‍वीकार नहीं किये जा रहे हैं। इससे कर्मचारियों में भारी नाराजगी है। उन्होंने बताया कि टीसीएस कंपनी द्वारा सहयोग न करने के कारण आॅनलाइन व्यवस्था पूरी तरह से गड़बड़ा गई है, जिसके कारण 8 लाख से ज्यादा पूर्व व वर्तमान अधिकारी-कर्मचारियों के वेतन, देयक, पेंशन, सामान्य भविष्य निधि भुगतान व अन्‍य भुगतान नहीं हो पा रहा है।