--Advertisement--

खुशमिजाज लोगों का देश है वियतनाम

फिर रात में हमने शॉपिंग की। इसके लिए हम राजधानी हनोई के सिटी मार्केट में घूमे। यहां हमने विशेष प्रकार के ट्रेवल...

Danik Bhaskar | Jun 12, 2018, 03:25 AM IST
फिर रात में हमने शॉपिंग की। इसके लिए हम राजधानी हनोई के सिटी मार्केट में घूमे। यहां हमने विशेष प्रकार के ट्रेवल जैकेट्स और जीन्स, शर्ट, कैरी बैग्स देखे। वहां शॉपिंग की और वहीं मैन्यूफेक्चरिंग यूनिट्स में इन्हें बनते हुए भी देखा। शाम को वियतनाम सेंट्रल मॉल में म्यूजिकल प्रोग्राम था। मैंने भी कुछ यादगार गीत गाकर अपनी उपस्थिति दर्ज करा दी और डांस भी किया। मैंने वहां के लोगों को स्वच्छ भारत अभियान और इंदौर कैसे स्वच्छता में नंबर वन आया, यह भी बताया।

चीन के टूरिस्ट ज्यादा

हमारे देश का एक रुपया वहां का 350 डोंग होता है। इस लिहाज से यहां घूमना-फिरना काफी सस्ता है। सबसे ज्यादा टूरिस्ट यहां पर हमारे देश के अलावा चीन से आते हैं। यहां ज्यादातर लोग हिंदी भी समझ लेते हैं।

भारतीयों के प्रति रखते हैं सम्मान

वहां के लोग काफी सभ्य और शांतिप्रिय होते हैं। वे लोग भारतीयों के प्रति सम्माान रखते हैं। वहां की सड़कं और मार्केट बेहद साफ सुथरे नजर आए। वहां यह नियम है कि कोई गंदगी करता पाया जाता है तो उसे 5 हजार रुपए की भारतीय मुद्रा के बराबर अार्थिक दंड दिया जाता है। ट्रैफिक नियम भी काफी सख्त हैं। पुलिस रोड पर नहीं दिखती। यदि किसी ने नियम तोड़ा तो जीपीएस द्वारा ऑटोमेटिक फाइन जनरेट हो जाता है।

फलों के शौकीन

यहां के लोग चाइनीज और इंडियन डिशेस ज्यादा पसंद करते हैं। स्थानीय लोग आम, पाइनापल जैसे फल ज्यादा खाते हैं। साथ ही यहां के लोग काॅफी पीने के भी काफी शौकीन हैं। यही नहीं, वहां लोग साइकिलिंग करना ज्यादा पसंद करते हैं। वहां पर मैंने विभिन्न कंपनियों की ऐसी कारें सड़क पर दौड़ती दिखीं जिनमें से अधिकतर भारत में अभी तक नहीं लांच हुई हैं। वहां विंटर फेस्टिवल होता है। नियत स्थानों पर कार्यक्रम होते रहते हैं। लोग उसमें उत्साह के साथ भागीदारी करते हैं। मुझे भी स्थानीय गायकों के साथ अपनी भाषा में गाने का मौका मिला।