Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» 70 से ज्यादा निर्माण तोड़े, कुल 80% बाधाएं हटीं तोड़फोड़ पर हाई कोर्ट का स्टे, 19 को सुनवाई

70 से ज्यादा निर्माण तोड़े, कुल 80% बाधाएं हटीं तोड़फोड़ पर हाई कोर्ट का स्टे, 19 को सुनवाई

जवाहर मार्ग के समानांतर बनने वाली सरवटे से गंगवाल बस स्टैंड तक की सड़क के मच्छी बाजार से नया पीठा होते हुए दरगाह...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 17, 2018, 03:30 AM IST

70 से ज्यादा निर्माण तोड़े, कुल 80% बाधाएं हटीं 
तोड़फोड़ पर हाई कोर्ट का स्टे, 19 को सुनवाई
जवाहर मार्ग के समानांतर बनने वाली सरवटे से गंगवाल बस स्टैंड तक की सड़क के मच्छी बाजार से नया पीठा होते हुए दरगाह चौराहे तक की बाधाएं सोमवार को बड़े पैमाने पर हटा दी गईं। सुबह साढ़े 10 बजे शुरू हुई कार्रवाई शाम साढ़े 6 बजे तक चली। इस दौरान 70 से ज्यादा बाधक निर्माण तोड़े गए। इनमें से कुछ तो तीन से चार मंजिला तक के थे। छह मकानों पर हाई कोर्ट से स्टे के कारण कार्रवाई नहीं की गई। इस बीच हाई कोर्ट ने एक अन्य जनहित याचिका पर मध्य क्षेत्र में कार्रवाई पर स्टे देकर निगम से जवाब मांगा है। मामले में 19 अप्रैल को सुनवाई होगी। इसके बाद ही आगे की कार्रवाई हो सकेगी।

कार्रवाई करने एडीएम अजयदेव शर्मा, अपर आयुक्त देवेंद्र सिंह, एएसपी धनंजय शाह, उपायुक्त महेंद्रसिंह चौहान, प्लानर विष्णु खरे सहित 8 से ज्यादा जोन के भवन अधिकारी और भवन निरीक्षक 250 लोगों की निगम की टीम और 150 से ज्यादा पुलिसकर्मियों के साथ पहुंचे। कार्रवाई में रिमूवल अधिकारी वीरेंद्र उपाध्याय, बबलू कल्याणे, कृष्णा श्रीवास्तव, हेमंत शिंदे सहित पूरी टीम मौजूद थी।

हाई कोर्ट ने निगम से मांगा जवाब

हाई कोर्ट ने मध्य क्षेत्र में तोड़फोड़ पर अंतरिम रोक लगाते हुए 19 अप्रैल तक स्टे कर दिया है। सोमवार सुबह चंद्रभागा के अभय शुक्ला और नया पीठा, मच्छी बाजार के अब्दुल समद की ओर से दायर याचिका पर जस्टिस पीके जायसवाल व जस्टिस एसके अवस्थी की बेंच ने सुनवाई की। एडवोकेट अभिनव धनोतकर के मुताबिक याचिकाकर्ताओं की ओर से कहा गया कि मध्य क्षेत्र में मास्टर प्लान लागू नहीं होता क्योंकि मास्टर प्लान के चैप्टर छह में लिखा है कि शहर के मध्य क्षेत्र में कोई चौड़ीकरण और तोड़फोड़ नहीं होगी। भूमि विकास नियम 2012 में भी यही लिखा है कि इस तरह के भवन डीम सेंशन होते हैं यानी इन्हें तोड़ने की जरूरत ही नहीं। जब तक कि आसपास के लोगों को इससे कोई परेशानी न हो या जब तक भवन जर्जर घोषित न किया गया हो। टाउन एंड कंट्री प्लानिंग में भी यही कहा गया है कि जो प्लान बन गया है, उससे बाहर जाकर नगर निगम या संबंधित एजेंसी काम नहीं कर सकती। नगर निगम की ओर से एडवोकेट मनोज मुंशी ने कहा इन मुद्दों पर सुप्रीम कोर्ट में बहस हो चुकी है। दोनों पक्ष सुनकर कोर्ट ने 19 अप्रैल तक तोड़फोड़ पर रोक लगाते हुए नगर निगम से जवाब मांगा है।

मच्छी बाजार से दरगाह चौराहे के बीच कार्रवाई के बाद रोड चौड़ी दिखने लगी है। अभी भी इस हिस्से में 40 से ज्यादा बाधाएं मौजूद हैं।

सीधी बात

 सरवटे से गंगवाल सड़क में अब कितनी बाधाएं बाकी हैं? कब तक हट जाएंगी?

- साढ़े 4 किमी की सड़क में 80% बाधा हट चुकी है। 19 को हाई कोर्ट में सुनवाई के बाद अगला फैसला लेंगे। बाकी बाधाएं भी एक महीने में हटा देने का प्रयास है।

 किसी भी सड़क के लिए बाधाएं तो हटाई जाती हैं, लेकिन काम समय पर पूरा नहीं होता, क्या यहां भी ऐसा ही होगा?

-मेयर और मैं मॉनिटरिंग करेंगे। शहर के बीच जरूरी सड़क है। किसी भी स्थिति में एक साल में सड़क बनकर तैयार होगी।

हाई कोर्ट के स्टे के कारण 6 मकानों पर निगम नहीं कर सका कार्रवाई

जिनका पूरा मकान टूटा उन्हें मिलेगा फ्लैट

जिनके मकान पूरी तरह टूट गए हैं उन्हें निगम ओमेक्स पार्ट-2, ट्रेजर टाउन और एक अन्य टाउनशिप में फ्लैट देगा।

जिनके 10 फीट या उससे ज्यादा निर्माण बचे हैं, उन्हें ट्रांसफरेबवल डेवलपमेंट राइट (टीडीआर) और फ्लोर एरिया रेशो (एफएआर) का फायदा दिया जाएगा। जैसे यदि किसी का 100 वर्गफीट मकान ही बचा है तो वह एफएआर के तहत 150 वर्गफीट तक का अतिरिक्त निर्माण ऊपरी मंजिल पर बगैर निगम की अनुमति से कर सकेगा।

एक साल में तैयार हो जाएगी सड़क

-मनीष सिंह, निगमायुक्त

टूटे आशियानों से कार्रवाई देखते रहवासी...

स्मार्ट सिटी की सुविधाएं भी देंगे

जवाहर मार्ग के ट्रैफिक दबाव को देखते हुए जिस तरह लोगों ने जमीन सड़क के लिए दी है, उसी गंभीरता से इस सड़क के निर्माण का काम भी समय पर होगा और स्मार्ट सिटी क्षेत्र की जो सुविधाएं रहवासियों को मिलना चाहिए, वह भी दी जाएंगी। - मालिनी गौड़, महापौर

कुल साढ़े 4 किलोमीटर की सड़क पर धर्मस्थल समेत 20 फीसदी बाधाएं और हैं

चार हिस्सों में बन रही पूरी सड़क

जानें क्या है वर्तमान स्थिति, कितना काम होना है और कब तक होगा पूरा?

1. सरवटे बस स्टैंड से चंद्रभागा पुल

वर्तमान स्थिति : 50 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। सड़क भी बन गई। हाथीपाला से चंद्रभागा हिस्से में कुछ मामले कोर्ट में हैं। ये मामले इसी माह निपटने के आसार। इसके बाद इस हिस्से में सड़क बनेगी। सड़क निर्माण के लिए एजेंसी भी तय हो गई है।

यह काम होना है : सड़क, सभी सर्विसेस को अंडरग्राउंड करना।

कब तक बनेगी : 8 महीने में पूरा होगा काम।

2. चंद्रभागा पुल से मच्छी बाजार

वर्तमान स्थिति : पुल से नगर निगम के हरसिद्धि जोन कार्यालय होते हुए सड़क पंढरीनाथ मंदिर के पास जुड़ेगी। अभी जोन के पास की जमीन का सीमांकन होना है और कुछ बाधाएं हटना हैं। सड़क का काम शुरू होने में लगभग एक महीना और लगेगा।

यह काम होना है : आधी सड़क बनना है। बिजली, टेलीफोन, ड्रेनेज, स्टॉर्म वाटर लाइन समेत सभी सर्विसेस अंडरग्राउंड करना बाकी हैं।

कब तक बनेगी : एक साल में पूरा होगा काम।

3. मच्छी बाजार से दरगाह चौराहा

वर्तमान स्थिति : 7 दिन में मलबा हटने के साथ साइट क्लियर हो जाएगी। सोमवार की कार्रवाई के साथ ही इस हिस्से की 90 प्रतिशत बाधाएं हट चुकी हैं। नगर निगम के मुताबिक सभी बाधाएं हटते ही 15 दिन में इस हिस्से में काम शुरू हो जाएगा।

यह काम होना है : सड़क, सीवरेज, ड्रेनेज, सभी अंडरग्राउंड सर्विसेस।

कब तक बनेगी : एक साल में पूरा हो सकेगा इस हिस्से का काम।

4. दरगाह चौराहे से गंगवाल बस स्टैंड

वर्तमान स्थिति : इस हिस्से में बाधक निर्माण पूरी तरह से हट चुके हैं। सड़क और अंडरग्राउंड सर्विसेस पर भी काम शुरू हो गया है।

यह काम होना है : मैन कैरेज-वे, अंडर ग्राउंड सर्विसेस, लाइट और फुटपाथ का काम होना अभी बाकी है।

कब तक बनेगी : 9 महीने में पूरा होगा यह हिस्सा।

फोटो | ओपी सोनी

सुप्रीम कोर्ट का फैसला सड़क हित में, बाधाएं भी हटीं, अब समय पर काम पूरा करे निगम

सड़क चौड़ीकरण के खिलाफ साढ़े तीन सौ से ज्यादा रहवासी सुप्रीम कोर्ट भी गए, लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने सड़क के हित में फैसला दिया। दो बार में 200 से ज्यादा यानी 80 फीसदी बाधाएं भी हट चुकी हैं। अब नगर निगम के सामने यही चुनौती है कि वह जवाहर मार्ग का विकल्प समय पर बनाकर दे।

मंगलवार, 17 अप्रैल, 2018 | 2

Get the latest IPL 2018 News, check IPL 2018 Schedule, IPL Live Score & IPL Points Table. Like us on Facebook or follow us on Twitter for more IPL updates.
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Indore News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: 70 से ज्यादा निर्माण तोड़े, कुल 80% बाधाएं हटीं तोड़फोड़ पर हाई कोर्ट का स्टे, 19 को सुनवाई
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0
    ×